आपका शहर Close

संक्रामक रोगों ने दो दस्तक

Pilibhit

Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
सरकारी और निजी अस्पतालों में बढ़ी रोगियों का भीड़
बाढ़ पीड़ितों को बचाने के इंतजाम भी अधूरे

पीलीभीत। बारिश के साथ उमस भरी गर्मी से जिले में संक्रामक रोग तेजी से बढ़ रहे हैं। संक्रामक रोगियों की भारी भीड़ जिला अस्पताल के अलावा प्राइवेट अस्पतालों पर उमड़ रही है। बाढ़ पीड़ितों को संक्रामक रोगों से बचाने के लिए सेहत महकमे ने कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए हैं।
बरसात के मौसम में खासतौर पर पेट दर्द, बुखार, उल्टी-दस्त और संक्रामक रोग आई फ्लू, वायरल बुखार और वायरल डायरिया, पीलिया, मलेरिया और दिमागी बुखार समेत कई प्रकार के पनपने लगते हैं। जिला अस्पताल की ओपीडी में वायरल बुखार, डायरिया और आई फ्लू, कामन फ्लू (जुकाम) आदि से ग्रसित रोगियों की भीड़ उमड़ रही है। यही आलम जिले के प्राइवेट अस्पतालों का भी है। जिले का अधिकांश हिस्सा हर साल शारदा, देवहा और खकरा नदी की बाढ़ की चपेट में आ जाता है। इन दिनों शारदा के उफान से हजारा क्षेत्र के नहरोसा, कंबोजनगर, राणाप्रताप नगर समेत कई गांव जलमग्न हैं। पानी घटने और बढ़ने के साथ बाढ़ प्रभावित गांवों में संक्रामक रोगों के फैलने की आशंका बढ़ जाती है। कई बाढ़ प्रभावित गांवों में लोग उल्टी, दस्त और बुखार से पीड़ित हैं, लेकिन इनके नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य महकमे ने कोई तैयारियां नहीं की हैं। प्रशासन ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में बाढ़ चौकियां तो स्थापित की हैं। इन चौकियों पर सेहत महकमे ने संक्रामक रोगों से निपटने की कोई व्यवस्था नहीं की है। इस संबंध में सीएमओ डॉ राकेश तिवारी से पूछने का प्रयास किया गया, तो उन्होंने सेलफोन की काल डिसकनेक्ट कर दी।

बिलसंडा में वायरल मलेरिया रोगी बढ़े

बिलसंडा। वायरल और मलेरिया फीवर से पीड़ित मरीजों की संख्या में हर रोज इजाफा हो रहा है। क्षेत्र का ऐसा कोई गांव नहीं है जिसमें दर्जनों की तादात में लोग इस रोग से पीड़ित न हाें। अस्पताल में हर रोज 300 सौ से 400 सौ बुखार से पीड़ित मरीज दवा लेने पहुंच रहे हैं तमाम मरीज गांव के ही झोलाछाप से इलाज कराने को मजबूर हैं। पीड़ितों का कहना है कि पहले ठंड लगकर बुखार आता है और शरीर में ऐंठन शुरू हो जाती है। यह बुखार आठ से दस दिन तक रहता है। सीएचसी अधीक्षक डॉ सीएम चतुर्वेदी का कहना है कि यह वायरल और मलेरिया फीवर गंदगी और बदलते मौसम के कारण फैल रहा है। इसके बचाव के लिए सावधानी बरतने की जरूरत है।

वायरल फीवर से बचाव के उपाय
-----------------------
1. मकान के आसपास गंदगी न फैलने दें
2. जलभराव न होने दें
3. मच्छर दानी लगाकर सोएं
4. असर दिखाई देने पर पैरासीटामाल टेबलेट खाएं

डायरिया से बचाव के उपाय
1. कटे हुए फल न खाएं
2. बांसी भोजन न करें
3. पानी उबाल कर पिएं
4. खुले में शौच न करें

Comments

Browse By Tags

स्पॉटलाइट

शादीशुदा हैं मल्लिका शेरावत, फिल्में छोड़ विदेश में संभाल रहीं ब्वॉयफ्रेंड की अरबों की संपत्ति

  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

क्या वाकई आपका पसंदीदा तकिया आपको बीमार कर रहा है, जानें कैसे

  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

एक ऐसा परिवार, 100 खतरनाक जानवर करते हैं इसकी रखवाली

  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

बाल झड़ने की वजह से लड़कियां पास न आएं तो करें मेथी का यूं इस्तेमाल

  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

सलमान खान के लिए असली 'कटप्पा' हैं शेरा, एक इशारे पर कार के आगे 8 km तक दौड़ गए थे

  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

Most Read

एक्सप्रेसवे पर IAF का शक्ति प्रदर्शन, सुपर हरक्यूलिस लैंड, मिराज ने किया टचडाउन

air force perform operational exercise on Lucknow-Agra express way
  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

ऐसी सजा देंगे कि पीढ़ियां भूल जाएंगी नौकरी करनाः सीएम योगी

Give punishment that generations will forgetto do job
  • सोमवार, 23 अक्टूबर 2017
  • +

पापा दिल्ली नहीं गए, मम्मी और अंकल ने उन्हें मार दिया

Papa did not go to Delhi, mummy and Uncle killed them
  • सोमवार, 23 अक्टूबर 2017
  • +

शांता के घर की दहलीज पर सिर रखकर रोए प्रवीण, बोले - गुरु जी माफ करना

ex mla praveen kumar meet shanta kumar in palampur
  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

दिल्ली के कमला मार्केट में भीषण आग, 100 दुकानें चपेट में

Fire broke out in delhi Kamla Market in monday night. At least 100 shops affected 
  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +

IAF के ऑपरेशनल अभ्यास को तैयार एक्सप्रेस-वे, जम्बो हरक्यूलस ने की लैंडिंग

Air Force operational practice will be on Express-Way
  • मंगलवार, 24 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!