आपका शहर Close

ताजियों के जुलूस में सोगवारों ने किया मातम

Meerut

Updated Mon, 26 Nov 2012 12:00 PM IST
मेरठ। मोहर्रम की दसवीं तारीख को हजरत इमाम हुसैन और करबला के शहीदों की याद में ताजियों का जुलूस निकाला गया। हुसैनी सोगवारों ने पुरजोर मातम किया।
छोटी करबला चौड़ा कुआं घंटाघर से रविवार दोपहर ताजिये और जुलजुनाह का बड़ा जुलूस निकाला गया। यह वक्फ मनसबिया, घंटाघर, रेलवे रोड चौपला, ईदगाह चौराहा होते हुए करबला मनसबिया रेलवे रोड पहुंचा। काले लिबास पहले हजारों हुसैनी सोगवार जुलूस में शामिल रहे।
छोटी करबला से निकले जुलूस में तंजीम-ए-अब्बास के अतीकुल हसनैन, दारैन जैदी और अंजुमन इमामिया के वाजिद अली गप्पू, सफदर अली, दस्ताए हुसैनी के हुमायूं अब्बास ताबिश, इरफान हुसैन ने दर्द भरे नौहे पढ़े। घंटाघर पर दारैन जैदी ने नौहा पढ़ा ‘या अब्बास या अब्बास, आ गया भारत में अलम अब्बास का, हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई आपस में हैं भाई-भाई, सब के सीने में है गम अब्बास का, देता मुरादें सब को अलम अब्बास का’। बंजारों की टोली भी मातम करती चल रही थी। घंटाघर पर अंजुमन पैगामे करबला के बैनर तले मौलाना मौहम्मद अली ने इमाम हुसैन और उनके साथियों की कुर्बानी बयान की। अलहाज सैयद शाह अब्बास, अंसार हुसैन रिजवी,
फजल हसनैन जैदी, सैयद तालिब अली जैदी, सरदार हुसैन, महताब जैदी, मंजर जाफरी, मोजिज रजा, अली हैदर रिजवी, अकबर अली, नियाज हुसैन गुड्डू, हामिद अली, नाजिर हुसैन, जिया जैदी आदि मौजूद रहे। करबला पहुंचकर अलविदाई नौहे पढ़े गए। इसके बाद ताजिये और तबर्रुकात दफन किए गए।
इमाम बारगाह करीम बख्श से बरामद हुआ ताजिया जाटव गेट पुलिस चौकी से होकर वापस इमाम बारगाह पहुंचा। हसन अली मरहूम के अजाखाने जाहिदियान से अलम हजरत अब्बास बरामद हुआ, जो मोहनपुरी शाह विलायत पहुंचा। यहां शाने हसन, शमशाद अली, यूसुफ अली, बिलाल आदि मौजूद रहे।
जैदी फार्म इमाम बारगाह इश्तियाक हुसैन से जुलजुनाह और ताजिये का जुलूस बरामद हुआ, जो अब्बास पैलेस, शाह जलाल हॉल से होता हुआ जैदी सोसायटी करबला पहुंचा। अंजुमन फौजे हुसैनी के जावेद रजा, हसन मियां ने नौहे पढ़े। यहां मातम भी किया गया। रात में शास्त्रीनगर सेक्टर चार स्थित शाह जलाल हॉल से हुसैनी मिशन ने मशाल जुलूस निकाला, जो जैदी फार्म से करबला सोसायटी पहुंचा। आयोजन में नौशाद अली, सुहेल काजमी, खावर रजा, हैदर अब्बास आदि का सहयोग रहा।
अब्दुल्लापुर में एक कदीमी ताजिये का जुलूस अजाखाना असगर हुसैन से बरामद हुआ, जो मोहल्ला गढ़ी पहुंचा। दोपहर बाद अजाखाना शाकिर महल से जुलजुनाह का जुलूस बरामद हुआ। हसन मेहंदी, मौ. अब्बास, रोशन आदि ने करबला के शहीदों की याद में नौहे पढ़े। बस स्टैंड हुसैनी चौक पर सोगवारों ने जंजीरों से मातम किया। जुलूस में रजा अहमद, जफर अब्बास, नदीम आदि मौजूद रहे। रात में शामे गरीबा की मजलिस इमामबाड़ा कोट में हुई, जिसमें पूरी रात महिलाओं ने शब्बेदारी की। नायब अली ने बताया कि मजलिसों का यह दौर दो महीने तक जारी रहेगा।
सुन्नी समुदाय ने भी निकाला जुलूस
लालकुर्ती से रात में सुन्नी समुदाय की ओर से चौकियों का जुलूस निकाला गया। बकरी मोहल्ला, जामुन, मोहल्ला, मैदा मोहल्ला आदि से छोटी-बड़ी करीब दस चौकियां निकाली गईं। सबसे पहले चौकियों का गश्त लालकुर्ती में हुआ। इसके बाद जुलूस बेगमपुल, सोतीगंज, जलीकोठी चौपला होते हुए केसरगंज, रेलवे रोड चौराहा से गुजरते हुए देर रात ईदगाह चौपले पहुंचा। यहां से सभी चौकियां वापस लालकुर्ती लाई गईं।
फाका शिकनी
ताजिये दफन करने के बाद अलहाज सैयद काजिम हुसैन जैदी की ओर मनसबिया कॉलेज के हॉस्टल में फाका शिकनी का आयोजन हुआ। अलहाज सैयद इफ्तेखार हुसैन जैदी, रौशन जैदी, शाहिद हुसैन का सहयोग रहा।
बेहोश हुआ सोगवार
घंटाघर पर सोगवारों ने छुरियों से मातम किया। गंभीर रूप से जख्मी होने पर एक सोगवार बेहोश हो गया। उसे तुरंत जिला अस्पताल ले जाया गया। सूचना पर पहुंचे परिजन उसे प्राइवेट अस्पताल ले गए।

खैरनगर से ताजिया बरामद
खैरनगर से कदीमी जुलूस-ए-ताजिया बरामद हुआ। सुल्तान बाजे वाले और गुलाम जैनुल आबेदीन की देखरेख में जुलूस हाजी साहब कब्रिस्तान पहुंचा, जहां उसे दफनाया गया। इस दौरान फरदीन खान, दिलशाद, मौहम्मद अली, नजमुद्दीन कादरी, मौ. बिलाल आदि मौजूद रहे। खैरनगर से युवकों ने पटेबाजी का अखाड़ा भी निकाला।

तीन जुलूसों ने पुलिस के पसीने छुड़ाए
मेरठ। शहर में रविवार को एक साथ निकले तीन जुलूसों ने पुलिस के पसीने छुड़ा दिए। शांति और व्यवस्था बनाने के लिए पीएसी और आरएएफ के जवान जुलूस वाले रूटों पर मुस्तैद रहे।
रविवार को शिया समुदाय के लोगों ने मातमी जुलूस निकाला। घंटाघर से होकर जुलूस रेलवे रोड चौराहा और फिर ईदगाह चौराहे पर पहुंचा। इन तीनों स्थानों पर पुलिस ने घेराबंदी की हुई थी। दुपहिया वाहन भी निकलने नहीं दिए गए। इसके तुरंत बाद सिख समुदाय के लोगों ने नगर कीर्तन निकाला, जो थापरनगर से शुरू होकर महताब सिनेमा, रेलवे रोड चौराहा, ईदगाह चौपला, मेट्रो प्लाजा होते हुए गुरुनानक नगर पहुंचा। इसी रूट से तीसरा जुलूस सुन्नी समुदाय के लोगों का रहा। सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से सीओ कैंट, सीओ ब्रह्मपुरी ईदगाह चौराहे पर तैनात रहे। घंटाघर से जुलूस के साथ कोतवाली, देहली गेट और ब्रह्मपुरी पुलिस रही। एसपी सिटी ओमप्रकाश, नगर मजिस्ट्रेट और एसीएम प्रथम भी व्यवस्था का जायजा लेते रहे। वहीं इस दौरान घंटाघर पर मातमी जुलूस के दौरान लोगों ने एक युवक को जेब काटते दबोच लिया। उसे देहली गेट पुलिस को सौंप दिया है।
बड़ा मुबारक है ये महीना
मेरठ। मोहर्रम का महीना अरबी तारीख के मुताबिक इस्लाम में पहला महीना है। इस महीने को नबी करीम सल्लल्लाहूअलैहीवसल्लम ने अल्लाह का महीना बताया है। मौलाना मशहूदुर्रहमान जमाली ने बताया कि इसी महीने की दसवीं तारीख को यौमे आशुरा कहते हैं। इसी दिन हजरत इमाम हुसैन की शहादत हुई। इसी दिन अल्लाह ने दुनिया के पहले पैगंबर हजरत आदम (अलै.) को पैदा किया। इसी दिन अल्लाह ने हजरत मूसा (अलै.) को फिरऔन बादशाह के जुल्म से निजात दिलाई थी।
जुलूसों से जाम हुआ शहर
मेरठ। शहर रविवार को ‘जाम नगर’ बना रहा। तमाम प्रमुख मार्ग और चौराहों पर दिनभर यातायात थमता रहा। जाम का सामना कम ही करने वाले कैंट एरिया में भी हालात जुदा नहीं थे।
रविवार को शहर में कई जुलूस निकले। सबसे बड़ा जुलूस छोटी करबला चौड़ा कुआं और इमामबाड़ा मनसबिया से शुरू होकर घंटाघर, मेनका सिनेमा से होकर मनसबिया रेलवे रोड चौपला से ईदगाह चौराहा की तरफ गया। लालकुर्ती से रात में चौकियों का जुलूस निकला, जो सोतीगंज, केसरगंज, रेलवे रोड चौराहा होते हुए ईदगाह हाजी साहब कब्रिस्तान पहुंचा।
जाहिदियान से भी जुलूस पैंठ एरिया, इंद्रा चौक, मोहनपुरी होकर शाह विलायत कब्रिस्तान पहुंचा। इन रूटों से ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया गया था। इसके चलते घंटाघर से नाला पटरी मार्ग के रास्ते कबाड़ी बाजार की ओर तथा दूसरी तरफ ईदगाह चौराहे की तरफ जाने वाली गलियों में वाहनों का जमावड़ा रहा। सोतीगंज से कैंट एरिया की ओर जाने वाली सड़क भी जाम रही। रूट डायवर्जन के कारण बेगमपुल, बागपत अड्डा, हापुड़ अड्डा, ईव्ज चौराहा, बुढ़ाना गेट पर भी यातायात थमा रहा। रात में शादी समारोहों के कारण हालात बेकाबू हो गए। सड़कों पर वाहन रेंगते नजर आए। यातायात पुलिस कहीं नजर नहीं आई, लेकिन थानों की पुलिस जरूर मशक्कत करती दिखी।
यात्री पैदल
दिल्ली रोड पर रूट डायवर्जन के कारण थ्री व्हीलरों का बागपत अड्डा और मेट्रो प्लाजा से रेलवे रोड चौराहे की तरफ जाना बंद था। इस वजह से इन मार्गों पर पैदल ही सफर करना पड़ा। महिलाएं और बच्चे बेहाल नजर आए। वहीं, बागपत अड्डे से दिल्ली रोड तक जाम की समस्या रही।
Comments

Browse By Tags

स्पॉटलाइट

सिर्फ क्रिकेटर्स से रोमांस ही नहीं, अनुष्का-साक्षी में एक और चीज है कॉमन, सबूत हैं ये तस्वीरें

  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

पहली बार सामने आईं अर्शी की मां, बेटी के झूठ का पर्दाफाश कर खोल दी करतूतें

  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

धोनी की एक्स गर्लफ्रेंड राय लक्ष्‍मी का इंटीमेट सीन लीक, देखकर खुद भी रह गईं हैरान

  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

बेगम करीना छोटे नवाब को पहनाती हैं लाखों के कपड़े, जरा इस डंगरी की कीमत भी जान लें

  • बुधवार, 22 नवंबर 2017
  • +

Bigg Boss 11: फिजिकल होने के बारे में प्रियांक ने किया बड़ा खुलासा, बेनाफशा का झूठ आ गया सामने

  • बुधवार, 22 नवंबर 2017
  • +

Most Read

भुवी-नूपुर की रिसेप्शन पार्टी शुरू, डीजे पर डांस करेंगे दोस्त व रिश्तेदार

Bhuvi procession came out, my friend marriage on dance, will be in a while
  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

हनीमून से पहले नूपुर ने पूछे कई सवाल? भुवनेश्वर ने अपने अंदाज में दिए जवाब

Nupur asked many questions before the honeymoon? Bhuvneshwar responds in his own style
  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

बस कागजों में हटी यूपी में इन 12 माननीयों की सुरक्षा, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिए थे निर्देश

politician security did not remove properly
  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

मोदी-योगी समेत आठ भाजपा नेता आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के निशाने पर, ये हैं हिट लिस्ट में

BJP leaders on target of terrorists.
  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

नगरोटा बगवां में सजा पुस्तकों का संसार

नगरोटा बगवां में सजा पुस्तकों का संसार
  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +

हक की लड़ाई लडने को मजबूर भूतपूर्व सैनिक

हक की लड़ाई लडने को मजबूर भूतपूर्व सैनिक
  • गुरुवार, 23 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!