आपका शहर Close

क्या मेरे सिर पर गिरेगा क्षुद्रग्रह?

बीबीसी हिंदी/डेविड श्पिगल हॉल्टर

Updated Sat, 15 Dec 2012 02:32 PM IST
what asteroids fall on my head
एक रिपोर्ट में अनुमान जताया गया है कि क्षुद्रग्रह गिरने से सालाना 91 लोग मारे जाते हैं। हो सकता है कि अंतरिक्ष से धरती की ओर आ रहे किसी ऐसे ही क्षुद्रग्रह पर आपका नाम लिखा हो। अब सवाल ये है कि असल में इसकी संभावना आखिर कितनी है।
बीमा, मेडिकल टेस्ट, गाड़ी ठीक से चलाना, ये कुछ ऐसे उपाए हैं जिन्हें हम अपने बचाव के लिए करते हैं, लेकिन असल में ये सब बेकार हैं अगर आसमान से आ रहे किसी क्षुद्रग्रह या कहें किसी चट्टान पर आपका ही नाम लिखा हो।

हाल ही में 2012 बी एक्स-34 नाम का एक क्षुद्रग्रह धरती के वायुमंडल के 60,000 किलोमीटर करीब से गुजरा था। क्या होता अगर ये हमारे सिर पर आ गिरता?

एक अद्भुत रिपोर्ट में अमेरिका की राष्ट्रीय शोध काउंसिल कहती है कि औसतन हर साल 91 लोग क्षुद्रग्रह से मरते हैं। ये संख्या काफी सटीक है लेकिन इसके बारे में छानबीन करना भी जरूरी है।

सोचिए पिछली बार आपने कब सुना था कि कोई क्षुद्गग्रह धरती से टकराया है। इस बारे में आपने शायद अख़बारों में कुछ पढ़ा होगा।

ऐसा ही एक क्षुद्रग्रह 30 जून 1908 को गिरा था जिसका विस्फोट साइबेरिया के जंगलों से 10 किलोमीटर ऊपर आसमान में हुआ था।

इसकी वजह से 1600 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र के पेड़ उखड़ गए थे। उस वक्त इस घटना पर लोगों ने कोई खास ध्यान नहीं दिया था क्योंकि जंगल बहुत सुदूर था और उसमें किसी इंसान की जान नहीं गई थी।

आसमान से गिरती मौत?
गणनाएं बताती हैं कि यही क्षुद्रग्रह अगर चार घंटे 47 मिनट बाद गिरा होता जो निशाने पर रूस का सेंट पीटर्सबर्ग शहर होता और तब ये घटना बहुत मायने रखती। खास तौर पर इसलिए भी क्योंकि ये वक्त रूस के इतिहास के लिए काफी संवेदनशील था।

अगर इस तरह का विस्फोट न्यूयॉर्क के ऊपर हुआ होता तो दस खरब डॉलर का नुकसान होता। इतना ही नहीं, 32 लाख लोगों की जान जाती और 37 लाख लोग घायल होते।

लेकिन ऐसा हुआ नहीं। असल में ये बड़ा आश्चर्यजनक है कि क्षुद्रग्रह से जुड़ी मौतों के बहुत कम मामले हैं। कुछ मामलों में अमरीका में कुछ कारों को नुकसान जरूर पहुंचा और साल 1972 में वेनेजुएला में एक गाय की मौत हो गई थी। हाल ही में पेरिस के एक घर के सामने अंडे के आकार का क्षुद्रग्रह गिरा था।

खतरे पर नासा की नजर
आसमान से गिरने वाले धूमकेतु या क्षुद्रग्रह विभिन्न आकार-प्रकार के होते हैं और इसी आधार पर इनसे नुकसान की आशंका होती है। इसी आधार पर इन्हें वर्गीकृत किया जाता है।

अगर कोई धूमकेतु धरती और सूरज के बीच की एक तिहाई दूरी यानी 480 लाख किलोमीटर दूरी तय करे तो इसे 'नियर अर्थ ऑबजेक्ट' कहा जाता है।

अच्छी बात ये है कि इस तरह के 'नियर अर्थ ऑब्जेक्ट्स' पर नज़र बनाए रखने के लिए नासा एक परियोजना पर काम कर रहा है जो इस तरह के हर धूमकेतु पर नज़र बनाए रखता है। दिसंबर 2011 तक इस तरह के 8,500 'नियर अर्थ ऑब्जेक्ट' पाए गए हैं।

अगर कोई 150 मीटर चौड़ा धूमकेतु धरती और चांद के बीच की दूरी से 20 गुना ज्यादा दूरी से धरती के निकट से गुजरे तो उसे संभावित खतरनाक धूमकेतु माना जाता है।

5-10 मीटर तक चौड़े धूमकेतु साल में औसतन एक बार धरती की ओर आते हैं जिनसे बहुत जोरदार धमाकों के बराबर ऊर्जा पैदा होती है। ये उतनी ही ऊर्जा है जितनी ऊर्जा हिरोशिमा में परमाणु बम के विस्फोट के दौरान पैदा हुई थी।

धूमकेतु की वजह से 91 लोगों की मौत का आंकड़ा सौ साल के आधार पर निकाला गया है। कुछ चुनिंदा मामले बड़े स्तर पर मौत के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि धूमकेतु या क्षुद्रग्रह के गिरने से किसी इंसान के मारे जाने की संभावना लाखों में एक के बराबर है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Comments

Browse By Tags

asteroids nasa

स्पॉटलाइट

दिवाली की रात इन 5 जगहों पर जरूर जलाएं 1 दीपक, मां लक्ष्मी होंगी प्रसन्न

  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

अयंगर योगः दिवाली पर करें यम-नियम और वीरासन के फायदों की बात

  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

ब्यूटी प्रोडक्ट को छोड़कर ये 5 आसान योग करें, थम जाएगी आपकी उम्र

  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

दिवाली की रात इन जगहों पर सजाएंगे दीये तो घर में होगी पैसों की बरसात

  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

दिवाली पर 10 मिनट में बनाये स्वादिष्ट परवल की मिठाई, मेहमान भी कह उठेंगे 'YUMMY'

  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

Most Read

नॉर्थ कोरिया की धमकी, कभी भी शुरू हो सकता है परमाणु युद्ध

North Korea said, nuclear war may break out any moment
  • मंगलवार, 17 अक्टूबर 2017
  • +

50 भारतीय शांतिरक्षकों को सूडान में मिला यूएन मेडल

Indian peacekeepers get UN Medal in Sudan
  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

भारतीय रक्षा विशेषज्ञ का दावा, चीनी सैन्य खतरे से निपटने को भारत पूरी तरह तैयार

India fully prepared to deal with Chinese military threat: defence expert
  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

अमेरिका बोला- पहला बम गिरने तक नॉर्थ कोरिया से करेंगे बात

America said, will talk to North Korea until the first bomb falls
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017
  • +

दुनिया के लिए बड़ा खतरा बनती जा रही है उत्तर कोरिया की साइबर क्षमता

cyber power of north korea is a new threat to the world
  • मंगलवार, 17 अक्टूबर 2017
  • +

भारत पर अमेरिका की नीति का खुलासा करेंगे टिलरसन

Rex Tillerson will deliver major policy speech on India
  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!