किशोरों के लिए यह खतरा बढ़ा रहा है कैजुअल सेक्स

अमर उजाला, दिल्ली Updated Fri, 22 Nov 2013 05:51 PM IST
विज्ञापन
casual sex teenager depression suicide

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
हाल में हुए एक शोध में माना गया है कि किशोरों में कैजुअल सेक्स के प्रति बढ़ता रुझान उनके लिए गंभीर मानसिक रोगों की आशंका पैदा कर रहा है।
विज्ञापन

नियमित सेक्स का यह फायदा जानते हैं आप?
ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का मानना है कि कैजुअल सेक्स किशोरों को अवसाद और आत्महत्या की प्रवृत्ति की ओर धकेल रहा है।
पुरुषों की मर्दानगी घटा सकती हैं ये घरेलू चीजें

शोध के दौरान 10,000 किशोरों का अध्ययन किया गया है जिसमें पाया गया कि अवसाद की मनोदशा वाले अधिकतर किशोर कैजुअल सेक्स करते हैं। शोधकर्ताओं ने यह भी माना कि ऐसे किशोर में आगे चलकर आत्महत्या की आशंका अधिक हो जाती है।

ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी की प्रमुख शोधकर्ता डॉ. सारा सेंडबर्ग थोमा के अनुसार, ''अधिकतर शोधों में पाया गया है कि कैजुअल सेक्स और मानसिक स्वास्थ्य के बीच में संबंध है लेकिन यह अब तक पता नहीं चला है कि इसमें कौन सी समस्या का क्या करण है। इस शोध में यह पाया गया है कि कैजुअल सेक्स अवसाद का कारण हो सकता है।''

शोध में 80 अमेरिकन और 52 मिडिल स्कूल के सात से 12 वर्षीय बच्चों से लेकर 18 से 26 वर्षीय लोगों के निजी संबंधों और मानसिक स्वास्थ्य का अध्ययन किया गया है।

यह शोध जर्नल ऑफ सेक्स रिसर्च में प्रकाशित हुआ है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us