आपका शहर Close

संत रव‌िदास ने कहा है ऐसे व्यक्त‌ियों को यमपुरी नहीं जाना पड़ता

story of sant ravidas on ravidas jayanti

आज माघ महीने की पूर्ण‌िमा त‌िथ‌ि है। शास्‍त्रों में इस द‌िन को बड़ा ही उत्तम कहा गया है इसी उत्तम द‌िन को 1398 ई. में धर्म की नगरी काशी में संत रविदास जी का जन्म हुआ था। रविदास जी को रैदास जी के नाम से भी जाना जाता है। इनके माता-पिता चर्मकार थे। इन्होंने अपनी आजीविका के लिए पैतृक कार्य को अपनाया लेकिन इनके मन में भगवान की भक्ति पूर्व जन्म के पुण्य से ऐसी रची बसी थी कि, आजीविका को धन कमाने का साधन बनाने की बजाय संत सेवा का माध्यम बना लिया। संत और फकीर जो भी इनके द्वार पर आते उन्हें बिना पैसे लिये अपने हाथों से बने जूते पहनाते।

Most Viewed

शुक्र ग्रह को मजबूत करने के लिए करें ये 4 उपाय, दूर होंगी परेशानियां

follow these four tips for strong your venus planet
  • गुरुवार, 16 नवंबर 2017
  • +

हवन में इस्तेमाल करें सिर्फ ये लकड़ियां, मिलेगा पूरा फल

know Which tree wood is used in the havan or  yagya
  • मंगलवार, 14 नवंबर 2017
  • +

फूल के अलावा पत्तियों का इस्तेमाल माना जाता है शुभ, होते हैं ये खास फायदे

use of flowers in the worship also leaves are considered to be auspicious
  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

Also View

घर से निकलते वक्त करें ये छोटे छोटे उपाय, मिलेगी बड़ी सफलता

Daily Eat These Things For Success
  • बुधवार, 8 फरवरी 2017
  • +

आप भी मानेंगे, इन्हीं 5 कारणों से आप दुखी होते हैं और कष्ट पाते हैं

5 reason of sorrow
  • बुधवार, 25 जनवरी 2017
  • +

भारत के एक फकीर ने ऐसे स‌िकंदर का अभ‌िमान क‌िया चूर

moral story what happen when alexander came in india
  • गुरुवार, 8 सितंबर 2016
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!