आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

कहीं बदइंतजामी तो नहीं ले रही जान

बृजेश कुमार गुप्ता, अमर उजाला, गोरखपुर।

Updated Thu, 20 Oct 2016 01:44 AM IST
Dengue patients are admitted with other patients in medical college

मेड‌िकल कालेज

देश में डेंगू को लेकर हाय-तौबा मची है। शासन से लेकर प्रशासन तक अलर्ट जारी है। लेकिन गोरखपुर मेडिकल कॉलेज इससे बेखबर है। यहां के डेंगू वार्ड में दूसरे रोगों के मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। यहीं नहीं डेंगू मरीज दूसरे वार्ड में भी भर्ती किए जा रहे हैं। आम मरीजों के साथ भर्ती होने से संक्रमण का खतरा होता है। यह हाल तब है जब मेडिकल कॉलेज में डेंगू से तीन मरीजों की मौत हो चुकी है।
डेंगू मरीजों को आम मरीजों से अलग रखा जाना बेहतर माना जाता है। इतना ही नहीं इन मरीजों को मच्छरों से बचाया जाता है क्योंकि माना जाता है कि इनके संपर्क में आने वाले मच्छर इस रोग के वाहक हो जाते हैं। यही वजह है कि अलग वार्ड के साथ ही मच्छरदानी का प्रयोग भी किया जाता है। मगर इन सावधानियों को दरकिनार कर मेडिकल कॉलेज में मरीजों को आम मरीजों के बीच में ही रखा जा रहा है। अभी भी दो डेंगू मरीज यहां भर्ती हैं, जिन्हें सामान्य मरीजों के साथ ही रखा गया है। एक मरीज वार्ड 12 में तो दूसरा वार्ड नौ में भर्ती है। मेडिकल कॉलेज में 11 जुलाई से 7 अक्टूबर तक 17 मरीज आ चुके हैं। इसमें से तीन मरीजों की मौत भी हो चुकी है। इसके बाद भी अस्पताल में इसके इलाज को लेकर कोई सतर्कता नहीं बरती गई। 


अफसर के दौरे में बनाए गए थे वार्ड

डेंगू को लेकर बीते दिनों कमिश्नर और डीएम के दौरे के समय अस्पताल प्रशासन ने एपीडेमिक वार्ड को डेंगू वार्ड बना दिया था। तब अफसरों को भी लगा कि यहां व्यवस्था दुरुस्त है, मगर उसके बाद वार्ड में अन्य मरीजों को भर्ती करना शुरू कर दिया गया। फिर अन्य वार्ड में भी डेंगू मरीज भर्ती होने लगे।

53 को स्वस्थ कर चुका है जिला अस्पताल 

इलाज के तरीके की बात की जाए तो जिला अस्पताल में डेंगू का अलग वार्ड है। यहां मरीजों को मच्छरदानी में रखा जाता है और आराम कराने के साथ ही सिर्फ पैरासिटामॉल दिया जा रहा है। यहां अब तक 53 मरीज भर्ती किए जा चुके हैं, जो जिला अस्पताल से स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। वहीं चिकनगुनिया के भी दो मरीजों का उपचार जिला अस्पताल में हुआ है। यहां आने वाले किसी भी मरीज को रेफर करने या प्लेटलेट्स भी नहीं चढ़ाना पड़ा। अगर दोनों अस्पतालों की तुलना किया जाए तो मेडिकल कॉलेज में भर्ती भी कम हुए और मौत भी ज्यादा हुई। यानी कहीं न कही व्यवस्था की लापरवाही साफ दिख रही है।

मरीजों की संख्या ज्यादा नहीं है, ऐसे में वार्ड को खाली नहीं रखा जा सकता है। डेंगू मरीजों के उपचार में लापरवाही नहीं होती है।
- डॉ. एके श्रीवास्तव, एसआईसी, मेडिकल कॉलेज
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

इस फूल की ब्लू चाय ग्रीन टी को देती है मात, जानें कई फायदे

  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

मल्टी टैलेंटेड हैं 'गोरी मेम', इनके हुनर के आगे बॉलीवुड हीरोइनें पड़ जाती हैं फीकी

  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

चीजें रखकर भूल जाते हैं तो रोजाना खाएं 3 काजू, जानें कई फायदे

  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

ये चार 'A' बनाएंगे आपको 'मिस्टर कूल', जानें कैसे

  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

असल जिंदगी में इतनी बोल्ड है टीवी की ये एक्ट्रेस, तस्वीरें देख नहीं होगा यकीन

  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

Most Read

चौकी में दुष्कर्मः कच्छा-बनियान पहनकर ही बेटी के पीछे भागा हेडकांस्टेबल बाप

in mathura father chased her daughter after rape in undergarments
  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

चौकी में दुष्कर्मः पति से फोन पर बोली पीड़िता, बाप लूट रहा है मेरी इज्जत...

woman called her husband and told the story of rape in mathura
  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

दहशत का दूसरा नाम बन चुका था गैंगस्टर आनंदपाल

anand pal singh killed in encounter
  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

खुशकिस्मत था, जो मुझे तुम जैसी पत्नी मिली... लिखकर फंदे पर झूल गया

A jweller committed sucide in ajmer
  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

मुंबई की जेल में हैवानियत की शिकार हुई महिला वॉर्डन की मौत

Police thrashed inmate, inserted lathi in her private parts
  • मंगलवार, 27 जून 2017
  • +

मोर्चरी में दूसरे दिन भी पड़ा रहा आनंदपाल का शव

body of the gangster is lying in the Morchry  on the second day
  • सोमवार, 26 जून 2017
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top