आपका शहर Close

भारत के खिलाफ नया पैंतरा, CPEC से पाक में रेल-रोड कार्गो सर्विस शुरू करेगा चीन

amarujala.com- Presented by: श्रवण शुक्ला

Updated Thu, 06 Jul 2017 05:11 PM IST
China plans to launch cargo service through CPEC from Lanzhou to Pakistan

चीन-पाकिस्तान रेल-रोड कार्गो सर्विसPC: Reuters

चीन अपने सबसे महत्वाकांक्षी परियोजना सिल्क रूट को जिंदा करने के लिए जितनी तेजी से आगे बढ़ रहा है, उतने ही तेजी से वो भारत को घेरने की भी कोशिश कर रहा है। इसी कड़ी में चीन ने पाकिस्तान के साथ मिलकर सीपीईसी के साथ ही रेल-रोड कार्गो लाइन शुरू करने की प्लानिंग की है, जिसके बाद ग्वादर बंदरगाह के रास्ते उसकी और उसके सामानों की पहुंच मिडिल-ईस्ट के साथ ही अफ्रीकी देशों तक हो जाएगी। ऐसी ही सेवा के चलते वो नेपाल में अपनी पैठ बना चुका है।
CPEC के जरिए सामने आई चीन की नीयत, पाक को बनाना चाहता है 'आर्थिक गुलाम'

चीन और पाकिस्तान का ये रेल-रोड-वॉटर लाइन चीन के गेंसू प्रांत की राजधानी लानझोऊ से शुरु होकर पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह तक होगा। ये लाइन जिनजिआंग उईगुर स्वायत्तशाषी इलाके के काशगर से भी होकर गुजरेगा। इसके लिए नई लाइन की पहचान भी की जा रही है। हालांकि ये सेवा कबतक शुरु होगी, इसके बारे में जानकारी नहीं दी गई है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने CPEC पर चीन को दिखाया आईना

सरकारी एजेंसी सिंहुआ से बात करते हुए लानझोऊ इंटरनेशनल ट्रेड और लॉजिस्टिक पार्क के निदेशक झू चुन्हुआ ने कहा कि ये रेल-रोड परियोजना भी सीपीईसी से जोड़ी जा सकती है। जो सड़क के साथ ही विकसित की जा सके। अभी इस रेल-रोड लाइन से सामान ट्रेन में भरकर जिनजिआंग तक आएंगे। यहां से सामान को ट्रकों में भरकर पाक अधिकृत कश्मीर के कराकोरम वाले इलाके से होकर पाकिस्तान के दूसरी सिरे ग्वादर बंदरगाह तक जाएंगे। फिर यहां से इस सामान को पानी के रास्ते जहाजों से अफ्रीका, मिडिल ईस्ट के देशों को भेजा जाएगा। चीन के लिए अपने माल को मिडिल ईस्ट-अफ्रीका तक पहुंचाने का ये सबसे छोटा रास्ता है। 

चीन-पाकिस्तान इकानॉमिक कॉरिडोर से भारत-पाक में तनाव बढ़ने की आशंका: यूएन रिपोर्ट

चीन ने ग्वादर बंदरगाह के विकास के साथ ही उसे पाकिस्तान से लीज पर ले लिया है। चीन की कोशिश है कि इस बंदरगाह से वो हर साल 300 से 400 मिलियन टन सामानों का आयात-निर्यात कर सके। इसी के लिए वो सीपीईसी परियोजना में 57 बिलियन डॉलर का निवेश कर रहा है, ताकि वो सिल्क रूट के हिसाब से पूरी दुनिया पर व्यापारिक कब्जा जमा सके। भारत इस सीपीईसी का विरोध करता है, क्योंकि चीन और पाक की ये परियोजना कश्मीर के इलाके से होकर गुजरती है। ऐसे में अब रेल-रोड लाइन के शुरू हो जाने के बाद भारत पर दबाव बढ़ जाएगा। ये भारत के लिए भारत-अफगानिस्तान एयर कॉरिडोर के मुकाबले चीन द्वारा दिया गया हजार गुना बड़ा जवाब हो सकता है।

गौरतलब है कि पिछले साल मई माह में चीन ने नेपाल के साथ रेल-रोड कार्गो सेवा की शुरुआत की गई थी। ये रूट लानझोऊ से काठमांडू तक है। अभी तक चीन-नेपाल के बीच 3 बिलियन युआन का व्यापार होता था, पर इस रूट से दोनों देशों के बीच व्यापार का ये आंकड़ा 10 बिलियन युआन तक पहुंचने की उम्मीद है। यही नहीं, चीन सरकार भारत को घेरने के लिए लगातार पड़ोसी देशों में निवेश कर रही है। इसके तहत बांग्लादेश, श्रीलंका जैसे देशों में बंदरगाहों के विकास की पेशकश जैसी बातें शामिल हैं।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Comments

स्पॉटलाइट

वूलन टॉप के हैं दीवाने तो घर पर ऐसे बनाएं शॉर्ट स्लीव मिनी टॉप

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

नाहरगढ़ के किले से लटके शव पर आलिया बोलीं-ये क्या हो रहा है? चौंकाने वाला है

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

Special: पहले से तय है बिग बॉस की स्क्रिप्ट, सामने आए 3 फाइनिस्ट के नाम लेकिन जीतेगा कोई चौथा

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

एक रिकॉर्ड तोड़ने जा रही है 'रेस 3', सलमान बिग बॉस में करवाएंगे बॉबी देओल की एंट्री

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

मिलिये अध्ययन सुमन की नई गर्लफ्रेंड से, बताया कंगना रनौत से रिश्ते का सच

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

Most Read

भारतीय ज्यादा आलसी, चीन के साथ ही रहना चाहता है तिब्बत: दलाई लामा

dalai lama says tibet do not want independence from china but want more development
  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

चीन ने फिर बढ़ाई भारत की चिंता, ब्रह्मपुत्र की बजाय तिब्बत की नदियों पर बनाएगा और बांध

China ready to build more dams on Tibetan rivers and rejects projoects on Brahmaputra
  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

चीनी सेना की इस मिसाइल के दायरे में होगी भारत-अमेरिका समेत पूरी दुनिया

China's multi nuclear warhead intercontinental ballistic missile can hit india and world
  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

राष्ट्रपति कोविंद के अरुणाचल दौरे पर भड़का चीन, कहा- दोनों देशों के रिश्तों का रखें ध्यान

China slams president Ramnath Kovind Arunachal Pradesh visit
  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

CPEC पर चीन ने दिया पाक को करारा झटका, कहा- भारत नहीं फैला रहा अराजकता  

China dismissed a top Pakistani Army General's allegation India is spreading anarchy in CPEC
  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

डोकलाम विवाद के बाद पहली बार भारत-चीन के बीच हुई बात, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

After Doklam Standoff India and China hold first border talk
  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!