आपका शहर Close

मॉस्को के 'मिनी मार्केट' की वो ग़ुलाम महिला

Avanish Pathak

Avanish Pathak

Updated Fri, 16 Nov 2012 03:46 PM IST
slave women of moscow's mini market'
मानव तस्करी की एक हैरतअंगेज घटना रूस की राजधानी मॉस्को में सामने आई है।
एक महिला ने बताया कि उसे पिछले 10 सालों से कैद कर रखा गया है। यहां उसने तीन बच्चों को जन्म दिए। इस शहर में किस तरह की पीड़ा से गुजरती रही लेयला एशेरोवा- ये जानना और भी पीड़ा दायक है।

मानव तस्करी रोकने वाले कार्यकर्ताओं ने दो सप्ताह पहले मॉस्को से इस तरह के 11 लोगों को रिहा कराया है जिन्होंने ना जाने कितने वर्षों से सूर्य की एक किरण नहीं देखी और ना जाने कौन-कौन सी पीड़ा झेली है।

उज्बेक़िस्तान और क़ज़ाक़िस्तान से नौकरी का झांसा देकर लाई गई महिलाओं ने जब अब अपने दुख बयां किए तो कलेजा फट गया। इन्हीं में से एक लेयला एशेरोवा हैं, जिनका दर्द अब आंखों से नहीं छलकता बस सपाट भाषा में पीड़ा को कहानी की तरह कहती चली जाती है।

एशेरोवा, पिछले 10 वर्षों से मॉस्को के ‘मिनी मार्केट’ में कैद थीं। वो कहती हैं कि उन्हें 10 वर्ष पहले उज्बेकिस्तान से काम के लिए लाया गया था लेकिन मॉस्को आते ही उनका पासपोर्ट छीन लिया गया।

दुकान में काम करने के लिए रखा गया लेकिन बहुत जल्द उसे पता लग गया कि वो एक ‘दुकान’ में काम कर रही है जहां उसे ‘सबकुछ’ बेचना है। मना करने की कीमत वो मार थी जिसे आज भी उनके चेहरे और उनके पैरों पर देखा जा सकता है।

इस ‘दुकान’ ने उन्हें वेतन के नाम पर तीन बच्चे दिए हैं, एक जिसने कभी धूप नहीं देखी, दूसरी जो लड़की थी वो ना जाने कहां है और तीसरा खुद भी कैद का मतलब समझने लगा है।

एशेरोवा ‘बलात्कार’ शब्द का इस्तेमाल नहीं करती लेकिन उन्हें पता है कि उनके बच्चे का पिता उसी दुकानदार का रिश्तेदार था।

हालांकि एशेरोवा को ये बात मॉस्को में दस्तक देते ही समझ आ गई थी, जब उनके सामने ही एक लड़की को बाल खींच कर मारा जा रहा था।

एशेरोवा कहती है, मेरे यहां आते ही पासपोर्ट छीन लिया गया, मैंने देखा एक लड़की के बाल खींच कर उसे गंदे तरीके से मारा जा रहा था। मुझे समझ आ गया था कि मैं गलत जगह पहुंच गई हूं।

पुलिस की मिलीभगत
लेकिन एशेरोवा से जब ये पूछा गया कि वो पुलिस के पास क्यों नहीं गई। वो कहती है स्थानीय पुलिसकर्मी को ये दुकानदार पैसे देते हैं और पुलिस भागने के बाद वापस इन्हें लाकर सौंप देते हैं।

भागने और पुलिस को बताने की सज़ा की कल्पना करना भी कठिन है। एशेरोवा कहती है, “मैं भावशून्य हो चुकी हूं, मेरे भीतर की घबराहट जा चुकी है। मैं सिर्फ इतना सोचती हूं कि मैं कुछ करके उस दुकानदार महिला को सज़ा दिला सकूं जिसकी वजह से मेरी ये हालत हुई।”

एशेरोवा ने कैद में तीन बच्चों को जन्म दिया है उसमें से एक बेटा छह साल का है उसे भी छुड़ा लिया गया है जिसका नाम बायखर है। बायखर को दो और छोटे बच्चों के साथ एक कमरे में कैद कर दिया गया था।

हालांकि एशेरोवा को ये पता नहीं था कि मॉस्को के जिस घर में उसे मुक्त करा कर रखा गया है उसके ठीक बगल में उनका बेटा भी है और अब वो कंप्यूटर पर ‘गेम’ खेल रहा है। एक मां के लिए इससे अच्छी ख़बर क्या हो सकती है!

एशेरोवा ने फ्रांस की जांच कमिटी को पूरी बात बताई है। रूस में ये जांच कमिटी 'एफबीआई' की तरह है।

'दुकान' में कैद जिंदगी

"मैं भावशून्य हो चुकी हूं, मेरे भीतर की घबराहट जा चुकी है। मैं सिर्फ इतना सोचती हूं कि मैं कुछ करके उस दुकानदार महिला को सज़ा दिला सकूं जिसकी वजह से मेरी ये हालत हुई।"
एशेरोवा

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Comments

स्पॉटलाइट

'दीपिका पादुकोण के ट्वीट के बाद एक्शन में आई पुलिस, 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार

  • शुक्रवार, 20 अक्टूबर 2017
  • +

दिवाली पर पटाखे छोड़ने के बाद हाथों को धोना न भूलें, हो सकते हैं गंभीर रोग

  • शुक्रवार, 20 अक्टूबर 2017
  • +

इस एक्ट्रेस के प्यार को ठुकरा दिया सनी देओल ने, लंदन में छुपाकर रखी पत्नी

  • शुक्रवार, 20 अक्टूबर 2017
  • +

...जब बर्थडे पर फटेहाल दिखे थे बॉबी देओल तो सनी ने जबरन कटवाया था केक

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

'ये हाथ नहीं हथौड़ा है': सनी देओल के दमदार डायलॉग्स, जो आज भी हैं जुबां पर

  • शुक्रवार, 20 अक्टूबर 2017
  • +

Most Read

पनामा पेपर्स का खुलासा करने वालीं पत्रकार की बम धमाके में मौत

Panama Papers case Malta journalist Daphne Caruana Galizia killed in car bomb blast
  • मंगलवार, 17 अक्टूबर 2017
  • +

UK का सबसे युवा करोड़पति बना भारतीय मूल का लड़का, महज 1 साल में हासिल किया मुकाम

Akshay Ruparelia Indian Origin Teenager UK Youngest Millionaire
  • मंगलवार, 17 अक्टूबर 2017
  • +

'लिंकन इन द बार्डो' के लिए अमेरिकी लेखक जॉर्ज सॉन्डर्स को मिला मैन बुकर पुरस्कार

american writer George Saunders wins 2017 Man Booker prize for Lincoln in the Bardo
  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

31 साल का युवा संभालेगा ऑस्ट्रिया की कमान, चुनावों में मिली शानदार जीत

Sebastian Kurz set to be Austria chancellor
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017
  • +

ब्रिटिश द्वीपों से टकरायेगा ओफेलिया तूफान, रेड अलर्ट जारी

The coastal areas will be hit by Hurricane Ophelia, Red alert in the British Isles
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017
  • +

लड़के-लड़कियों को अलग पढ़ाने की इस्लामी स्कूल की नीति गैरकानूनी: ब्रिटेन 

Islamic schools policy of teaching boys and girls in different classes is illegal says Britain Court
  • शनिवार, 14 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!