विज्ञापन

छह माह से बेकार है ग्रामीण अभियंत्रण सेवा

Badaun Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। ग्रामीण अभियंत्रण सेवा (आरईएस) के पास करीब छह माह से कोई काम नहीं है। विभाग ने अक्तूबर में ही वर्ष 2011-12 के काम पूरे कर लिए थे। उसके बाद विधानसभा चुनाव के दौरान सारे काम ठप हो गए। इधर, चुनाव बाद नई सरकार बनी लेकिन अभी तक नए काम शुरू करने संबंधित कोई निर्देश नहीं मिले हैं। ऐसे में आरईएस नई सरकार के नए रुख का इंतजार कर रही है। ऐसे में उसके पास काम कराने का अकाल पड़ा हुआ है।
विज्ञापन
आरईएस के पास अक्सर ग्राम पंचायतों में सीसी रोड, विधायक व सांसद निधि के कार्य होते हैं। वर्ष 2011-12 में आरईएस को जो काम कराने थे, उन्हें उसने अक्तूबर में खत्म कर दिए थे। विभाग ने इसके लिए तेजी इसलिए भी दिखाई, क्योंकि उसके बाद विधानसभा चुनाव होने थे। चुनाव की आचार संहिता के दौरान आरईएस ने कुछ अधूरे कामों को ही पूरा करा दिया। चुनाव बाद नई सरकार बनी, विभाग अब नए शासन के रुख को भांपने की कोशिश कर रहा है। हालांकि अभी तक आरईएस को सरकार से कोई निर्देश नहीं मिले हैं, इसलिए उसने प्रस्तावों के कोई इस्टीमेट भी तैयार नहीं किए जा रहे हैं। इन दिनों विभाग के पास कोई काम न होने से वह चैन की बंशी बजा रहा है। चिंता वाली बात यह है कि सरकार भले ही अभी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही, लेकिन इसमें जितना विलंब होगा, आगे वित्तीय साल के काम पूरा कराने में उतनी ही देर होगी।
तीन साल बाद फिर शुरू हो सकती है पीएमजीएसवाई
ग्रामीण इलाकों में सड़कों का जाल बिछाने के लिए बनाई गई प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) फिर से शुरू हो सकती है। करीब तीन साल से इस योजना के लिए कोई बजट जारी न होने से वह पूरी तरह ठप पड़ी हुई है। वर्ष 2009-10 में आरईएस ने करीब सौ करोड़ की इस्टीमेट वाली सड़कों के प्रस्ताव भेजे थे। सूत्र बताते हैं पीएमजीएसवाई के दोबारा शुरू होने की संभावना को देखते हुए आरईएस वर्ष 2009-10 के प्रस्ताव के इस्टीमेट को संशोधित करा रहा है।

आमतौर पर इन दिनों वित्तीय साल के लिए नए प्रस्ताव तैयार हो जाते हैं, लेकिन इस बार शासन के नए निर्देशों का इंतजार किया जा रहा है।
हसनैन अहमद, अधिशासी अभियंता, आरईएस

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

राफेल सौदे को लेकर निर्मला सीतारमण का UPA पर जबरदस्त हमला

राफेल डील को लेकर आरोपों पर जवाब देते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने UPA सरकार पर ही निशाना साधा है। रक्षा मंत्री ने ये भी साफ किया कि HAL राफेल डील में शामिल क्यों नहीं है। खुद सुनिए निर्मला सीतारमण ने इस मुद्दे पर क्या कहा।

18 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree