आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

हथियारों का नया गढ़ बना खुरगान, दभेड़ी खुर्द

ब्यूरो/अमर उजाला, शामली

Updated Sat, 14 Jan 2017 12:03 AM IST
Create new defenses Khurgan weapons, Dbedi Khurd

crimePC: अमर उजाला ब्यूरो

शामली। मुजफ्फरनगर के जौला और मध्यप्रदेश के मुंगेर के बाद कैराना के तमंचे देेशभर में सप्लाई होने लगे हैं। दभेड़ी खुर्द और खुरगान तमंचा फैक्ट्रियों का गढ़ बन गया है। जिससे एक बार फिर हथियारों की सप्लाई को लेकर कैैराना सुर्खियों में आ गया है।  तमंचा फैक्ट्र्ी पकड़े जाने के बाद पूरे जोन में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है।
कैैराना में पाकिस्तान से हथियारों की सप्लाई आती रही है, जिसके चलते कैराना बदनाम रहा है। समय-समय पर कैराना से जुड़े लोग बार्डर पर हथियारों के साथ पकड़े जा चुके हैं। इसके साथ तीन साल पूर्व ही कैराना यमुना पुल पर आठ पिस्टल तितरवाड़ा निवासी युवक से पकड़ी गई थी। 

इसके साथ ही मुजफ्फरनगर का जोला गांव भी तमंचा बनाने के लिए मशहूर है। कैराना में करीब चार साल पूर्व कैराना में अस्पताल के सामने तमंचा फैक्ट्री पकड़ी गई। उसके बाद पूर्व में खादर में भी कार्रवाई गई, लेकिन बावजूद इसके खादर के कुछ युवा इसके रंग में रंगते चले गए। 

 खुरगान में पकड़ी गई तमंचा फैक्ट्री में यह बात साबित करने के लिए काफी है कि कैराना क्षेत्र में कितने बड़े स्तर पर तमंचा फैक्ट्री चलाई जा रही है। घटना के बाद से पुलिस प्रशासन भी चौकन्ना हो गया है। वहीं, हालांकि पुलिस अभी भी अभियान चलाए जाने की बात कह रही है। इतनी बड़ी मात्रा में हथियारों की खेप मिलने पर एक बार फिर कैराना सुर्खियों में है। 

वैल्डिंग मशीन, बोर मशीन, फैक्ट्री शुरू 
तमंचा बनाने की फैक्ट्री के लिए ज्यादा सामान की भी जरूरत नहीं होती है। बताया जाता है कि इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी वैल्डिंग मशीन, शिकंजा, बोर करने के लिए बोर मशीन और अन्य छोटे उपकरण चाहिए होते हैं। इनको खेत के बीच में भी रखा जा सकता है। 

खुरगान और दभेड़ी खुर्द के कई लोग हैं शामिल
पुलिस सूत्रों के अनुसार इन दोनों गांव के कई युवा इस धंधे में लिप्त है। सूत्रों के अनुसार तमंचा बनाने का धंधा सबसे सस्ता है। एक तमंचा बनाने में महज चार सौ से पांच सौ तक का खर्चा आता है। जबकि तमंचा पांच हजार तक बिक जाता है। इसी कारण दोनों गांवों के जंगल में अभी भी इस तरह की छोटी-छोटी फैक्ट्रियां संचालित है। 

हरियाणा से लेकर यूपी के कई जिलों में नेटवर्क 
पुलिस सूत्रों की माने तो पकड़ी गई हथियार की फैक्ट्री से जुड़े लोगों का नेटवर्क हरियाणा से लेकर यूपी के कई जिलों तक फैला है। समय-समय पर वहां के लोग आकर यहां से तमंचा ले जाते थे। 
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

crime

स्पॉटलाइट

शाहरुख के करियर की 'कमजोर कड़ी' रहेंगी ये 10 फिल्में

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

सर्दियों में भी हो जाते हैं पसीना-पसीना, ध्यान दें इन बातों पर

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

गर्लफ्रेंड से मसखरी करना इस लड़के को पड़ा भारी, लड़की ने लिया गजब का बदला

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

WWE चैंपियन और उनकी पत्नी के साथ ऐसी हुई अनहोनी, काफी कुछ लुट गया!

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

इस बीमारी के चलते आधी रात को सड़क पर भागने लगी थीं परवीन बाबी, आखिरी दिनों में ऐसी हो गई थी हालत

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

Most Read

सपा का लोगो लगी कार से चिल्लाई लड़की, ‘पुलिस-पुलिस बचाओ ये मुझे मार डालेगा’

on toll plaza young man arrested
  • रविवार, 15 जनवरी 2017
  • +

गुजरात: NH-8 पर टेंपो से टकराई कार, 6 लोगों की मौत

six dead in accident on national highway eight
  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

मऊ जिला जेल में डीएम ने मारा छापा, मिला कंडोम का रैपर

Mau district jail DM found condom wrappers
  • मंगलवार, 17 जनवरी 2017
  • +

छात्रा को अश्लील मैसेज भेजने वाला निकला उसका टीचर

teacher arrested for vulgar message and photos in lucknow
  • गुरुवार, 19 जनवरी 2017
  • +

दुष्कर्म के आरोप में मुस्लिम धर्म गुरु को हुई जेल

muslim dharm guru get prison in the charge of jail
  • शुक्रवार, 13 जनवरी 2017
  • +

वाराणसी में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, नेता गिरफ्तार

election coordinating leader caught nude with girl
  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top