आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

चीन में अधिकारियों के रोजे रखने पर पाबंदी

Ashok Kumar

Ashok Kumar

Updated Sat, 11 Aug 2012 12:50 PM IST
China banned officers to observe roza
चीन ने शिनजियांग प्रांत में मुस्लिम अधिकारियों और छात्रों के रोजा रखने पर पाबंदी लगा दी है। सरकार ने इस आदेश को कई सरकारी वेबसाइटों पर जारी कर दिया है। आदेश में रमजान के महीने में मुस्लिम अधिकारियों और छात्रों को रोजा रखने और मस्जिद जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। गौरतलब है कि शिनजियांग प्रांत में लगभग 90 लाख तुर्की भाषी मुस्लिम रहते हैं। अल्पसंख्यक के रूप में मौजूद इस समुदाय के कई लोग चीन के नेताओं पर धार्मिक और राजनीतिक उत्पीड़न करने का आरोप लगाते रहे हैं।
शिनजियांग में अक्सर धार्मिक हिंसा की लपटें उठती रहती हैं, लेकिन चीन दमन के आरोपों से इनकार करता है। चीन की सरकार दसियों हजार उइगुर अधिकारियों की मदद से इस प्रांत का प्रशासन संभालती है। शिनजियांग के काशगार जिले के जोंगलाग इलाके से जारी एक बयान में कहा गया है, "राज्य परिषद ने रमजान के दौरान सामाजिक स्थिरता के लिए विस्तार से नीतियों का एलान किया है। कम्युनिस्ट पार्टी के कैडर, प्रशासनिक अधिकारियों (रिटायर हो चुके भी) और छात्रों के रमजान के दौरान धार्मिक गतिविधियों में शामिल होने पर रोक लगा दी गई है।"

यह बयान शिनजियांग की सरकारी वेबसाइट पर लगा है। इसमें पार्टी नेताओं से गांव के स्थानीय नेताओं के लिए खाने का "तोहफा" लाने को कहा गया है जिससे कि यह तय किया जा सके कि वो लोग रमजान के दौरान रोजा न रखते हुए खाना खा रहे हैं। रमजान में धार्मिक गतिविधियों को रोकने के आदेश स्थानीय प्रशासन की वेबसाइटों पर भी लगाए गए हैं। इसके साथ ही वेन्सू के सभी शिक्षण संस्थानों के दफ्तर में भी लगाए गए हैं। स्कूल और कॉलेज प्रशासन से साफ कहा गया है कि वो यह सुनिश्चित करें कि कोई भी छात्र रमजान के दौरान मस्जिद न जाए।

उइगुर लोगों के हक की बात करने वाले गुट वर्ल्ड उइगुर कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि यह नीति, 'उइगुर लोगों पर और विरोध करने के लिए' दबाव बनाएगी। गुट के प्रवक्ता दिलशात रेक्सिट ने बयान में कहा है, "रमजान के दौरान रोजा रखने पर रोक लगा कर चीन प्रशासनिक तरीके का इस्तेमाल कर उइगुर लोगों को खाने पर विवश कर रहा है जिसके कि रोजा तोड़ा जा सके।" शिनजियांग ने हाल के वर्षों में सबसे भयानक हिंसा 2009 के जुलाई में देखी जब उइगुर समुदाय के लोगों ने देश के प्रभावशाली हान जाति के लोगों पर उरुमकी में हमला किया। सरकार के मुताबिक इस हिंसा में दोनों पक्षों के 200 लोग मारे गए।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

सोशल मीडिया: JIO के बाद अंबानी शुरू करेंगे PIO, 3 महीने सब फ्री

  • मंगलवार, 21 फरवरी 2017
  • +

राजकुमार हो गए अपने ही घर में 'ट्रैप्ड', फिल्म का टीजर हुआ रिलीज

  • मंगलवार, 21 फरवरी 2017
  • +

आखिर क्यों काट दिए गए 'रंगून' से 40 मिनट के सीन ? ये रही असली वजह

  • मंगलवार, 21 फरवरी 2017
  • +

'लाली की शादी में लड्डू दीवाना' का पोस्टर रिलीज, दिखा अक्षरा का नया अंदाज

  • मंगलवार, 21 फरवरी 2017
  • +

बुधवार के दिन करें यह पांच काम, सुख-समृद्धि से भर जाएगी जिंदगी

  • मंगलवार, 21 फरवरी 2017
  • +

Most Read

समावेशी, संतुलित आर्थिक वैश्वीकरण को प्रोत्साहित करेगा ब्रिक्स : चीन

BRICS to promote inclusive, balanced economic globalisation says China
  • मंगलवार, 21 फरवरी 2017
  • +

भारत को निशाना बनाने वाली मिसाइल से चीन का अभ्यास

China conducts exercise with new DF-16
  • मंगलवार, 7 फरवरी 2017
  • +

श्रीलंका में चीनी निवेश पर अपने पक्ष पर दोबारा विचार करे भारत: चीनी मीडिया

India must rethink opposition to Chinese investment in Sri Lanka says Chinese media
  • मंगलवार, 17 जनवरी 2017
  • +

चीन ने 32 मिशनरियों को देश के बाहर खदेड़ा

China expels 32 missionaries
  • रविवार, 12 फरवरी 2017
  • +

भारत की एनएसजी सदस्यता विदाई उपहार नहीं हो सकता : चीन

china says without sign on NPT no ones enter in NSG
  • सोमवार, 16 जनवरी 2017
  • +

चीन: रैवीज के खिलाफ बड़ी संख्या में कुत्तों का सफाया

Mass culling of dogs in China after women dies of rabies
  • सोमवार, 13 फरवरी 2017
  • +
TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top