आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

'उड़नपरी' जैसा कोई नहीं, एथलेटिक्स की दुनिया में दिलाई भारत को पहचान

amarujala.com- Written by: नवीन चौहान

Updated Mon, 14 Aug 2017 01:30 AM IST
PT Usha all time best Indian Women Sprinter

पीटी ऊषा PC: reuters

भारत ने आजादी के बाद से अब तक खेलों में बहुत तरक्की की है लेकिन आजादी के 70 साल बाद भी ये प्रयास विश्व स्तर पर खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करने के लिए नाकाफी हैं। बावजूद इसके भारतीय खेल जगत में कुछ ऐसे सितारे भी उभरे जिनकी उपलब्धियां कभी धूमिल नहीं होंगी। उनकी वजह से आने वाली पीढ़ियों ने खेलों में अपना भविष्य बनाने की प्रेरणा हासिल की। 
ऐसी ही एक खिलाड़ी हैं पीटी ऊषा। देश में उड़नपरी के नाम से विख्यात पीटी ऊषा का नाम आज भी लोगों की जुबान पर है। लोगों के जेहन में उनकी यादें आज भी ताजा हैं। उड़नसिख मिल्खा सिख की तरह वो भी ओलंपिक पदक जीतने से सेकेंड के सौवें हिस्से से चूक गईं थी। 1984 के लॉस एन्जेल्स ओलंपिक की 400 मीटर फर्राट दौड़ के सेमीफाइनल में उन्होंने पहला स्थान हासिल किया था। लेकिन फाइनल में हुए कड़े मुकाबले में वो फोटो फिनिश के आधार पर चौथे स्थान पर रहीं और कांस्य पदक उनके हाथ से छिटक गया। लेकिन इस मुकाबले ने उन्हें देश दुनिया में पहचान दिला दी।  किसी भी ओलम्पिक प्रतियोगिता के फ़ाइनल में पहुंचने वाली पहली महिला और पांचवी भारतीय एथलीट थीं। 

पीटी ऊषा हार मानने वाली खिलाड़ी नहीं थीं। उनके मन में खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करने की ललक थी। ओलंपिक में मिली निराशा को अपनी ताकत बनाकर पीटी ऊषा 1985 में इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में आयोजित एशियाई चैंपियनशिप में 5 स्वर्ण और 1 कांस्य सहित कुल 6 पदक हासिल किए था। उनकी इस उपलब्धि की बराबरी आजतक कोई भारतीय नहीं कर सका। 

ऊषा ने 100m, 200m, 400m, 400m बाधा और 4 गुणा 400 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया था। यह उस समय एशियन चैंपियनशिप में किसी महिला खिलाड़ी द्वारा एक स्पर्धा में जीते गए सबसे ज्यादा स्वर्ण पदक थे। 100, 200 और 400 मीटर दौड़ का स्वर्ण पदक उन्होंने नए एशियाई रिकॉर्ड के साथ जीता था। ऊषा ने दो स्वर्ण पदक महज 35 मिनट के अंतराल में जीते थे। 4 गुणा 100 रिले में वह स्वर्ण पदक से चूक गईं। उनकी टीम को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था।  इस शानदार प्रदर्शन करने के बाद पीटी ऊषा 'उड़नपरी' के नाम से जाना जाने लगा। 

ऊषा यहीं नहीं रुकीं 1986 में आयोजित सियोल एशियाई खेलों में ऊषा ने 4 स्वर्ण और एक रजत पदक हासिल किया। उन्होंने इस दौरान जिन स्पर्धाओं में भी भाग लिया सभी में नए एशियाई रिकॉर्ड स्थापित किए।  पीटी ऊषा को साल 1984,1985,1986,1987, 1989 में एशिया की सर्वश्रेष्ठ धाविका घोषित किया गया। इसके साथ ही साल 1985 और 1986 में उन्हें दुनिया की सर्वश्रेष्ठ महिला धाविका के पुरस्कार से भी नवाजा गया। वो यह पुरस्कार हासिल करने वाली पहली भारतीय एथलीट थीं। 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Amarujala Hindi News APP
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

तो क्या देश के हर एक युवा के हाथ में होगा नोकिया 8 ?

  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

उस रात बाहर सो रहा होता कोई गांव वाला तो नहीं बच पाती उसकी जान, देखें यह खौफनाक वीडियो

  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

लैक्मे फैशन वीक में दिखा इन हसीनाओं का जलवा

  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

नवरात्रि के 9 दिनों में करोड़पति बन जाती हैं फाल्गुनी पाठक, बॉलीवुड से अचानक हो गईं गायब

  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

आर्मी जवान ने 'मैं तेरा ब्वॉयफ्रेंड' पर किया जबरदस्त डांस, पब्लिक बोली- 'सुपर से भी ऊपर'

  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

Most Read

प्रो कबड्डी लीग: दबंग दिल्ली ने तमिल थलाइवाज को एक अंक से हराया

pro kabaddi league 2017: dabang delhi beat tamil thalaivas by 30-29
  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

करियर की आखिरी रेस पूरी नहीं कर पाए बोल्ट, नहीं हो सकी गोल्डन विदाई

Usain Bolt Got Injured in his last international  race 4x100 relay Britain Won Gold
  • रविवार, 13 अगस्त 2017
  • +

भारत को पिछड़ा बताने वाले अमेरिकी खिलाड़ी दुरांत ने मांगी माफी

NBA's Durant  Says sorry for 'backward' comments on India
  • शनिवार, 12 अगस्त 2017
  • +

वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले कंग का दावा, IAF ने कहा नाम वापस लेने को

davinder singh kang says IAF ask him to withdra name from world championship finals
  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +

इतिहास रचने वाले भारतीय एथलीट दविंदर कंग ने जेवलिन थ्रो फाइनल्स में निराश किया 

Davinder Singh disappoints in dramatic Javelin Throw final 
  • रविवार, 13 अगस्त 2017
  • +

सैंट लुईस रैपिड एंड ब्लिट्ज: आनंद ने कास्परोव के साथ 'क्लैश ऑफ द टाइटन्स' में ड्रॉ खेला

Viswanathan Anand played draw with Garry Kasparov
  • गुरुवार, 17 अगस्त 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!