आपका शहर Close

सीटों के चार गुने छात्र दाखिले की लाइन में

Pilibhit

Updated Fri, 13 Jul 2012 12:00 PM IST
पीलीभीत। इंटरमीडिएट पास आउट सभी छात्र-छात्राओं को डिग्री कॉलेजों में प्रवेश नहीं मिल पाएंगे। वजह यह है कि सीटें कम और छात्र-छात्राओं की संख्या अधिक है। जितनों को प्रवेश मिलेंगे उनकी पढ़ाई के लिए भी संसाधनों का अभाव है। इस दिशा में कोई ठोस प्रयास न होने के कारण शिक्षण कार्य बुरी तरह प्रभावित रहेगा।
इस वर्ष जिले के करीब 20 हजार परीक्षार्थियों ने इंटरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण की है और स्नातक कक्षाओं में प्रवेश के लिए जिले के आठ डिग्री कॉलेजों में सिर्फ 3530 सीटें हैं। इनमें से उपाधि महाविद्यालय में बीए के लिए 640, बीएससी की 240 और बीकाम की 160 सीटें हैं। राम लुभाई साहनी राजकीय महिला महाविद्यालय में बीएससी की 160 और बीकाम की 80 सीटें हैं। जेएमबी डिग्री कॉलेज में बीए की 420 और बीए होम साइंस की 120 सीटें हैं। पुष्प इंस्टीट्यूट में बीएससी होमसाइंस की 120 सीटें हैं। जबकि राजकीय डिग्री कॉलेज बीसलपुर में बीए की 560 और बीए की 160, यहीं के शफी डिग्री कॉलेज में बीकाम की 70, पूरनपुर के गन्ना कृषक महाविद्यालय में बीए की 640 और यहीं के स्वामी एजूकेशनल इंस्टीट्यूट में बीकाम की 160 सीटें हैं। इस तरह कुल मिलाकर जिले भर में बीए की 2260, बीएससी की 560, बीकाम की 470, बीए होमसाइंस 120 और बीएससी होमसाइंस की 120 सीटें हैं। यानी 3530 सीटों पर ही छात्र-छात्राओं को प्रवेश मिलने की गुंजाइश है। बाकी को प्राइवेट परीक्षा देने के लिए तैयार होना पड़ेगा। डिग्री कॉलेजों में सीटें बढ़ाने की मांग छात्र संगठन काफी समय से कर रहे हैं।
0000
अब तक बिके 12 हजार फार्म
शहर के उपाधि महाविद्यालय में प्रवेश के लिए सबसे अधिक मारामारी है। यहां अब तक छह हजार फार्मों की बिक्री हो चुकी है। राम लुभाई साहनी राजकीय महिला महाविद्यालय में करीब 450, जेएमबी डिग्री कॉलेज में 680 फार्म बिक चुके हैं। सबसे अधिक छात्र-छात्राएं फार्म पाने के लिए उपाधि महाविद्यालय पहुंच रहे हैं। जिले के अन्य कॉलेजों को मिलाकर करीब 12 हजार फार्मों की बिक्री की जा चुकी है।
0000
जल्द आएंगे और फार्म
उपाधि महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ पीके सिंह का कहना है कि विश्वविद्यालय से फार्म विलंब से और डिमांड के अनुरूप कम मिलने से कुछ दिक्कतें आईं। उन्होंने बताया कि और फार्मो की डिमांड की गई है।
0
चल रही है सीटें बढ़ाने की कवायद
कॉलेजों में सीटें बढ़ाने और सांय कालीन कक्षाओं केे संचालन की मांग काफी समय से की जा रही है। क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. देवराज शर्मा का कहना है कि शासन में सीटें बढ़ाने की मांग विचाराधीन है।
Comments

Browse By Tags

student admissions

स्पॉटलाइट

दूसरे बच्चे पर बोलीं रानी मुखर्जी, 'कोशिश तो बहुत की पर लगता है बस मिस हो गई'

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

Bigg Boss 11: ये क्या! तौलिया पहन सबके सामने आ गईं अर्शी खान, वीडियो वायरल

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

शाहिद कपूर की बीवी का ये अंदाज जीत लेगा आपका दिल, नीले रंग की साड़ी में दिखीं स्टाइलिश

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

वूलन टॉप के हैं दीवाने तो घर पर ऐसे बनाएं शॉर्ट स्लीव मिनी टॉप

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

नाहरगढ़ के किले से लटके शव पर आलिया बोलीं-ये क्या हो रहा है? चौंकाने वाला है

  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

Most Read

एक न्यूज एंकर ने कर दी ऐसी टिप्पणी कि समुदाय विशेष के लोगों ने यहां घेर लिया थाना, काटा हंगामा

peolpe unhappy about comment of a news anchor
  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

दयाल सिंह कॉलेज का नाम वंदेमातरम रखने पर भड़कीं केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर

harsimrat kaur joins dyal singh college name change dispute, says even in pakistan this college runs
  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

न्यूज चैनल के एंकर की विवादित टिप्पणी से समुदाय व‌िशेष के लोग भड़क गए

news channel anchor Rohit Sardana disputed statement
  • शनिवार, 25 नवंबर 2017
  • +

चित्रकूट ट्रेन हादसे पर सीएम योगी ने जताया दुख, पीड़ितों को मुआवजे का ऐलान

vasco da gama patna express train derailed in chitrakoot near banda up
  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

हनीमून से पहले नूपुर ने पूछे कई सवाल? भुवनेश्वर ने अपने अंदाज में दिए जवाब

Nupur asked many questions before the honeymoon? Bhuvneshwar responds in his own style
  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

 अभिनेता राजपाल की बेटी को आज ब्याहने जाएंगे संदीप, ये होंगी खास बातें

Sandeep will go to marry Rajpal's daughter
  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!