आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

'मेरा ध्यान सिर्फ खेल पर, राजनीति में नहीं'

Vikrant Chaturvedi

Vikrant Chaturvedi

Updated Tue, 14 Aug 2012 11:39 AM IST
My focus only on sports not politics Leander Paes
देश के टॉप डबल्स खिलाड़ी लिएंडर पेस ने ओलंपिक की पुरुष डबल्स स्पर्धा में विष्णुवर्धन और मिक्स्ड डबल्स में सानिया मिर्जा के साथ जोड़ी बनाए जाने पर उठे विवाद पर पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि वह यहां खेलने के लिए आए हैं, राजनीति करने नहीं। उन्होंने विष्णुवर्धन के साथ खेलने पर भी हामी भरी और इस युवा खिलाड़ी को पूरा सहयोग करने का वादा भी किया है।
अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) ने लंदन ओलंपिक के लिए विष्णु की पेस के साथ और महेश भूपति की रोहन बोपन्ना के साथ जोड़ी बनाई है। मिक्स्ड डबल्स में पेस के साथ सानिया मिर्जा की जोड़ी बनाई गई है। इस पर सानिया ने तीखा प्रहार करते हुए एआईटीए पर पक्षपात करने का आरोप लगाया था। इस बयानबाजी से पेस काफी नाराज हुए लेकिन उन्होंने इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की थी।

अटलांटा में 1996 में हुए ओलंपिक खेलों में भारत की ओर से टेनिस में अकेला कांस्य पदक जीतने वाले पेस ने कहा कि मैं अपना ध्यान खेलने पर लगाना चाहता हूं न कि राजनीति पर। यह स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है। मुझे तो अब इस खेल के अंदर भी खेल नजर आने लगा है। यह पूरा मामला ही दुखद है। मैं अपने देश के लिए ओलंपिक में छठवीं बार हिस्सा लेने जा रहा हूं। मैं 22 सालों से अपने देश और राष्ट्रध्वज के लिए ही खेल रहा हूं।

मैं एआईटीए द्वारा चुनी टीम के साथ ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने को तैयार हूं। मैं विष्णु की मदद करने की कोशिश करूंगा, जो पहली बार ओलंपिक में हिस्सा लेने जा रहे हैं। मैं अभी यह भी नहीं जानता कि उनके पास ग्रास कोर्ट के शूज भी हैं या नहीं। मुझे उनके साथ थोड़ी मुश्किल तो होगी लेकिन वह वास्तव में अच्छे इनसान हैं और मुझे उनके साथ खेलकर खुशी होगी।

इससे पहले सानिया ने पेस के साथ जोड़ी बनाए जाने पर कहा था कि मैं एआईटीए के इस रवैये से आहत हूं कि भारतीय टेनिस के एक खिलाड़ी को खुश करने के लिए मुझे चारे की तरह इस्तेमाल किया गया। यह सब पुरुषवादी मानसिकता के कारण है। मुझे तो उस खिलाड़ी के लिए चारे के तौर पर पेश किया गया है, जिसे पुरुष डबल्स में उसकी पसंद का जोड़ीदार नहीं मिल पा रहा है।

'मैं अपना ध्यान खेलने पर लगाना चाहता हूं न कि राजनीति पर। मुझे तो अब इस खेल के अंदर भी खेल नजर आने लगा है। मुझे विष्‍णु के थोड़ी मुश्किल तो होगी। मैं अभी यह भी नहीं जानता कि उनके पास ग्रास कोर्ट के शूज भी हैं या नहीं।'
-लिएंडर पेस

'मैं ओलंपिक में पेस की भागीदारी को लेकर निश्चिंत था। मुझे भरोसा था कि वह जरूर खेलेंगे। उनके साथ मेरी जोड़ी बनाए जाने के बाद मैं बस तैयारी में जुट गया। पेस के साथ खेलना मेरे लिए गर्व की बात है।'
-विष्णुवर्धन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Amarujala Hindi News APP
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

रिश्ते में कभी-कभी झूठ बोलना होता है जरूरी, जानिए क्यों

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

अब ऐसा दिखने लगा है शाहरुख-काजोल का 'बेटा', ये काम कर कमा रहा पैसे

  • मंगलवार, 22 अगस्त 2017
  • +

'तीन तलाक' ने उजाड़ दी थी मीना कुमारी की जिंदगी, ऐसा हो गया था उनका हाल

  • मंगलवार, 22 अगस्त 2017
  • +

लगातार हिट देता है साउथ का ये सुपरस्टार, एक फिल्म की लेता है इतनी फीस

  • मंगलवार, 22 अगस्त 2017
  • +

जिम जाने में आता है आलस तो घर में ही करें ये डांस हो जाएंगे फिट

  • मंगलवार, 22 अगस्त 2017
  • +

Most Read

तीन साल बाद एक बार फिर दुनिया के नंबर एक प्लेयर बने नडाल

rafel Nadal become no one male tennis player after three years
  • सोमवार, 21 अगस्त 2017
  • +

सिनसिनाटी मास्टर्स में खत्म हुई भारत की चुनौती सानिया और बोपन्ना हुए बाहर

sania mirza rohan bopanna knocked out of cincinnati masters tennis
  • रविवार, 20 अगस्त 2017
  • +

अगले साल ऑस्ट्रेलियन ओपन से कोर्ट में वापसी करना गर्भवती सेरेना का लक्ष्य

Pregnant Serena Williams targets strong comeback in Australian open next year
  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

फेडरर ने रिकॉर्ड आठवीं बार जीता विंबलडन, फाइनल में सिलिच को दी करारी मात

 Roger Federer wins the Wimbledon men's singles title, for an historic eighth time
  • रविवार, 16 जुलाई 2017
  • +

'फेडरर को हराने के लिए उन्हें 77 बार मारना होगा'

you have to kill roger federer 77 times to win
  • शनिवार, 15 जुलाई 2017
  • +

विंबलडन 2017: वीनस का सपना तोड़ मुगुरुजा बनी विंबलडन की नई क्वीन

Garbiñe Muguruza win wimbledon 2017 women single title
  • शनिवार, 15 जुलाई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!