आपका शहर Close

फिर वहीं नजर आया बाघ

Pilibhit

Updated Sun, 09 Sep 2012 12:00 PM IST
पूरनपुर/माधोटांडा। जटपुरा में शुक्रवार की शाम बाघ किसान पर झपटा मगर, शोर पर खेतों में चला गया। शनिवार को जटपुरा और माधोटांडा-पूरनपुर रोड पर वहीं बाघ देखा गया, जहां उसने दो दिन पहले एक महिला को मार डाला था। ट्रैंकुलाइज एक्सपर्ट ने तीन घंटे तक मशक्कत की मगर बाघ की लोकेशन न मिलने पर अभियान बंद कर दिया गया।
टीमों ने जटपुरा, हरीपुर, अमरैयाकलां, रुरिया सलेमपुर, खमरिया आदि गांवों के समीप बाघ के पद चिन्ह तलाशे। वन विभाग की टीमों को बाघ के पदचिन्ह तो नहीं मिले, लेकिन बाघ ने शाम को गांव जटपुरा के पूरब गांव के ही कल्लू पर उस समय हमले का प्रयास किया, जब वह साइकिल से घर लौट रहा था। कल्लू ने मचान पर चढ़कर अपनी जान बचाई। उधर गांव गुलाबटांडा के रामकरन ने माधोटांडा-पूरनपुर मार्ग पर बाघ को झाड़ियों से निकलकर सड़क पार करते देखा। सूचना पर शाहजहांपुर के डीएफओ एपी सिन्हा, सामाजिक वानिकी के डिप्टी रेंजर एसके वर्मा ट्रैंकुलाइज टीम के साथ मौके पर पहुंचे। एक्सपर्ट डॉ. उत्कर्ष शुक्ला, डॉ. सौरभ सिंघई ने अलग-अलग वाहनों पर सवार होकर झाड़ियों में बाघ की तलाश की। झाड़ियों में पटाखे दागे, डेले भी फेंके गए मगर, वह नजर न आया। इस पर अभियान रोक दिया गया।
शेरपुरकलां प्रतिनिधि के अनुसार शनिवार की सुबह जटपुरा मार्ग पार कर रहे बाघ पर गांव जटपुरा के केसरी की नजर पड़ी, तो वह चीख पड़ा। शुक्रवार की रात को बाघ गन्ने के खेतों में होने की सूचना पर टरक्वाइज वाइल्ड लाइफ कंजर्वेशन सोसायटी के अध्यक्ष अख्तर मियां और खुसरो खां ने अपनी टीम के साथ पहुंचकर पटाखे दागे।

00
झाड़ियां कटवाने की मांग को लेकर डीएफओ को घेरा
पूरनपुर। माधोटांडा-पूरनपुर मार्ग की झाड़ियों को कटवाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने डीएफओ शाहजहांपुर का घेराव किया। डीएफओ का कहना था कि लोगों का सहयोग मिलने पर ही बाघ को शीघ्र ट्रैंकुलाइज किया जा सकता ह।
0000000000
लोकेशन जानने को हाथियों की ली मदद
पूरनपुर। टीमों के अलावा कुछ कर्मचारियों ने हाथियों पर चढ़कर बाघ की लोकेशन जानने को प्रयास किया। हरीपुर के रेंजर जगन्नाथ प्रसाद ने बताया कि बाघ की लोकेशन जानने को टीमों को चारों ओर भेजा गया, लेकिन बाघ की लोकेशन नहीं मिल सकी।
विषम परिस्थितियों में बाहर आ रहे बाघ
पूरनपुर। शाहजहांपुर के डीएफओ एपी सिन्हा, सामाजिक वानिकी के एसडीओ आरपी सिंह, ट्रैंकुलाइज एक्सपर्ट डॉ उत्कर्ष शुक्ला, डॉ सौरंभ सिंघई, डब्ल्यूटीआई के डॉ प्रेमचंद पांडेय, बाघ विशेषज्ञ आफताब ने बताया कि बाघ की एक टेरीटोरी (चिन्हित सीमा) होती है जिसे छोड़कर बाघ नहीं जाता। बाघ बुड्ढा होने, बीमार होने, बाघिन गर्भवती और बच्चों को जन्म देने के बाद अपनी सुरक्षा और आसानी से शिकार की तलाश में जंगल के बाहर आती है। विशेषज्ञों ने बताया कि बाघ को अगर अपने ऊपर हमले की आशंका न हो तब कभी मानव पर हमला नहीं करता। हालांकि झुके होने, शौच को बैठने आदि कार्यों के लिए बैठा होने पर बाघ पशु के धोखे मेें मानव पर हमला कर देता है।
00000
शावकों के साथ बाघिन और दो बाघ भी हैं बाहर
एक्सपर्ट डॉ. सौंरभ सिंघई ने बताया कि क्षेत्र में जंगल के बाहर एक बाघ तो एक बाघिन शावकों के साथ है। डीएफओ एपी सिन्हा ने बताया कि बाघिन शावकों के साथ बराही रेंज जंगल से शिकार को निकलकर शाम को दिन में जंगल को लौट रही है। जंगल में किस जगह से बाघिन निकलती है कि तलाश की जा रही है। माधोटांडा क्षेत्र में शावकों के साथ एक तेंदुआ घूम रहा है, जबकि गजरौला क्षेत्र में दो बाघ जंगल से बाहर है।
3
बाघ पकड़ने की रणनीति
पूरनपुर। एक्सपर्ट्स ने बाघ फंसाने की रणनीति बना ली है। उनका दावा है कि किसी भी दिन बाघ निश्चित रूप से फंस जाएगा। एक्सपर्ट्स की बनाई रणनीति पर एक नजर:
00
अधखाए शिकार से फंसेगा बाघ
डीएफओ एपी सिन्हा ने बताया कि बाघ को लुभाने को रात भी मालिन कुइया क्षेत्र में खुले में पड्डा बांधा गया ताकि बाघ उसे अपना निवाला बनाए। दुबारा शिकार पिंजरे में रखा जाएगा ताकि बाघ पिंजरे मेें घुसे और पकड़ लिया जाए। इसके अलावा मचान बनाकर बाघ को ट्रैंकुलाइज करने की योजना है।
00000
लोकेशन को बनाई गई है छह टीमें
डीएफ ओ एपी सिन्हा ने बताया कि बाघ की लोकेशन को छह टीमें लगाई गई है। टीमों की 12-12 घंटे की शिफ्ट में ड्यूटी लगाई गई है।
00000
आदमखोर नहीं है बाघ : शुक्ला
ट्रैंकुलाइज एक्सपर्ट डॉ उत्कर्ष शुक्ला ने बताया कि आदमखोर बाघ केवल मानव का ही शिकार करता है। इसके लिए हमले को वह नहीं डरता। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में बाघों ने मानव पर हमले तो किए हैं, लेकिन इसके अलावा पशुओं को भी अपना निवाला बना रहे हैं।
4
बकरी मरे तो मिलेंगे मात्र 190 रुपये
एक एकड़ फसल क्षतिग्रस्त होने पर मात्र तीन हजार
बजट पास नहीं तब कैसे चल रहा अभियान
अमर उजाला नेटवर्क
पूरनपुर। वन विभाग ने करीब दो दशक पूर्व वन्य जीवों के हमले से मुआवजा की दरें निर्धारित की थी। इसके अनुसार अगर बकरी बाघ का निवाला वन गई है तब बकरी पालक को अब भी मात्र 190 रुपये की मुआवजा मिलेगा। मानव की जान जाने पर परिजनों को एक लाख रुपये, अंग नष्ट होने पर चालिस हजार और गंभीर रूप से घायल होने पर मात्र दस हजार रुपये देने का प्रावधान है। फसल नष्ट होती है तब तीन हजार रुपये प्रति एकड़ की दर से ही भुगतान किया जाएगा।

00000
सावधानियां बरतने की यह है अपील
1. प्रात: और सायं को अकेले न घूमें।
2. बच्चों को अपनी देख-रेख में रखें।
3. शौच को घर से बहुत दूर तथा अकेले न जाए।
4. संभव हो तो घर मेें ही शौचालय का प्रयोग करें।
5. हिंसक वन्य जीवों के दिखाई देने पर उन्हें घेरने या मारने का प्रयास कदापि न करें।
6. खेतों में मरे हुए शिकार के दिखाई देने पर उसके करीब न जाएं तथा शीघ्र इसकी सूचना दें।
7. खेतों में फसल कटाई का कार्य समूह में करें।
8. पालतू पशुओं को घर के निकट तथा समूह में ही रखें।
9. घर की दीवारों (टटिया) तथा दरवाजे, खिड़कियों (फरसा) को यथासंभव मजबूत बनाएं।
10. मंदिरा पान करके घर से बाहर न जाएं, यदि बाहर है तो सायं काल से पहले घर पहुंचने का प्रयास करें।
11. घर के आसपास की झाड़ियों को नियमित साफ करते रहें।
12. रात को अगर घर से बाहर निकलना है तब टार्च या अन्य रोशनी के साथ निकले।
Comments

Browse By Tags

eye tiger

स्पॉटलाइट

दिवाली पर पटाखे छोड़ने के बाद हाथों को धोना न भूलें, हो सकते हैं गंभीर रोग

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

इस एक्ट्रेस के प्यार को ठुकरा दिया सनी देओल ने, लंदन में छुपाकर रखी पत्नी

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

...जब बर्थडे पर फटेहाल दिखे थे बॉबी देओल तो सनी ने जबरन कटवाया था केक

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

'ये हाथ नहीं हथौड़ा है': सनी देओल के दमदार डायलॉग्स, जो आज भी हैं जुबां पर

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

मां लक्ष्मी को करना है प्रसन्न तो आज रात इन 5 जगहों पर जरूर जलाएंं दीपक

  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

Most Read

पार्टी हाईकमान से नाराजगी, भाजपा में इस्तीफों की लग गई झड़ी

Hamirpur bjp mandal president resign
  • मंगलवार, 17 अक्टूबर 2017
  • +

दीपावली पर सैफई में एकजुट दिखा पूरा ‘यादव परिवार’, मुलायम-रामगोपाल के बीच हुई 'गुप्त मंत्रणा'

Mulayam family came together in Saifai
  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

ताजमहल पर्यटन का एक बेहतरीन केंद्र, पर्यटकों के लिए सीएम योगी ने बनाई खास योजना

Chief Minister Yogi Adityanath visits Hanumangarhi Temple in Ayodhya of Uttar Pradesh
  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

अयोध्या के संत समाज ने मिलकर कराया कार्यक्रम, सरकार ने नहीं दिया पैसा: सीएम योगी

ayodhya programme was organised by sant samaj
  • गुरुवार, 19 अक्टूबर 2017
  • +

1.71 लाख दीपों से आलोकित हुई अयोध्या, गिनीज बुक में दर्ज हो सकता है रिकॉर्ड

ayodhya may get its name in guinness book of world record.
  • बुधवार, 18 अक्टूबर 2017
  • +

जब बदमाशों को पकड़ने के लिए AK-47 लेकर कीचड़ में दौड़े SSP

to caught goons in ranchi ssp of police jumped into mud with Ak-47 
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!