विज्ञापन
विज्ञापन

गंभीर चोट से हुई नितीश की मौत!

Badaun Updated Thu, 06 Nov 2014 05:30 AM IST

विज्ञापन
हाईडिल कॉलोनी के पास मिला था घायल हालत में
पोस्टमार्टम में डॉक्टरों को नहीं मिली सर में गोली
अमर उजाला ब्यूरो
बदायूं। नितीश शर्मा की मौत गोली लगने से नहीं बल्कि गंभीर चोट से हुई। नितीश गंभीर घायल हालत में मंगलवार देर रात आवास विकास के पास हाईडिल कॉलोनी के सामने मिला था। उनको इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। यहां हालत गंभीर होने पर उनको बरेली रेफर किया गया। बरेली ले जाते समय रास्ते में नितीश की मौत हो गई थी। नितीश के पिता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पुलिस ने मौके से एक बाइक और एक स्कूटी भी बरामद की है। बुधवार को नितीश के शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद उसे परिवार वालों के सुपुर्द कर दिया गया।
नलकूप कॉलोनी में रहने वाले नितीश शर्मा (27) पुत्र मंगलसेन शर्मा अपने एक रिश्तेदार के मेडिकल पर नौकरी करते थे। मंगलवार को वह मेडिकल के नौकर मोहित के साथ अपने घर पहुंचे थे। मोहित ने नितीश को हाईडिल कॉलोनी के बाहर छोड़ दिया था। यहां देर रात करीब दस बजे नितीश संदिग्ध हालात में घायल हो गया। इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां से नितीश को बरेली रेफर कर दिया गया। बरेली जाते समय रास्ते में नितीश की मौत हो गई। देर रात ही पुलिस ने घटना स्थल से एक बाइक और एक स्कूटी बरामद की थी। इधर, बुधवार को नितीश का पोस्टमार्टम कराया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट की मानें तो नितीश के सर पर तीन जगह गंभीर चोटों के निशान हैं। नितीश की आंख के नीचे, सर के लेफ्ट साइड और पीछे गंभीर चोटों के साथ शरीर पर भी खरोचों के निशान हैं।
00


प्राइवेट नौकरी के साथ एलएलबी कर रहा था नितीश
बदायूं। नलकूप विभाग के कर्मचारी संजय पाराशरी मृतक नितीश के बहनोई हैं। इन्हीं के न्यू पाराशरी मेडिकल स्टोर पर नौकरी करने के साथ नितीश एलएलबी भी कर रहे थे। मूल रूप से नितीश का परिवार बिनावर थाने के गांव भगवानपुर का रहने वाला है। नितीश तीन भाई हैं। उनके सबसे बड़े भाई अनिल शिक्षक हैं और दूसरे भाई प्रवेश प्राइवेट नौकरी करते हैं। नितीश की मौत से टूट चुके उनके पिता मंगलसेन की मानें तो नितीश ने कई सपने देखे थे। प्राइवेट नौकरी करने के साथ वह कानून का छात्र भी था। नितीश एलएलबी द्वितीय वर्ष के साथ थे। अचानक उनकी मौत से परिवार टूट सा गया है।
00


शराब की दुकान के स्टाफ को पता है पूरा राज
बदायूं। नितीश की मौत हादसा थी या उनकी हत्या की गई। यह बड़ा सवाल है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने पूरे मामले को उलझा दिया है। जो पुलिस अधिकारी पोस्टमार्टम से पहले तक कुछ भी बोलने से इंकार कर रहे थे शाम होते-होते वह भी इसे हादसा करार देने लगे। हालांकि नितीश के पिता की तहरीर पर सिविल लाइंस थाने में हत्या का मामला दर्ज किया गया है। घटना स्थल के आसपास रहने वाले लोगों की मानें तो उस वक्त सात-आठ फायर हुए थे।
गौर करने वाली बात यह है कि घटना स्थल के सामने ही शराब की दुकान है। उस वक्त यह खुली हुई थी। सामने ही एक खोखे पर भी काफी चहल-पहल भी थी। आसपास के लोगों की मानें तो घटना से पहले शराब की दुकान के पास एक झड़प भी हुई। यहां कुछ खाकी वाले भी शराब पी रहे थे।
00
वाह री! पोस्टमार्टम रिपोर्ट
बदायूं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नितीश की मौत की वजह गंभीर हेड इंजरी होना बताई गई है। हालांकि यह नहीं बताया गया है कि यह इंजरी किस तरह से हुई होगी। इतना ही नहीं नितीश के शरीर पर खरोचों के निशान होने की बात भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कही गई है जबकि घटना स्थल को देखकर ऐसा नहीं लगता कि नितीश किसी तरह से घायल होकर सड़क से रगड़ते हुए दूर तक गए होंगे। इतना ही नहीं नितीश जो पकड़े पहले थे वह भी सड़क से रगड़ने की वजह से फट जाने चाहिए थे। उनके यह कपड़े भी नहीं फटे।
विज्ञापन

Recommended

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने कैलाश विजयवर्गीय और हेमा मालिनी पर दिया बेतुका बयान

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने सड़कों के बहाने कैलाश विजयवर्गीय और भाजपा सांसद हेमा मालिनी को लेकर बेतुका बयान दिया है।

15 अक्टूबर 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree