आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

चीन में अधिकारियों के रोजे रखने पर पाबंदी

Ashok Kumar

Ashok Kumar

Updated Sat, 11 Aug 2012 12:50 PM IST
China banned officers to observe roza
चीन ने शिनजियांग प्रांत में मुस्लिम अधिकारियों और छात्रों के रोजा रखने पर पाबंदी लगा दी है। सरकार ने इस आदेश को कई सरकारी वेबसाइटों पर जारी कर दिया है। आदेश में रमजान के महीने में मुस्लिम अधिकारियों और छात्रों को रोजा रखने और मस्जिद जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। गौरतलब है कि शिनजियांग प्रांत में लगभग 90 लाख तुर्की भाषी मुस्लिम रहते हैं। अल्पसंख्यक के रूप में मौजूद इस समुदाय के कई लोग चीन के नेताओं पर धार्मिक और राजनीतिक उत्पीड़न करने का आरोप लगाते रहे हैं।
शिनजियांग में अक्सर धार्मिक हिंसा की लपटें उठती रहती हैं, लेकिन चीन दमन के आरोपों से इनकार करता है। चीन की सरकार दसियों हजार उइगुर अधिकारियों की मदद से इस प्रांत का प्रशासन संभालती है। शिनजियांग के काशगार जिले के जोंगलाग इलाके से जारी एक बयान में कहा गया है, "राज्य परिषद ने रमजान के दौरान सामाजिक स्थिरता के लिए विस्तार से नीतियों का एलान किया है। कम्युनिस्ट पार्टी के कैडर, प्रशासनिक अधिकारियों (रिटायर हो चुके भी) और छात्रों के रमजान के दौरान धार्मिक गतिविधियों में शामिल होने पर रोक लगा दी गई है।"

यह बयान शिनजियांग की सरकारी वेबसाइट पर लगा है। इसमें पार्टी नेताओं से गांव के स्थानीय नेताओं के लिए खाने का "तोहफा" लाने को कहा गया है जिससे कि यह तय किया जा सके कि वो लोग रमजान के दौरान रोजा न रखते हुए खाना खा रहे हैं। रमजान में धार्मिक गतिविधियों को रोकने के आदेश स्थानीय प्रशासन की वेबसाइटों पर भी लगाए गए हैं। इसके साथ ही वेन्सू के सभी शिक्षण संस्थानों के दफ्तर में भी लगाए गए हैं। स्कूल और कॉलेज प्रशासन से साफ कहा गया है कि वो यह सुनिश्चित करें कि कोई भी छात्र रमजान के दौरान मस्जिद न जाए।

उइगुर लोगों के हक की बात करने वाले गुट वर्ल्ड उइगुर कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि यह नीति, 'उइगुर लोगों पर और विरोध करने के लिए' दबाव बनाएगी। गुट के प्रवक्ता दिलशात रेक्सिट ने बयान में कहा है, "रमजान के दौरान रोजा रखने पर रोक लगा कर चीन प्रशासनिक तरीके का इस्तेमाल कर उइगुर लोगों को खाने पर विवश कर रहा है जिसके कि रोजा तोड़ा जा सके।" शिनजियांग ने हाल के वर्षों में सबसे भयानक हिंसा 2009 के जुलाई में देखी जब उइगुर समुदाय के लोगों ने देश के प्रभावशाली हान जाति के लोगों पर उरुमकी में हमला किया। सरकार के मुताबिक इस हिंसा में दोनों पक्षों के 200 लोग मारे गए।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

Nokia 3310 की कीमत का हुआ खुलासा, 17 मई से शुरू होगी डिलीवरी

  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

फॉक्सवैगन पोलो जीटी का लिमिटेड स्पोर्ट वर्जन हुआ लॉन्च

  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

सलमान की इस हीरोइन ने शेयर की ऐसी फोटो, पार हुईं सारी हदें

  • बुधवार, 26 अप्रैल 2017
  • +

इस बी-ग्रेड फिल्म के चक्कर में दिवालिया हो गए थे जैकी श्रॉफ, घर तक रखना पड़ा था गिरवी

  • बुधवार, 26 अप्रैल 2017
  • +

विराट की दाढ़ी पर ये क्या बोल गईं अनुष्का

  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

Most Read

उत्तर कोरिया की वजह से चीन ने लॉन्च किया पहला एयरक्राफ्ट करियर

China launches first domestically built aircraft carrier
  • बुधवार, 26 अप्रैल 2017
  • +

आतंकवाद से डरे चीन ने अब 'सद्दाम' जैसे नामों पर लगाया प्रतिबंध

China bans dozens of Muslim names for babies like 'Saddam' and 'Jihad' in Xinjiang
  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

सिल्क रोड प्रोजेक्ट में भारत को शामिल करने के लिए आतुर है चीन

India's participation crucial for China's silk road project
  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

चीन ने अमेरिका को दी उत्तर कोरिया पर संयम बरतने की सलाह

China advised America to Restraint on North Korea
  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

हवाई क्षेत्र में चीन की बड़ी छलांग, इस बार रूस को पछाड़ा

China Beats Russia To Build Passenger Plane
  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

चीन बोला- इंडियन नेवी नहीं हमने जहाज बचाया

china claims full credit for rescuing cargo ship which hijacked by pirates in gulf of aden
  • सोमवार, 10 अप्रैल 2017
  • +
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top