आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

क्यों 'काली और जाली' है भारतीय अर्थव्यवस्था?

बीबीसी हिंदी

Updated Wed, 19 Dec 2012 09:08 AM IST
why indian economy is black and fake
भारतीय अर्थव्यवस्था को इस साल अवैध वित्तीय लेन देन के चलते करीब 1.6 अरब डॉलर (करीब 85 अरब रुपए) का नुकसान उठाना पड़ा है।
इतना ही नहीं बीते एक दशक के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था को 123 अरब डॉलर (करीब 6,642 अरब रुपए) का नुकसान हुआ है।

यह रकम कितनी बड़ी है इसका अंदाज़ा इससे लगाया जा सकता है कि बीते एक दशक के दौरान भारत में शिक्षा, स्वास्थ्य और आधारभूत ढांचे के निर्माण पर इससे कम खर्च हुआ है।

ये आकलन वाशिंगटन स्थित शोध संस्थान ग्लोबल फाइनेंसियल इंटेग्रिटी (जीएफआई) का है। संस्था ने काली और जाली अर्थव्यवस्था पर अध्ययन कर ये रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के मुताबिक इस दशक में काली अर्थव्यवस्था के चलते नुकसान के मामले में भारत आठवें नंबर पर हैं।

जीएफआई के निदेशक रेमंड बाकर ने कहा, “भारत में अवैध लेन देने के लिहाज से पिछले कुछ सालों में स्थिति सुधरी है लेकिन अब भी अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है।”

बाकर के मुताबिक भारत के नीति निर्माताओं को इस नुकसान को कम करने के लिए अविलंब कदम उठाना चाहिए। बाकर ने कहा, “भारत में काले धन की बरामदगी के मसले को मीडिया में काफी जगह मिल रही है।”

जीएफआई के प्रमुख अर्थशास्त्री और रिपोर्ट के सह लेखक देव कार कहते हैं, “नुकसान के लिहाज से भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए 123 अरब डॉलर (6,642 अरब रुपए) बहुत बड़ी रकम है।”

देव कार कहते हैं, “यह भारतीय नागरिकों के लिए बड़ी चिंता की बात है क्योंकि शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा और देश में आधारभूत ढांचे के निर्माण पर कुल मिलाकर 100 अरब डॉलर (करीब 5400 अरब रुपए) खर्च हुआ है यानी काले धन के चलते होने वाला नुकसान इससे कहीं ज़्यादा है।”

जीएफआई की ये रिपोर्ट ये भी बताती है कि भारत के कुल सकल घरेलू उत्पाद की 50 फ़ीसदी जितनी रकम काली अर्थव्यवस्था की भेंट चढ़ जाती है। रिपोर्ट के मुताबिक 1948 से लेकर 2008 के बीच साठ साल के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था को करीब 462 अरब डॉलर (करीब 24,948 अरब रुपए) का नुकसान हुआ है।

चीन को सबसे ज़्यादा नुकसान
वैसे सूची में चीन अव्वल स्थान पर है। 2001 से 2010 के दौरान अवैध वित्तीय लेनदेन के चलते चीन को 2740 बिलियन डॉलर (1,47,960 अरब रुपए) का नुकसान हुआ है। इसके बाद मैक्सिको, मलेशिया, सऊदी अरब, रूस, फिलीपींस और नाइजीरिया को भी अरबों डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा है।

“विकासशील देशों में अवैध वित्तीय लेनदेन- 2001 से 2010” के नाम से जारी इस रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के सभी विकासशील देशों की अर्थव्यवस्था को 2010 में 858.8 अरब डॉलर (करीब 46,375 अरब रुपए) का नुकसान हुआ है।

यह बीते एक दशक में नुकसान के हिसाब से दूसरा सबसे ख़राब साल साबित हुआ है। इससे पहले 2008 के दौरान विकासशील देशों की अर्थव्यवस्था को 871.3 अरब डॉलर( करीब 47,050 अरब रुपए) का नुकसान सहना पड़ा था।

रिपोर्ट के मुताबिक 2001 से 2010 के दौरान दुनिया भर के विकासशील देशों को काले धन के चलते 5860 अरब डॉलर (3,16,440 अरब रुपए) का नुकसान हुआ है।

ग्लोबल फाइनेंसियल इंटेग्रिटी ने दुनिया भर के नेताओं से अपील की है कि वे काले धन के लेन देन पर अंकुश लगाने के लिए अपने अपने देशों में पारदर्शी व्यवस्था को बढ़ावा दें।

काले धन से अर्थव्यवस्था को नुकसान (बीते एक दशक में)
चीन- 1,47,960 अरब रुपए
मैक्सिको- 25,704 अरब रुपए
मलेशिया- 15,390 अरब रुपए
सऊदी अरब- 11,340 अरब रुपए
रुस- 8,208 अरब रुपए
फिलिपींस- 7,452 अरब रुपए
नाइजीरिया- 6,966 अरब रुपए
भारत- 6,642 अरब रुपए
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

डबल चिन से पाना है छुटकारा तो करें ये काम, कहीं भी कभी भी

  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

क्या इस शख्स को पहचाना, नहीं-नहीं ये शाहरुख बिलकुल भी नहीं हैं

  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

कपल्स हो जाएं सावधान, आने वाला महीना ला सकता है मुसीबत

  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

इस फ्लॉप एक्ट्रेस के पास हैं 17 घोड़े, किया ऐसा ट्वीट कि लोगों ने पूछा- 'तुम कौन हो बहन'

  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

घर के बच्चों को नोचती थी, खुद से बातें करती थी नीले आंखों वाली यह गुड़िया

  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

Most Read

कैलिफोर्निया में दो अलग- अलग घटनाओं में 2 भारतीय सिखों की हत्या 

Two Sikh Americans have been killed in separate incidents in California
  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

इस एक 'गलती' के कारण भरने पड़े 6.5 करोड़ रुपए

6.5 crore rupees due to 'fault' in intimacy
  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

'भारत-चीन के बीच छिड़ी जंग तो नहीं चुप बैठेगा अमेरिका'

 experts sayss america will not sit silent if border fights starts between India china
  • गुरुवार, 27 जुलाई 2017
  • +

चीनी फाइटर जेट्स ने अमेरिका के जासूसी प्लेन को घेरा, होते-होते रह गई टक्कर

Chinese fighter jets intercept US surveillance plane over East China Sea
  • मंगलवार, 25 जुलाई 2017
  • +

पाकिस्तान में राजनीतिक बदलाव को सकारात्मक रूप से देख रहा है अमेरिका

America is seeing a political changes positively in Pakistan
  • शनिवार, 29 जुलाई 2017
  • +

NSG मेंबर्स से बोला US- भारत की सदस्यता का करें समर्थन

US has supported Indias' membership in the four multilateral export control regimes including NSG
  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!