आपका शहर Close

मुशर्रफ़ ने उठाए आईएसआई पर गंभीर सवाल

Avanish Pathak

Avanish Pathak

Updated Wed, 14 Nov 2012 04:23 PM IST
musharraf raised serious questions on ISI
पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने कहा है कि उन्होंने सेना प्रमुख रहते हुए ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई की राजनीतिक सेल को खत्म करने और खुफिया एजेंसियों को राजनीति से दूर करने को कहा था।
दुबई में बीबीसी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि उस समय आईएसआई के प्रमुख रहे लेफ्टिनेंट जनरल अश्फाक परवेज कियानी को इस बारे में लिखित आदेश तो नहीं दिया था लेकिन ये जरूर कहा था कि उनकी संस्था को राजनीति में हस्तक्षेप बंद करना चाहिए।

उन्होंने कहा, 'इसके लिए बाकायदा आदेश तो नहीं दिया गया था लेकिन हमने सोचा था कि राजनीति में आईएसआई वाले बिल्कुल हस्तक्षेप न करें।'

मुशर्रफ कहते हैं कि यही वजह थी कि 2008 के चुनावों में किसी तरह की दखलंदाजी या धांधली नहीं की गई और न ही ऐसी कोई शिकायत सामने आई।

ड्रोन पर मुशर्रफ़

पाकिस्तान में होने वाले ड्रोन हमलों के बारे में उन्होंने कहा कि उनके सत्ता में रहते हुए अमरीका से इस बारे में कोई लिखित या मौखिक समझौता नहीं हुआ था।

उन्होंने कहा, 'मेरे राष्ट्रपति बुश और विदेश मंत्री कॉलिन पॉवेल से संपर्क थे और अगर कोई हमला होता था तो मैं उन्हें टेलीफोन कर सकता था और करता भी था और कड़ा विरोध भी करता था क्योंकि मेरा उनके साथ संपर्क था। लेकिन अब मेरे ख्याल से संपर्कों की कमी है जिसकी वजह से वो दनदनाते फिर रहे हैं और मारे जा रहे हैं।'

पूर्व राष्ट्रपति बुश के कार्यकाल में मुशर्रफ 'आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई' में अमरीका के अहम सहयोगी थे, जबकि इस वक्त पाकिस्तान और अमरीका के संबंध बेहद खराब हैं।

मुशर्रफ ने कहा कि ड्रोन हमलों में चरमपंथियों को निशाना बनाया जाता और वो उनमें मारे भी जाते हैं। उनके अनुसार ड्रोन हमले देखभाल कर किए जाते हैं, लेकिन इनकी वजह से जो आसपास के लोग मारे जाते हैं उससे समस्या पैदा होती हैं।

पूर्व राष्ट्रपति का कहना है कि इस तरह के नुकसान को बहुत ही बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जाता है।

'पाकिस्तान लौटेंगे'

मुशर्रफ ने कहा कि उन्होंने इस साल जनवरी में पाकिस्तान लौटने का अपना इरादा देश में जारी हालात के कारण टाला था, लेकिन एक बार अंतरिम सरकार आ जाए और चुनावी प्रक्रिया का ढांचा नजर आए तो फिर वो इस बारे में फैसला करेंगे।

2008 में सत्ता छोड़ने के बाद से मुशर्रफ निर्वासित जीवन बिता रहे हैं।

पाकिस्तान में पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या और एक सैन्य अभियान में बलोच नेता अकबर खान बुगटी की मौत के सिलसिले में उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किए जा चुके हैं।

मुशर्रफ का कहना है कि वो वापस पाकिस्तान जरूर जाएंगे और आने वाले आम चुनावों में हिस्सा भी लेंगे।

"इसके लिए बाकायदा आदेश तो नहीं दिया गया था लेकिन हमने सोचा था कि राजनीति में आईएसआई वाले बिल्कुल हस्तक्षेप न करें।"

परवेज मुशर्रफ, पूर्व राष्ट्रपति, पाकिस्तान

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Comments

स्पॉटलाइट

Bigg Boss 11: बंदगी के ऑडिशन का वीडियो लीक, खोल दिये थे लड़कों से जुड़े पर्सनल सीक्रेट

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

सुष्मिता सेन के मिस यूनिवर्स बनते ही बदला था सपना चौधरी का नाम, मां का खुलासा

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

'दीपिका पादुकोण आज जो भी हैं, इस एक्टर की वजह से हैं'

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

B'Day Spl: 20 साल की सुष्मिता सेन के प्यार में सुसाइड करने चला था ये डायरेक्टर

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

RBI ने निकाली 526 पदों के लिए नियुक्तियां, 7 दिसंबर तक करें आवेदन

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

Most Read

भारत के खिलाफ झूठ फैलाने की पाक ने चुकाई कीमत, ट्विटर ने अकाउंट किया सस्पेंड

Pakistan official Defence Twitter account suspended tweeting fake photo of DU activist
  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

पाकिस्तान के खिलाफ गिलगित-बाल्टिस्तान में जोरदार प्रदर्शन, सड़कों पर उतरे सैकड़ों लोग

Massive anti-Pakistan protests across Gilgit Baltistan against illegal taxation
  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +

पाक का दावा- CPEC को नाकाम करने के लिए भारत ने बनाया 50 करोड़ डॉलर का प्लान

Pakistan said India made special cell for 500 Million dollar to thwart CPEC project
  • बुधवार, 15 नवंबर 2017
  • +

OBOR को लेकर चीन-पाक में दिखने लगी दरार, पाकिस्तान ने किया फंड लेने से इंकार

differences between china and Pakistan on OBORs diamer bhasha dam project
  • गुरुवार, 16 नवंबर 2017
  • +

बिंदी देखते ही पाक में हिंदू लड़कियों का हो जाता बहिष्कार, दो लड़कियों ने बयां किया दर्द

Discrimination with Hindu girls in Pakistan
  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

भारत-पाक पर बातचीत शुरू करने के लिए दबाव डाल रहा अमेरिका : रिपोर्ट

US pressures to start talks on India-Pakistan: Report
  • सोमवार, 13 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!