आपका शहर Close

'उसमें 10 साल की उम्र में सेक्स को लेकर उत्सुकता थी'

अमर उजाला, दिल्ली

Updated Tue, 23 Dec 2014 11:06 AM IST
the indian call girls by dr.promila kapoor
ये अंश भारत की जानी-मानी समाजशास्‍त्री और लेखिका डॉ. प्रोमिला कपूर द्वारा रचित उपन्यास 'कॉल गर्ल्स' से लिया गया है। 'कॉल गर्ल्स' समाज की वेश्याओं पर आधारित है। इसमें सभी प्रकार की अनेक कॉलगर्ल्स के लंबे इंटरव्यू लिए गए हैं जो आश्चर्यजनक तथ्यों को सामने लाते हैं।
देखिए, इस साल ये सेक्स टॉयज लुभाएंगे आपको

बचपन के यौन अनुभवों के बारे में बताते हुए वह बोली-''जब मैं आठ वर्ष की थी, एक बड़ी उम्र का दूर का रिश्तेदार जो हमारे साथ रहता था, उसने मुझे अपनी गोदी में बिठा लिया और अपना बदन मेरे बदन से रगड़ने लगा और मेरी छातियां उगने वाली जगह को सहलाता रहा।

पढ़िए, इन लड़कियों के ब्रेस्‍ट वरदान नहीं, अभिशाप हैं

उसने मेरी योनि में अपनी उंगली भी डाली और फिर कुछ देर बाद मुझे दो-चार पैसे दिए। उसने मुझसे कहस कि मैं उन पैसों से जो चाहूं, चारीद लूं पर किसी को बताऊं नहीं। मुझे याद है कि जब भी वह मुझे अपने पास बुलाता या मुझे पैसों की जरूरत होती तो मैंने उसके साथ जाना शुरू कर दिया।

देखिए, और पहचानिए कौन है ये? लड़का या लड़की

वह मेरे बदन को सहलाता, योनि से खेलता और मेरे कूल्हों से अपना लिंग रगड़ता और फिर मुझे कुछ पैसे देता था। मैं बुरा नहीं मानती थी क्योंकि पैसे मिलते थे।''

देखिए, पॉपुलर होने के लिए हसीना ने ये क्‍या कर डाला!

कुछ ठहर कर तारा बोली कि क्योंकि उनका घर बहुत छोटा था और वहां परिवार में रहने वाले कई सारे लोग थे इसीलिए एकान्त  मिलने की वजह से उसके माता-पिता को पति-पत्नी संबंधों का ज्यादा अवसर नहीं मिल पाता था। उसने याद करते हुए बताया कि किस प्रकार वह 10 या 11 साल की उम्र में ही बड़ी उत्सुकता के साथ सुनती थी। और आधी रात के अंधेरे में देखा करती थी जब थोड़ी सी दूरी पर उसके माता-पिता संभोग करने में लगे होते थे।

देखिए, इस हसीना को भाती हैं मूंछें

उसे घर पर सेक्स के बारे में कुछ भी बताया नहीं गया था पर उसमें सेक्स के बारे में जानने की उत्सुकता जाग चुकी थी, इसीलिए वह अपनी सहेलियों से पूछती रहती। उसने स्वीकार किया कि ग्यारह या बारह वर्ष की आयु से ही उसने सेक्स की उत्तेजना या लालसा महसूस करनी शुरू कर दी थी और वह या तो हस्तमैथ्‍ज्ञुन करती या अपनी साथिनों के साथ ही कुछ छेड़छाड़ करती थी जिसमें उसे बहुत मजा आतता था।

देखिए, इन लड़कियों के 'ब्रेस्‍ट' सोशल मीडिया पर हुए पॉपुलर

अपनी किशोरावस्‍था का एक और अनुभव तारा को याद था उसने ऐसे बयान दियाः 'मुझे अच्छी तरह याद है कि हमारे बाहर आने-जाने के मामले में मेरे पिता और दादी बहुत सख्त और पक्के थे। यह ठीक है कि हमें स्कूल जाने की इजाज थी पर उसके अलावा अगर कहीं जाना हो तो हमें मां, पिता या दादी के साथ ही जाना पड़ता था।

देखिए, मोटापे के बाद भी खूब पॉपुलर हैं ये हॉट लड़कियां

और ऐसा कभी-कभार ही होता था कि हमारी दादी हमें रिश्तेदारों के यहां ले जाती थी। और मां भी बहुत ही कम हमें कभी बाहर या सिनेमा आदि ले जाती थी। उसमें वैसे भी इतने बच्‍चों की देखभाल करने या उनकी चलाने की बिसात न थी। हालांकि मेरी बड़ी बहनों को इन पाबन्दियों पर कोई शिकायत न थी पर मुझे बहुत बुरा लगता और अक्सर मैं, मां और दादी झगड़ पड़ती और कहतीं कि वह बहुत दकियानूसी विचारों की हैं।''

पढ़िए, शादी से पहले ये काम जरूर करती हैं लड़कियां
Comments

स्पॉटलाइट

PHOTOS: शादी पर खर्चे थे 100 करोड़ सोचिए रिसेप्‍शन कैसा होगा, पूरा कार्ड देखकर लग जाएगा अंदाजा

  • गुरुवार, 14 दिसंबर 2017
  • +

अनुष्‍का की शादी में मेहमानों पर 'विराट' खर्च, दिया कीमती गिफ्ट, वेडिंग प्लानर ने खोले कई और राज

  • गुरुवार, 14 दिसंबर 2017
  • +

Bigg Boss 11: बिकिनी पहन प्रियांक ने की ऐसी हरकत, भड़के विकास ने नेशनल टीवी पर किया बेइज्जत

  • गुरुवार, 14 दिसंबर 2017
  • +

विदेश जाकर टूट गया था 'आवारा' राजकपूर का दिल, करने लगे थे भारत लौटने की जिद

  • गुरुवार, 14 दिसंबर 2017
  • +

B'day Spl : पहली ही फिल्म में राज कपूर को पड़ा था जोरदार चांटा, जानिए क्यों?

  • गुरुवार, 14 दिसंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!