आपका शहर Close

सुनहरी यादें: टीम इंडिया क्रिकेट से पहले हॉकी में बनी थी विश्व चैंपियन  

Hockey: dhyanchand son ashok kumar bring first hockey world cup in the country

ध्यानचंद और कैप्टन रूप सिंह का युग भारतीय हॉकी का स्वर्णिम युग कहलाता है। 1928 से 1956 के दौर में भारतीय हॉकी दुनिया में प्रतिष्ठित रही। इस दौरान भारत ने छह बार ओलं‌पिक के स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। 28 साल के इस सुनहरे सफर के बाद 1971 तक हॉकी की हालत देश में दयनीय हो गई थी। आसानी से हॉकी टीम किसी छोटे देश से भी हार जाया करती थी। लेकिन ध्यानचंद के सुपुत्र अशोक कुमार ने अपने पिता की तरह ही एक बार फिर इस देश में हॉकी के सुनहरे दिन लौटाए। भारत ने 1975 के हॉकी विश्व में जीत हासिल कर दुनिया में फिर से अपना दबदबा कायम किया। हॉकी में पहली बार विश्व कप जीत कर अशोक कुमार पिता ध्यानचंद की तरह प्रतिष्ठित हो गए थे। 
 

Most Viewed

जानिए क्यों विदेश में तोड़ी गई थी ध्यानचंद की हॉकी स्टिक

Hockey Stick of Major Dhyanchand Was Broken in Netherlands
  • गुरुवार, 31 अगस्त 2017
  • +

Also View

माध्यमिक स्कूलों में 10 अगस्त से खेल प्रतियोगिताएं

माध्यमिक स्कूलों में 10 अगस्त से खेल प्रतियोगिताएं
  • बुधवार, 9 अगस्त 2017
  • +

वालीबाल प्रतियोगिता में गहनी बनी चैंपियन

वालीबाल प्रतियोगिता में गहनी बनी चैंपियन
  • बुधवार, 9 अगस्त 2017
  • +

विजेंदर ने कहा, चाइना माल ज्यादा देर नहीं टिकते और चीनी बॉक्सर को धूल चटा दी 

vijendar singh done what he has said before encounter with china boxer
  • रविवार, 6 अगस्त 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!