आपका शहर Close

किताब जिसने सोवियत संघ को हिला दिया

Avanish Pathak

Avanish Pathak

Updated Sun, 25 Nov 2012 05:33 PM IST
 A book that shook the Soviet Union
पूर्व सोवियत संघ के साम्यवादी शासकों के कारनामों को दुनिया के सामने लाने वाली पुस्तक ’वन डे इन द लाइफ़ ऑफ़ इवान डेनिसोविच’ को प्रकाशित हुए 50 साल हो गए हैं। लेखक अलेक्जेंडर सोलज़ेनित्सिन की ये पुस्तक इसी महीने अपनी गोल्डेन जुबली मना रही है।
‘वन डे’ का प्रकाशन नवंबर 1962 में हुआ था और किताब के छपते ही तत्कालीन सोवियत संघ में त्राहि मच गई थी। यही वो पुस्तक थी जिसने जोसफ़ स्तालिन का असली चेहरा पूरे विश्व के सामने लाया और साम्यवादी शासन के क्रूर कारनामों को जगजाहिर किया।

इस पुस्तक में सोवियत संघ के लेबर कैंप ‘गुलाग’ के कैदियों की वो कहानी बयां की गई थी जिसे दुनिया ने पहली बार सुना और जाना। सोलज़ेनित्सिन के हीरो थे इवान डेनिसोविच शुखोव जो गुलाग के एक क़ैदी थे और लेखक ने कैंप में रहने वाले हज़ारों कै़दियों की व्यथा कथा इसी पात्र के माध्यम से रची थी।

गुलाग मे लगभग दो दशकों के दौरान तक़रीबन डेढ़ करोड़ लोग क़ैद किए गए थे जिसमें 16 लाख मौत का शिकार हो गए थे। हालांकि सोलज़ेनित्सिन की पुस्तक का ये पात्र काल्पनिक था लेकिन इसके बावजूद लोगों ने उसके किरदार और उसके माध्यम से व्यक्त की गई भावनाओं को बेहद पसंद किया।

जिन लोगों ने भी सोलज़ेनित्सिन को पसंद किया वो भी जोसेफ स्तालिन के आतंक से बच नहीं पाए और उन्हें गुलाग भेज दिया गया। सोलज़ेनित्सिन की रचना को याद करते हुए लेखक और पत्रकार विताली कोरोटिक कहते हैं, “ये वो वक्त था जब हम सूचना से बिल्कुल कटे हुए थें, और उन्होंने (सोलज़ेनित्सिन) हमारी आंखे खोलने की कोशिश शुरू की थी।”

वो कहते हैं, “इस पुस्तक को बार-बार पढ़ा, गुलाग का जीवन ऐसा था जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। उस वक्त लेखकों की कमी नहीं थी लेकिन सोलज़ेनित्सिन जैसा हिम्मतवाला लेखक पहले नहीं देखा था।”

किताब से क्रांति
स्तालिन की मौत के एक दशक बाद पूर्व सोवियत नेता निकिता ख्रुसचेव ने इस पुस्तक को छापने का फैसला किया। हालांकि पुस्तक के प्रकाशन के साथ ही निकिता को उनके पद से हाथ धोना पड़ा। साथ ही साल 1974 में सोलझेनित्सिन को हिरासत में ले लिया गया।

लेकिन किताब को जो आग लगानी थी वो आग लग चुकी थी और स्तालिन के कारनामों की चर्चा भी शुरू हो चुकी थी। इसके बावजूद साम्यवादी इस प्रभाव को किसी भी तरह खत्म करना चाहते थे। लेकिन ऐसा हुआ नहीं, साम्यवादी सोवियत संघ को नहीं बचा पाए।

मॉस्को के बाहर के इलाक़े में मुझे किसी ने कई कब्रें दिखाईं, तक़रीबन 13। ये बुतोवो फ़ायरिंग रेंज का हिस्सा थीं। इस इलाक़े के बारे में क़रीब आधी सदी तक किसी को मालूम नहीं था। उन्नीस सौ तीस के दशक में यहां 20,000 से अधिक कैदी लाए गए जिन्हें खड़ा कर स्तालिन के सैनिक गोलियों से भून देते थे।

रूस कल और आज
रूस के इतिहास को क़रीब से जानने वाले कहते हैं कि सबको सच पता है लेकिन लोग भूलने की कोशिश में लगे हुए हैं। मॉस्को के एक स्कूल में जहां ‘वन डे’ किताब कोर्स का हिस्सा है वहां के 21 में से सिर्फ तीन बच्चों ने इसे पढ़ा है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या ये बच्चे स्तालिन को जानते होंगे? एक बच्चे का जवाब है पता नहीं मैं उसे पसंद करता हूं या नापसंद। लेकिन कुछ दूसरे छात्र ये मानते हैं कि स्तालिन पर बात करने का मतलब पुराने इतिहास को फिर से खंगालना।

‘वन डे’ और सोलज़ेनित्सिन
"ये वो वक्त था जब हम सूचना से बिल्कुल कटे हुए थे, और उन्होंने (सोलझेनित्सिन) हमारी आंखे खोलने की कोशिश शुरू की थी।"
-विताली कोरोटिक, पत्रकार एवं लेखक
Comments

स्पॉटलाइट

दिवाली पर पटाखे छोड़ने के बाद हाथों को धोना न भूलें, हो सकते हैं गंभीर रोग

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

इस एक्ट्रेस के प्यार को ठुकरा दिया सनी देओल ने, लंदन में छुपाकर रखी पत्नी

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

...जब बर्थडे पर फटेहाल दिखे थे बॉबी देओल तो सनी ने जबरन कटवाया था केक

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

'ये हाथ नहीं हथौड़ा है': सनी देओल के दमदार डायलॉग्स, जो आज भी हैं जुबां पर

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

मां लक्ष्मी को करना है प्रसन्न तो आज रात इन 5 जगहों पर जरूर जलाएंं दीपक

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

Most Read

ट्रंप ने उकसाया तो अमेरिका पर कर देंगे मिसाइलों की बौछार: उत्तर कोरिया

If Trump provoked then missiles will show up on America says north korea
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017
  • +

डोकलाम विवाद के बाद जंग की नई जमीन, श्रीलंका में चीन को चुनौती देगा भारत

After Doklam, Sri Lankan airport is the new battlefront for India-China
  • शनिवार, 14 अक्टूबर 2017
  • +

अमेरिका को नॉर्थ कोरिया की चेतावनी, 'हमसे लड़ना मतलब आग से खेलना'

north korea said, Trump has lit the wick of war
  • गुरुवार, 12 अक्टूबर 2017
  • +

डोकलाम में PLA की मौजूदगी के बाद भूटान ने चीन से की बात

Bhutan talks to China on PLA activity in Doklam
  • शनिवार, 14 अक्टूबर 2017
  • +

तालिबान के चंगुल से छूटा कनाडाई बोला- हुआ बेटी का कत्ल और बीवी से रेप

Kidnapped Canadian Boyle said, My wife was raped, child killed
  • शनिवार, 14 अक्टूबर 2017
  • +

उत्तर कोरिया का परमाणु टेस्ट के बाद चार भूकंप झटके

Four earthquake shocks after North Korea's nuclear test
  • शनिवार, 14 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!