आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

मंत्रालय की नजरों में खिलाड़ी नहीं बन पाई अरुणिमा

नई दिल्ली/अमर उजाला ब्यूरो

Updated Mon, 01 Oct 2012 11:55 PM IST
arunima sinha is not player according to ministry
ट्रेन से फेंके जाने पर अपनी टांग गंवानें वाली अरुणिमा सिन्हा ने हौसले की अजब मिसाल कायम कर चामसेर कांगड़ी पर्वत श्रंखला पर चढ़ाई भले कर ली हो। लेकिन दर्द भरी जिंदगी से लोहा लेने वालों और विकलांगों के लिए मिसाल बन गई अरुणिमा के साहस को खेल मंत्रालय ने अब तक एक खिलाड़ी का दर्जा नहीं दिया है।
संसद ने वॉलीबाल की राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी के हौसले को सलाम करते हुए बुधवार व बृहस्पतिवार को होने वाली लिंगभेद संवेदनशील संसद में बतौर वक्ता बुलाने की ठानी लेकिन खेल मंत्रालय से उनका पता नहीं मिलने के चलते उन्हें न निमंत्रण भेजा गया और न ही बुलाया जा सका।

इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी बुधवार को शामिल होने जा रहे हैं। लोकसभा सचिवालय के सूत्रों के मुताबिक अरुणिमा के साथ इस कार्यक्रम में साइना नेहवाल, एमसी मैरी काम, दीपिका कुमारी, अंजलि भागवत, बछेंद्री पॉल, ज्वाला गट्टा, सानिया मिर्जा, अंजू बॉबी जॉर्ज, कोनेरू हंपी के साथ अरुणिमा को बुलाने का निर्णय लिया गया। इसके लिए इन सभी खिलाड़ियों के पते व मोबाइल नंबर खेल मंत्रालय से मांगे गए। मंत्रालय ने उक्त नौ खिलाड़ियों के पते दे दिए। लेकिन अरुणिमा के बारे में कहा गया कि उनके बारे में उनके पास किसी तरह का रिकार्ड मौजूद नहीं है। नतीजन उन्हें इस समारोह के लिए आमंत्रित नहीं किया जा सका है।

अरुणिमा के साथ मंत्रालय का यह सौतेला व्यवहार पहली बार नहीं है। बीते वर्ष अप्रैल माह में जब उन्हें पद्मावती एक्सप्रेस से बरेली में ट्रेन से फेंका गया था। तब मंत्रालय ने महज कुछ हजार रुपये की राशि उन्हें देने की घोषणा की। बाद में हंगामा मचने पर यह राशि सवा दो लाख रुपये में तब्दील कर दी गई। एम्स में जिंदगी और मौत से जूझते हुए अरुणिमा दोबारा अपने पैरों पर तो नहीं खड़ी हो सकीं।

बावजूद इसके उन्होंने बछेंद्री पाल का दामन थामा। न सिर्फ उत्तरकाशी में पर्वतारोहण का कोर्स किया बल्कि लद्दाख की चामसेर कांगड़ी पर्वत श्रंखला पर 21 हजार फुट की चढ़ाई कर डाली। ऐसा आज तक किसी विकलांग ने नहीं किया है। खेल मंत्रालय के अधिकारी का कहना है कि अरुणिमा का सीनियर या जूनियर स्तर पर किसी खेल में भाग लेने का रिकार्ड उनके या साई के पास मौजूद नहीं है। इसलिए उनका पता भी उनके पास नहीं है।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

arunima sinha

स्पॉटलाइट

रात को सोने से पहले पार्टनर के साथ भूलकर भी न करें ये 5 बातें

  • मंगलवार, 30 मई 2017
  • +

प्राकृतिक गर्भनिरोधक है अरंडी का बीज, ऐसे खाएंगे तो नहीं ठहरेगी प्रेगनेंसी

  • मंगलवार, 30 मई 2017
  • +

रोज शाम को जलाते हैं घर में अगरबत्ती, तो जान लीजिए इसके नुकसान

  • सोमवार, 29 मई 2017
  • +

आपके मां बाप ने भी जमकर बोले होंगे ये झूठ, जानिए और पकड़ लीजिए

  • सोमवार, 29 मई 2017
  • +

पंजाबी फिल्मों का सुपरस्टार था धर्मेंद्र का ये भाई, शूट के दौरान ही कर दी गई हत्या

  • सोमवार, 29 मई 2017
  • +

Most Read

शर्मनाक हार के बाद ईशांत शर्मा को प्रीति जिंटा का बुलावा, आओ कभी हवेली पर...

ishant sharma trolls on twitter
  • रविवार, 14 मई 2017
  • +

चैंपियंस ट्रॉफी में भारत की जीत सिर्फ कोहली के भरोसे नहीं: कपिल

Team India is not dependent on virat kohli- Kapil dev
  • शनिवार, 13 मई 2017
  • +

राजनाथ की बहू खेल के बाद शूटिंग प्रशासन में रखेंगी कदम

Sushma will contest the election of the Life Member of the National Rifle Association of India
  • सोमवार, 24 अप्रैल 2017
  • +

भारत ने पाक खिलाड़ियों को किया वीजा देने से इंकार, कहा आतंकवाद और खेल एक साथ नहीं

Terrorism and sports can’t go along, says Sports Minister Vijay Goel
  • बुधवार, 3 मई 2017
  • +

101 की उम्र में महिला ने जीता गोल्ड, विदेशी मीडिया ने कहा 'चंड़ीगढ़ का आश्चर्य'

Women won gold at the age of 101, foreign media said, 'wonder of Chandigarh'
  • सोमवार, 24 अप्रैल 2017
  • +

मैरीकॉम ने की खेल मंत्री से मुलाकात, किया ज्यादा टूर्नामेंट्स आयोजित कराने का आग्रह

Mary Kom met Sports Minister discussed development of boxing in India
  • रविवार, 21 मई 2017
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top