आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

कहां है मलाला का हमलावर?

बीबीसी हिंदी/ऐन्ड्र्यू नॉर्थ/काबुल

Updated Sat, 20 Oct 2012 08:33 PM IST
where is mlala attacker
पाकिस्तान और अफगानिस्तान की सरकारों पर मलाला युसुफजई के हमलावरों को गिरफ्तार करने का काफी दबाव है। गौरतलब है कि मलाला पर तालेबान के हमले को एक हफ्ता हो चला है। पाकिस्तान की सरकार के मुताबिक तालिबान के जिस गुट ने हमले के लिए जिम्मेदारी ली है, उसके नेता मुल्ला फजलुल्लाह अफगान सीमा के निकट पहाड़ी इलाकों में छिपे हैं। पाकिस्तान ने अफगानिस्तान से मांग की है कि फजलुल्लाह को उसे सौंप दिया जाए।
पाकिस्तानी सेनाएं कई महीनों से फजलुल्लाह के लड़ाकों की तलाश में अफगान सीमा पर स्थित गांवों पर गोलाबारी कर रही हैं। पाकिस्तान फजलुल्लाह के लड़ाकों पर सीमा-पार हमले करने का आरोप लगाता है। हमले की एक घटना में फजलुल्लाह के चरपंथियों ने 17 पाकिस्तानी पुलिसकर्मियों का सर धड़ से अलग कर दिया था।

ऐसा संदेह है कि स्वात में तालिबान धड़े के नेता फजलुल्लाह के खिलाफ पाकिस्तान कार्रवाई करने से इसलिए कतरा रहा है क्योंकि इसका असर अफगानिस्तान से उसके संबंधों पड़ेगा। ऐसी भी खबरें हैं कि अफगानिस्तान फजलुल्लाह को सौदेबाजी के लिए इस्तेमाल कर रहा है।

आधिकारिक तौर पर अफगानिस्तान इंकार करता है कि मुल्ला रेडियो के नाम से मशहूर ये व्यक्ति उसकी जमीन पर मौजूद नहीं है। लेकिन निजी तौर पर कुछ और ही बात सामने आती है। एक अफगान सुरक्षा सूत्र ने बताया कि फजलुल्लाह के नूरिस्तान और कुनार प्रांत के कमदेश या छपरा डारा जिलों में होने की रिपोर्टे हैं। लेकिन सूत्र ने इस बात से इंकार किया कि अफगान गुप्तचर एजेंसी एनडीएस तालिबान नेता की मदद कर रही है।

फजलुल्लाह के खिलाफ कार्रवाई
ये पूछे जाने पर कि क्या फजलुल्लाह के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है, सूत्र ने कहा कि फजलुल्लाह अफगान सुरक्षाकर्मियों पर हमला नहीं करते हैं और अगर वो कुनार औऱ नूरिस्तान के पहा़ड़ों में छिपे हैं तो वो छिपने की सबसे अच्छी जगह है। ये इलाके दशकों से चरमपंथियों के छिपने की जगह रहे हैं। अस्सी के दशक में सोवियत सेनाओं से युद्ध करने वाले अफगान मुजाहिद्दीन भी छिपने के लिए इन्हीं इलाकों का रुख करते थे।

सालों कोशिशें करने के बाद भी ये दो प्रांत अमरीकी और अफगान सेनाओं के प्रभाव से बाहर रहे हैं। गौरतलब है कि दो सालों में नेटो सेनाएं अफगानिस्तान को छोड़ देंगी। दर्जनों सैनिकों के मारे जाने के बाद सो साल पहले अमरीका ने इस इलाके में अपनी छावनियों को बंद कर दिया था।

नेटो महासचिव के साथ एक प्रेसवार्ता से जब अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजाई से मुल्ला फजलुल्लाह को लेकर पाकिस्तानी दावों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कोई सीधा जवाब नहीं दिया। हामिद करजाई ने उम्मीद जताई कि क्लिक करें मलाला की घटना से पाकिस्तान को समझाने में मदद मिलेगी कि किसी के खिलाफ चरमपंथ का इस्तेमाल करना सही नहीं है।

राष्ट्रपति के एक सहयोगी ने कहा कि अफगानिस्तान के पास फजलुल्लाह का इस्तेमाल करने की ताकत नहीं है और अमरीका को फजलुल्लाह के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए क्योंकि उनके पास तकनीक है।
  • कैसा लगा
Comments

स्पॉटलाइट

भारी भरकम लहंगों में नहीं अब इन ड्रेसेज के साथ खेलें डांडिया..

  • मंगलवार, 26 सितंबर 2017
  • +

पत्नी ने पति को थमाई सब्जियों की ये लिस्ट, इस वजह से हो रही है वायरल

  • मंगलवार, 26 सितंबर 2017
  • +

'बाहुबली' पर भारी पड़ गया ये 'मुंगेरीलाल', नेपाली लड़की से शादी के बाद जिंदगी हो गई थी नर्क

  • मंगलवार, 26 सितंबर 2017
  • +

दोस्तों की ये 5 आदतें आपको कर सकती हैं परेशान, बच कर रहें

  • मंगलवार, 26 सितंबर 2017
  • +

होटल में जाकर लोग करते हैं ये 5 काम, बताने में आती है शर्म

  • मंगलवार, 26 सितंबर 2017
  • +

Most Read

उत्तर कोरिया ने कहा- अमेरिका ने किया युद्ध का ऐलान, उड़ा देंगे यूएस बॉम्बर

North korea threatens US President Donald Trump of declaring war
  • सोमवार, 25 सितंबर 2017
  • +

अबू धाबी: दुनिया की सबसे वजनी महिला एमन अहमद की मौत

Worlds heaviest woman Eman Ahmed passes away in Abu Dhabi
  • सोमवार, 25 सितंबर 2017
  • +

UN में अब अफगानिस्तान ने भी पाकिस्तान को कहा 'टेरर स्टेट'

in united nation Afghan foreign minister Salahuddin Rabbani said pakistan is a terror state
  • मंगलवार, 26 सितंबर 2017
  • +

म्यांमार: 28 हिंदुओं की कब्र मिली, रोहिंग्या मुस्लिमों पर हत्या का आरोप

 Myanmar Army Says WE FOUND Grave Of 28 Hindus Killed By Rohingya Militants
  • सोमवार, 25 सितंबर 2017
  • +

अफगानिस्तान: 'टेररिस्तान' के खिलाफ भड़के लोग, पाक झंडे को पैरों तले रौंदा

In Afghanistan locals removed Pakistan flags and their structures from Durand line
  • मंगलवार, 26 सितंबर 2017
  • +

आंग सू की ने दलाई लामा को दिया जवाब, हमारे लिए हिंदू-मुस्लिम और रखाइन्स में अंतर नहीं

Suu Kyi said, making no distinction between Muslims or Hindus or Rakhine
  • बुधवार, 20 सितंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!