आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

मंगल की सतह के नीचे मिली टेक्टोनिक्स प्लेट

Ashok Kumar

Ashok Kumar

Updated Sat, 11 Aug 2012 03:00 PM IST
ucla scientist discovers plate tectonics on mars
मंगल मिशन को लेकर एक उम्मीदो भरी खबर सामने आई है। वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह की सतह के नीचे टेक्टोनिक्स प्लेट पाए जाने का दावा किया है। पहले माना जाता था कि ये प्लेट सिर्फ पृथ्वी की सतह में मौजूद होती हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के शोधकर्ता अन यिन ने पाया कि लाल ग्रह की सतह पर भी भौगोलिक घटनाएं हुई, जिनमें ग्रह की सतह के नीचे की विशाल प्लेटों का सरकना भी शामिल है।
उनके मुताबिक मंगल पर टेक्टोनिक्स प्लेट संबंधी संरचना शुरुआती चरण में है। इससे हमें इस बात का संकेत मिलता है कि प्रारंभ में पृथ्वी कैसी दिखती होगी। हमें यह समझने में भी मदद मिलेगी कि पृथ्वी पर प्लेट संबंधी संरचना किस प्रकार शुरू हुई होगी। यिन ने नासा के टाइम हिस्ट्री ऑफ इवेंट्स एंड मैक्रोस्केल इंटरेक्शंस ड्यूरिंग सबस्टॉर्मस अंतरिक्षयान और मार्स रिकनाइसेंस ऑर्बिटर पर लगे हाई रिजोल्यूशन इमेजिंग साइंस एक्सपेरिमेंट कैमरे से ली गई करीब 100 उपग्रह तस्वीरों का विश्लेषण करने के बाद यह निष्कर्ष निकाला।

इनमें से करीब दर्जनभर चित्रों में टेक्टोनिक्स प्लेट के संकेत मिले। यिन ने हिमालय क्षेत्र और तिब्बत में भूगर्भीय शोध किया है। यहां पृथ्वी की सात बड़ी प्लेटों में से दो विभाजित होती हैं। यिन का कहना है कि जब मैंने मंगल ग्रह से प्राप्त चित्रों का अध्ययन किया तो पता चला कि इस ग्रह और हिमालय, तिब्बत, कैलिफोर्निया में पृथ्वी के प्राकृतिक रूप में कई समानताएं हैं। इसके अलावा भी चित्रों में कई अन्य लक्षण इन क्षेत्रों से मिलते-जुलते पाए गए।

जीवन के दावे को साबित करेगा क्यूरियोसिटी
मंगल ग्रह पर गए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के क्यूरियोसिटी रोवर से प्राप्त जानकारी के आधार पर यह साबित किया जा सकेगा कि इस ग्रह पर जीवन के संकेत 30 साल पहले पाए गए थे। अमेरिकी वैज्ञानिक गिलबर्ट लेविन ने यह दावा किया है। 1976 में नासा के ‘विकिंग मिशन’ के अंतर्गत ‘लेबल्ड रिलीज’ एक्सपेरिमेंट का नेतृत्व उन्होंने ही किया था। यह मिशन मंगल पर गया था। लेविन को उम्मीद है कि क्यूरियोसिटी उनके उस दावे का प्रमाण उपलब्ध कराएगा जिसमें उन्होंने कहा था कि मंगल पर कार्बनिक अणुओं का पता चला है।

विज्ञान पत्रिका न्यू साइंटिस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक मंगल पर जीवन की खोज संबंधी इस वैज्ञानिक के सिद्धांत का पहले खंडन किया गया था। क्यूरियोसिटी की खोज से उनके सिद्धांत को फिर से स्थापित किया जा सकता है। अपने 1976 के प्रयोग में लेविन ने मंगल ग्रह की मिट्टी को रेडियोएक्टिव कार्बन वाले पोषक तत्व के साथ मिलाया था। उनकी परिकल्पना में कहा गया था कि यदि मिट्टी में बैक्टीरिया मौजूद होंगे तो वे पोषक तत्व में रासायनिक क्रिया प्रारंभ करेंगे और कार्बनडाइऑक्साइड के रूप में अणुओं को मुक्त करेंगे। प्रयोग में पाया गया कि कार्बनडाइऑक्साइड मुक्त हुआ और इससे पता चला कि मंगल की मिट्टी में रेडियोएक्टिव कार्बन परमाणु मौजूद हैं।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

Nokia 3310 की कीमत का हुआ खुलासा, 17 मई से शुरू होगी डिलीवरी

  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

फॉक्सवैगन पोलो जीटी का लिमिटेड स्पोर्ट वर्जन हुआ लॉन्च

  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

सलमान की इस हीरोइन ने शेयर की ऐसी फोटो, पार हुईं सारी हदें

  • बुधवार, 26 अप्रैल 2017
  • +

इस बी-ग्रेड फिल्म के चक्कर में दिवालिया हो गए थे जैकी श्रॉफ, घर तक रखना पड़ा था गिरवी

  • बुधवार, 26 अप्रैल 2017
  • +

विराट की दाढ़ी पर ये क्या बोल गईं अनुष्का

  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

Most Read

अमेरिका में भारतीय नागरिक सूचनाएं लीक करके कमाने के आरोप में गिरफ्तार

America arrested Indian investment bank vice president with insider trading
  • बुधवार, 26 अप्रैल 2017
  • +

ट्रंप की जीत की भविष्यवाणी करने वाले ने की 13 मई से तीसरे विश्वयुद्ध की घोषणा

World War III Will Begin On May 13 According To Mystic Who Predicted Trump's Win
  • शुक्रवार, 21 अप्रैल 2017
  • +

ट्रंप इफेक्‍ट! पूरी दुनिया में घटी भारतीयों की नौकरियां

Changes in foreign visa rules have reduced employment for Indians
  • रविवार, 23 अप्रैल 2017
  • +

अब खुद उड़ाइए अपनी कार, साल के अंत तक बाजार में उपलब्ध

American Company Kitty Hawk make flying car avalilable for sale by the end of 2017
  • मंगलवार, 25 अप्रैल 2017
  • +

गूगल ने पब्लिक के लिए अपनी ड्राइवर लेस कार को उतारा रोड पर, फ्री ट्रायल शुरू

google opens driverless car to arizon public and started its free trial
  • बुधवार, 26 अप्रैल 2017
  • +

लाखों भारतीय नौकरीपेशा कर रहे हैं US के ग्रीन कार्ड का इंतजार, ट्रंप लेंगे फैसला

 h1b visa Indian holders see hope in Trump review and waiting for green card of america
  • शनिवार, 22 अप्रैल 2017
  • +
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top