विज्ञापन

जानिए, महिला के साथ क्या क्या करने से उसे महसूस होता है ऑर्गैस्म

टीम डिजिटल/ अमर उजाला, दिल्ली Updated Sun, 06 Mar 2016 04:55 PM IST
Revealed — vaginal, clitoral orgasms not real
विज्ञापन
ख़बर सुनें
महिलाओं की सेक्स लाइफ किसी ना किसी कारणवश हमेशा चर्चा में रहती है। महिलाओं की सेक्स लाइफ अक्सर जी स्पॉट, क्लूटोरल और वैजाइनल ऑर्गेज्म जैसी चीजों को लेकर भी चर्चा में रहती है।
विज्ञापन
लेकिन अब एक रिसर्च में ये बात साफ हो गई है कि इन शब्दों में कोई सच्चाई नहीं है। यानी जीस्पॉट, वैजाइनल और क्लूटोरियल ऑर्गेज्म जैसी कोई चीज है ही नहीं।

कुछ समय पहले ही इस बात पर विश्वास किया जाने लगा था कि महिलाओं को बेहतर ऑर्गेज्म के लिए पुरुष का लिंग ही काफी नहीं है बल्कि जीस्पॉट और क्लूटोरिस से भी उत्तेजित तक चरमआनंद दिया जा सकता है।

द हेल्‍थ साइट पर प्रकाशित खबर के मुताबिक, ये रिपोर्ट क्लीनिकल एनॉटमी जनरल में छपी है। रिपोर्ट में कहा गया कि वैजाइनल और क्लूटोरल ऑर्गेज्म की जगह फीमेल ऑर्गेज्म ज्यादा बेहतर कॉन्सेप्ट है।

इटली के सेक्सोलोजिस्ट और रिसर्च के प्रमुख सहयोगी विंसेंजो पुपो ने कहा कि हर महिला को चरमआनंद आ सकता है यदि उसके उत्तेजित करने वाले अंगों को सही तरीके से उत्तेजित किया जाए।

वे आगे कहते हैं कि ये भी सच है कि अधिकत्तर महिलाओं को सेक्सुअल इंटरकोर्स के दौरान ऑर्गेज्म नहीं होता। रिसर्च में ये भी पाया गया कि महिलाओं को सेक्सुअल डिस्फंशन की समस्या इसलिए आती है क्योंकि इसका कारण क्लूटोरिस का साइज छोटा होना या फिर वैजाइना और क्लूटोरिस के बीच की दूरी हो सकता है।

रिसर्च में ये बात सामने आई कि महिलाओं को किस करके को छुअन से पुरुषों के स्‍खलन के बाद भी चार्ज रखा जा सकता है और देर तक उत्तेजित करते हुए महिलाओं को चरमोत्कर्ष तक ले जाया जा सकता है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

मंगलवार को इस शुभ योग में करें कोई भी काम, नहीं आएगी अड़चन

मंगलवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग मंगलवार 25 सितंबर 2018।

24 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree