आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

फिलिस्तीन यूएन कमिटी से मस्जिदों को विरासत स्थल घोषित करने की करेगा डिमांड

amarujala.com- Presented: अभिषेक तिवारी

Updated Tue, 20 Jun 2017 03:13 PM IST
Palestine Demand to declare mosques as heritage sites from UN Committee

UN CommitteePC: social media

फिलिस्तीन नेशनल अथॉरिटी (पीएनए) ने यूनिस्को वर्ल्ड हेरिटेज कमेटी से अल इब्राहिमी मस्जिद और शहर की पुरानी हेब्रोन को अंतरराष्ट्रीय विरासत स्थल के रूप में घोषित करने के लिए डिमांड करेगा। खबर के मुताबिक फिलिस्तीन ने ऐसा इसलिए कहा है क्योंकि इससे इजरायल पर फिलिस्तीन नियंत्रण क्षेत्र को ट्रांसफर करने के लिए भारी दबाव डाला जा सकेगा। यह इजरायली-फिलिस्तीनी के बीच संघर्ष के लिए भी एक कड़ी माना जा रहा है।
फिलिस्तीन नेशनल अथॉरिटी ने 1 जुलाई को होने वाली को क्राको, पोलैंड में संयुक्त राष्ट्र समिति (यूएन कमिटी) की वार्षिक बैठक में इस मुद्दे को उठाने लिए तय किया है। अल इब्राहिनी मस्जिद के प्रमुख हफ्जी अबू स्नेनहै ने ऐसी भविष्यवाणी की है कि यह कदम फिलिस्तीन को अंतरराष्ट्रीय एजेंडे में सबसे आगे ले जा सकता है।

पीएनए योजनाओं को तेजी से ट्रैक करने के लिए यूनेस्को नियमों में एक खंड का लाभ लेने की योजना बना रहा है। अबू स्नेनहा का कहना है कि मस्जिद और हेब्रोन इजरायली कब्जे वाले बल द्वारा विनाश का सामना कर रहा है। वह मस्जिदों का अधिग्रहण करने और शहर पर कब्जा जमाने के लिए व्यवस्थित योजनाओं को लागू कर रहा है। मामले में उन्होंने कहा कि अल इब्राहिनी मस्जिद पूरी तरह से मुस्लिमों की प्रापर्टी है इसलिए इस पर फिलिस्तीनी मुस्लिम कंट्रोल होना चाहिए। 

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक-वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन की विरासत समिति में फिनलैंड, पोलैंड, पुर्तगाल, क्रोएशिया, तुर्की, अजरबैजान, इंडोनेशिया, फिलीपींस, कोरिया, वियतनाम, कजाकिस्तान, ट्यूनीशिया, कुवैत, लेबनान, बुर्किना फासो, जिम्बाब्वे, अंगोला और तंजानिया सहित 21 सदस्य देश हैं। इजराइली यूनेट न्यूज साइट के अनुसार, समिति की रचना इजरायल के लिए नुकसानदायक है। विरासत स्थल घोषित करने के कदम का मुकाबला करने के लिए इजरायल को अपने पक्ष में कम से कम एक-तिहाई मतदान करने वाले देशों को जुटाना होगा। हालांकि इसे एक असंभव कार्य के रूप में देखा जा रहा है।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

अगर आप हैं ऑयली स्किन से परेशान तो जरूर आपनाएं ये घरेलू उपाय

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

54 वर्ष की उम्र में भी झलक रही है श्रीदेवी की खूबसूरती, देखें तस्वीरें

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

संगीत है हर मर्ज की दवा, STRESS दूर करने के लिए आजमाएं 'म्यूजिक थैरेपी'

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

अब ऑफिस में बैठ कर कम होगा वजन, खाएं ये खास फूड

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

अपने जमाने में खूब हिट रहे थे ये चाइल्ड आर्टिस्ट, अब दिखते हैं ऐसे

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

Most Read

16 साल बाद बिल गेट्स ने एक बार फिर किया सबसे बड़ा दान

Bill Gates Makes Largest Donation of microsoft Since 2000
  • बुधवार, 16 अगस्त 2017
  • +

'पूरी दुनिया भुगतेगी डोकलाम के गंभीर परिणाम'

china-india playing dangerous game on Doklam says Bruce Riedel
  • बुधवार, 9 अगस्त 2017
  • +

श्रीलंका ने चीन को बेची हंबनटोटा पोर्ट की 70 फीसदी हिस्सेदारी, भारत की बढे़ंगी मुश्किलें

Sri Lanka’s government signed agreement to sell a 70% stake Hambantota port deal to China 
  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

दुनिया का सबसे लंबा झूलता हुआ पुल

World's longest flutter bridge
  • रविवार, 30 जुलाई 2017
  • +

तीन इसराइली नागरिकों की चाकू मारकर हत्या

Three Israeli civilians stabbed to death
  • रविवार, 23 जुलाई 2017
  • +

लक्जरी कार चुरा के ले जा रहे थे गधे !

With the help of donkeys luxury cars theft in South Africa
  • गुरुवार, 3 अगस्त 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!