आपका शहर Close

Dhanteras 2017: जानिए क्यों मनाया जाता है धनतेरस का त्योहार, क्या है पूरी कथा

dhanteras 2017: why dhanteras is celebrated and its significance

कार्तिक माह की कृष्ण की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 17 अक्टूबर को मनाया जाएगा। शास्त्रों के अनुसार इस दिन धनवंतरी का जन्म हुआ था, इसलिए इसे धनतेरस कहते है। भगवान धनवंतरी समुद्र मंथन के दौरान अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे इसलिए इस दिन बर्तन खरीदने की परंपरा है। लेकिन धनतेरस से जुड़ी कई कथाएं हैं जिनसे पता चलता है कि दीपावली से पहले धनतेरस क्यों मनाया जाता है।

पढ़ें- Dhanteras 2017: इन 4 चीजों से मां लक्ष्मी होती हैं आकर्षित, खरीदना न भूलें

Most Viewed

Dhanteras 2017: भूलकर भी न खरीदें ये 5 चीजें, मालामाल की जगह हो जाएंगे कंगाल

dhanteras 2017 do not buy these 5 items on dhanteras festival
  • रविवार, 15 अक्टूबर 2017
  • +

Diwali 2017: दिवाली पर नहीं करनी चाहिए ऐसी 7 गलतियां, नाराज हो जाती हैं देवी लक्ष्मी

Diwali 2017 avoid Such mistakes these things during diwali festival
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017
  • +

Diwali 2017: इस बार 3 शुभ मुहूर्त, 1 घंटे की पूजा देगी सबसे ज्‍यादा लाभ

diwali 2017 know worship auspicious time or diwali puja muhurat
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017
  • +

Also View

Dhanteras 2017: इन 4 चीजों से मां लक्ष्मी होती हैं आकर्षित, खरीदना न भूलें

dhanteras 2017 buy these 4 items for attract maa lakshmi
  • शुक्रवार, 13 अक्टूबर 2017
  • +

Diwali 2017: दिवाली से पहले करें ये 5 काम, पूरे साल मां लक्ष्मी रहेंगी मेहरबान

diwali 2017 do these 5 things before diwali for money and happiness
  • गुरुवार, 12 अक्टूबर 2017
  • +

Diwali 2017: इन 5 वजहों से मां लक्ष्मी को अर्पित किया जाता है कमल का फूल

Diwali 2017 why offered lotus flower during goddess lakshmi puja
  • गुरुवार, 12 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!