आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

सील फैक्ट्री का बाजार में बिक रहा है माल

jaunpur

Updated Thu, 01 Dec 2016 01:40 AM IST
Seal Factory is selling goods in the market

श्रमिक की मौत के बाद फैक्ट्री में काम बंद कर दिया गया

केराकत तहसील के थानागद्दी, नाऊपुर स्थित 1100 करोड़ की जेवीएल एग्रो इंड्रस्टीज लिमिटेड का लाइसेंस भले ही रद्द हो गया है लेकिन इस फैक्ट्री में उत्पादित अधोमानक वनस्पति, रिफाइंड और सरसों तेल का बड़ा स्टाक बाजार में बिक रहा है।
तीन अक्तूबर, 2016 को झूला वनस्पति लिमिटेड का खाद्य लाइसेंस निलंबित करते हुए उत्पादन रोकने का आदेश दिया गया था। बावजूद इसके फैक्ट्री में उत्पादन होता रहा और होलसेल स्टाकिस्ट के जरिए बाजार में फुटकर की दुकानों पर भी पहुंच गया।

जौनपुर जिला प्रशासन ने तीन नवंबर को कार्रवाई करते हुए बड़ी मात्रा में बाजार में जाने के लिए उत्पादित माल को सील कर दिया था पर इससे पहले फैक्ट्री में उत्पादित जो सामग्री बाजार में पहुंच गई थी, उसके लिए कुछ नहीं किया गया।

हालांकि लाइसेंस निरस्त होने के बाद अब फैक्ट्री का वाराणसी के तिलमापुर स्थित डिपो भी जांच के दायरे में आ गया है। जौनपुर स्थित फैक्ट्री में वनस्पति समेत अन्य खाद्य पदार्थ बनने के बाद इसी डिपो में रखे जाते हैं। यहां से प्रदेश और देश के विभिन्न इलाकों में इसकी सप्लाई की जाती है।

सूत्रों की मानें तो डिपो में स्टोर किए गए माल पर प्रतिबंध लगता है। दूसरी ओर कहा जा रहा है कि फैक्ट्री में बने अधोमानक माल की खपत अब तक हो चुकी है। अगर प्रशासन संजीदा होता तो इसके प्रयोग पर पाबंदी लगाई जा सकती थी। जिम्मेदार अधिकारी इस मामले में हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे।

 फैक्ट्री की उत्पादन क्षमता करीब 750-800 टन प्रतिदिन थी लेकिन रोजाना 500 टन रिफाइंड, वनस्पति और सरसों तेल का उत्पादन होता था। सूत्रों की मानें तो फैक्ट्री प्रबंधन ने एफएसएसएआई में शपथ पत्र देकर कंपनी के 1100 करोड़ के होने का जिक्र किया है।

फैक्ट्री में ताला लगने से तीन से चार सौ मजदूर बेकार हो गए हैं। झूला वनस्पति में कार्य करने वाले मजदूर झुनझुनवाला वनस्पति तथा झुनझुनवाला गैसेज प्राइवेट लिमिटेड दोनों के ही कर्मचारी हैं। एक में 181 और दूसरे में 119 संख्या बताई जा रही है। बाकी सभी श्रमिक एवं ठेकेदार संविदा और डेली वेजेज पर काम करने वाले हैं।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

Film Review: कॉफी विद डी: रोचक विषय की भोंथरी धार

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

क्या फ‌िर से चमकेगा युवराज का बल्ला और क‌िस्मत, जान‌िए क्या होने वाला है आगे

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

BHIM एप के 1.1 करोड़ डाउनलोड, जानिए क्यों बाकी पेमेंट एप से बेहतर

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

कार का अच्छा माइलेज चाहिए तो पढ़ लें ये टिप्स

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

FlashBack : इस हीरोइन ने इंडस्ट्री छोड़ दी पर मां-बहन के रोल नहीं किए, ताउम्र रहीं अकेली

  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

Most Read

‘पटरी पर ब्लास्ट करने को कहा था, तुमने तोड़ी क्यों’, इस कॉल रिकॉर्डिंग मची सनसनी

blast was on track why did you break
  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

सपा का लोगो लगी कार से चिल्लाई लड़की, ‘पुलिस-पुलिस बचाओ ये मुझे मार डालेगा’

on toll plaza young man arrested
  • रविवार, 15 जनवरी 2017
  • +

8.3 करोड़ का सोना जब्त, चप्पलों में छिपाकर की जा रही थी तस्करी

 8.3 crore rupees gold seized form howrah railway station
  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

वाराणसी में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, नेता गिरफ्तार

election coordinating leader caught nude with girl
  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

जानवरों की तरह वैन में भर रखे थे स्कूली बच्चे, पांच गाड़ियां सीज

five vehicles seized in auraiya
  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +

गुजरात: NH-8 पर टेंपो से टकराई कार, 6 लोगों की मौत

six dead in accident on national highway eight
  • शुक्रवार, 20 जनवरी 2017
  • +
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top