आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

सैंडी तूफान में फंसा भारतीय बच्चों का दल

बीबीसी हिन्दी

Updated Tue, 30 Oct 2012 12:59 PM IST
indian children contigent stucked in sandy storm
दिल्ली और शिमला से गई बच्चों की एक टीम भी अमेरिका के चक्रवाती तूफान सैंडी की वजह से वहां फंस गई है। 31 बच्चों का यह दल दस दिन के शैक्षिक टूर पर नासा गया था लेकिन फिलहाल न्यूजर्सी में फंसा है।
न्यूजर्सी, न्यूयॉर्क, मैरीलैंड, पैंसिल्वानिया और कनेक्टिकट सहित अमरीका के 12 राज्य तूफ़ान की चपेट में आ गए हैं। तूफान के कारण मूसलाधार बारिश हो रही है, कई जगह बाढ़ जैसी स्थिति है, बिलली गुल है और जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

बच्चों की इस टीम के संचालक रोहित शेखर शर्मा ने फोन पर बीबीसी को बताया कि सभी बच्चे और दल के बाकी लोग सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा, ''इसमें कोई शक नहीं कि बच्चे घबराए और डरे हुए हैं। लेकिन हमने पूरा इंतजाम कर रखा है।''

इंतजाम
उन्होंने कहा, ''क्योंकि यहां पर पहले से ही चेतावनी दी गई थी इसलिए हमने पहले से ही पानी और खाने का सामान खरीद लिया है। इसके अलावा हमने मोमबत्तियां भी जमा कर रखी हैं।''

उन्होंने बताया कि यह बच्चे दिल्ली के अहल्कॉन पब्लिक स्कूल और शिमला के ऑकलैंड पब्लिक स्कूल के हैं और इनमें पांचवीं से लेकर दसवीं कक्षा तक के छात्र हैं। टूर का यह अंतिम चरण था और बुधवार को दल वापिस आने वाला था।

रोहित ने कहा, ''हमने सोमवार को काफी शॉपिंग की क्योंकि हम वापसी की तैयारी कर रहे थे। लेकिन फिलहाल सभी उड़ानें स्थगित कर दी गई हैं और अभी कुछ कह पाना मुश्किल है कि कब वापस जा पाएंगे।''

मस्ती और गाना
उन्होंने कहा, ''बच्चे अपने मां बाप को 'मिस' कर रहे हैं लेकिन हम लोग मज़ाक मस्ती कर के, नाच-गाने से खुद को खुश और व्यस्त रखने की कोशिश कर रहे हैं और अपना समय बिता रहे हैं।'' रोहित ने बताया कि वे लोग न्यूजर्सी के एक होटल में रुके हैं।

उन्होंने कहा, ''खिड़की से बाहर देखूं तो बाहर तेज हवाएं चल रही हैं। वैसे तो यह शहर रात दिन चलता रहता है लेकिन अब पूरी तरह से खाली है। दरअसल प्रशासन ने लोगों के बाहर निकलने या बाहर खड़े होने को लेकर लोगों को अगाह किया है। यहां आपातकाल घोषित किया गया है।''

रोहित ने बताया, ''यहां न तो लिफ्ट काम कर रही है न ही हम कुछ खाने पीने के लिए ऑर्डर कर सकते हैं। यहां के लोगों को बिजली के बिना रहने के आदत नहीं है इसलिए यहां जेनरेटर या इनवर्टर जैसी चीजें उपलब्ध नहीं हैं।''
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

सुभाष घई की 'हीरोइन' ने किया 38 साल बड़े हीरो के साथ लवमेकिंग सीन, तस्वीर वायरल

  • मंगलवार, 28 मार्च 2017
  • +

आशा पारेख की बायोग्राफी लॉन्च करेंगे सलमान खान

  • मंगलवार, 28 मार्च 2017
  • +

इन्वर्टिस के मेधावी छात्र वैभव सिंह बने आई.ए.एस

  • मंगलवार, 28 मार्च 2017
  • +

ये हैं जियो के सभी बैलेंस पता करने वाले USSD कोड

  • मंगलवार, 28 मार्च 2017
  • +

फिल्म 'स्पाइडर मैन होमकमिंग' का टीजर रिलीज

  • मंगलवार, 28 मार्च 2017
  • +

Most Read

ट्रंप ने PM मोदी को फोन कर दी चुनाव में जीत पर बधाई

donald trump calls pm modi congratulates him on his success in assembly elections
  • मंगलवार, 28 मार्च 2017
  • +

अमेरिकी थिंक टैंक का दावा, साउथ चाइना सी में वॉर प्लेन तैनाती की तैयारी में चीन

  US think tank said China can deploy warplanes on artificial islands any time
  • मंगलवार, 28 मार्च 2017
  • +

10 साल की लड़की के कपड़ों से एयरलाइंस को ऐतराज, प्लेन पर चढ़ने से रोका

 Two Girls Barred From United Flight For Wearing Leggings
  • सोमवार, 27 मार्च 2017
  • +

सिख लड़की पर चिल्लाया अमेरिकी, कहा- लेबनान लौट जाओ

man shouts go back to Lebanon to Sikh- American girl in NEW YORK
  • शनिवार, 25 मार्च 2017
  • +

अमेरिकी नाइट क्लब में फायरिंग, 1 की मौत, 15 घायल

Firing in Night Club In Cincinnati, Attacker Broke Out Loose
  • रविवार, 26 मार्च 2017
  • +

चीन को साधने के लिए अमेरिका भारत को बेच सकता है एफ-16 फाइटर जेट

Trump administration asked to push for sale of F-16 fighter jets to India
  • शनिवार, 25 मार्च 2017
  • +
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top