आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Irshaad ›   Renowned Hindi poet Baba Nagarjun best poem

इरशाद

वीडियो कविता : नागार्जुन- कई दिनों तक चूल्हा रोया, चक्की रही उदास

काव्य डेस्क, नई दिल्ली

438 Views
बाबा नागार्जुन हिन्दी काव्य जगत के एेसे  सितारे थे, जिन्होंने फ़क़ीरी और बेबाक़ी से अपनी अनोखी पहचान बनाई। कबीर की पीढ़ी के महान कवि नागार्जुन की यह कविता 'अकाल'  से उपजी हुई स्थितियों पर आधारित है।
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!