आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

हथियारों का नया गढ़ बना खुरगान, दभेड़ी खुर्द

ब्यूरो/अमर उजाला, शामली

Updated Sat, 14 Jan 2017 12:03 AM IST
Create new defenses Khurgan weapons, Dbedi Khurd

crimePC: अमर उजाला ब्यूरो

शामली। मुजफ्फरनगर के जौला और मध्यप्रदेश के मुंगेर के बाद कैराना के तमंचे देेशभर में सप्लाई होने लगे हैं। दभेड़ी खुर्द और खुरगान तमंचा फैक्ट्रियों का गढ़ बन गया है। जिससे एक बार फिर हथियारों की सप्लाई को लेकर कैैराना सुर्खियों में आ गया है।  तमंचा फैक्ट्र्ी पकड़े जाने के बाद पूरे जोन में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है।
कैैराना में पाकिस्तान से हथियारों की सप्लाई आती रही है, जिसके चलते कैराना बदनाम रहा है। समय-समय पर कैराना से जुड़े लोग बार्डर पर हथियारों के साथ पकड़े जा चुके हैं। इसके साथ तीन साल पूर्व ही कैराना यमुना पुल पर आठ पिस्टल तितरवाड़ा निवासी युवक से पकड़ी गई थी। 

इसके साथ ही मुजफ्फरनगर का जोला गांव भी तमंचा बनाने के लिए मशहूर है। कैराना में करीब चार साल पूर्व कैराना में अस्पताल के सामने तमंचा फैक्ट्री पकड़ी गई। उसके बाद पूर्व में खादर में भी कार्रवाई गई, लेकिन बावजूद इसके खादर के कुछ युवा इसके रंग में रंगते चले गए। 

 खुरगान में पकड़ी गई तमंचा फैक्ट्री में यह बात साबित करने के लिए काफी है कि कैराना क्षेत्र में कितने बड़े स्तर पर तमंचा फैक्ट्री चलाई जा रही है। घटना के बाद से पुलिस प्रशासन भी चौकन्ना हो गया है। वहीं, हालांकि पुलिस अभी भी अभियान चलाए जाने की बात कह रही है। इतनी बड़ी मात्रा में हथियारों की खेप मिलने पर एक बार फिर कैराना सुर्खियों में है। 

वैल्डिंग मशीन, बोर मशीन, फैक्ट्री शुरू 
तमंचा बनाने की फैक्ट्री के लिए ज्यादा सामान की भी जरूरत नहीं होती है। बताया जाता है कि इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी वैल्डिंग मशीन, शिकंजा, बोर करने के लिए बोर मशीन और अन्य छोटे उपकरण चाहिए होते हैं। इनको खेत के बीच में भी रखा जा सकता है। 

खुरगान और दभेड़ी खुर्द के कई लोग हैं शामिल
पुलिस सूत्रों के अनुसार इन दोनों गांव के कई युवा इस धंधे में लिप्त है। सूत्रों के अनुसार तमंचा बनाने का धंधा सबसे सस्ता है। एक तमंचा बनाने में महज चार सौ से पांच सौ तक का खर्चा आता है। जबकि तमंचा पांच हजार तक बिक जाता है। इसी कारण दोनों गांवों के जंगल में अभी भी इस तरह की छोटी-छोटी फैक्ट्रियां संचालित है। 

हरियाणा से लेकर यूपी के कई जिलों में नेटवर्क 
पुलिस सूत्रों की माने तो पकड़ी गई हथियार की फैक्ट्री से जुड़े लोगों का नेटवर्क हरियाणा से लेकर यूपी के कई जिलों तक फैला है। समय-समय पर वहां के लोग आकर यहां से तमंचा ले जाते थे। 
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

crime

स्पॉटलाइट

'अनारकली ऑफ आरा' का ट्रेलर हुआ रिलीज, स्वरा भास्कर जीत लेंगी दिल

  • शुक्रवार, 24 फरवरी 2017
  • +

अब देसी गर्ल नहीं रहीं प्रियंका, हॉलीवुड जाने के बाद हो गईं हैं बोल्ड, तस्वीरें दे रहीं गवाही

  • शुक्रवार, 24 फरवरी 2017
  • +

भगवान श‌िव को नहीं हैं पसंद ये चीज, महा श‌िवरात्र‌ि पर न चढ़ाएं श‌िव जी को

  • शुक्रवार, 24 फरवरी 2017
  • +

भगवान शिव को धतूरा, भांग और जल क्यों सबसे अध‌िक प्र‌िय है

  • शुक्रवार, 24 फरवरी 2017
  • +

शुक्रवार को शिवरात्रि, इन उपायों से खुलेगा किस्मत का ताला

  • शुक्रवार, 24 फरवरी 2017
  • +

Most Read

साढ़े चार किलो चरस के साथ महिला गिरफ्तार, चालक फरार

Four kg charas seized from woman smuggler in Hamirpur Himachal Pradesh
  • शुक्रवार, 24 फरवरी 2017
  • +

ईवीएम के साथ सेल्फी लेना पड़ा महंगा, सपा नेता के खिलाफ मुकदमा

sp leader sue
  • गुरुवार, 23 फरवरी 2017
  • +

ईवीएम की सुरक्षा में रखे गए लंगूर मालिक की हत्या, प्रशासन सहित प्रत्याशियों में मचा हड़कंप

Baboon boss killing in Security of EVM, Candidates, including administration created a stir
  • शुक्रवार, 17 फरवरी 2017
  • +

वोट डालकर घर जा रहे अधेड़ की पत्थरों से कुचलकर नृशंस हत्या

murder in fatehpur
  • गुरुवार, 23 फरवरी 2017
  • +

किशोरी से गैंगरेप के बाद फेसबुक पर डाला वीडियो

Video posted on Facebook after the rape teenager
  • बुधवार, 22 फरवरी 2017
  • +

शादी के बाद ससुराल जा रही दो दूल्हनें कैंट स्टेशन से हुईं फरार

two bride ran away from cantt railway station
  • गुरुवार, 23 फरवरी 2017
  • +
TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top