आपका शहर Close

वैंकेया ने की दिल की बातें : 'मैं किसी एक का नहीं, सभी पार्टियों का हूं'

i am not from a single party i am from every party

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने शपथ ग्रहण के बाद राज्यसभा के पदेन सभापति की कुर्सी मानसून सत्र के अंतिम दिन संभाल ली। विपक्ष की ओर से स्वागत भाषण में उठी आशंकाओं पर उन्होने स्पष्ट किया वे किसी एक पार्टी के नहीं सभी पार्टियों के हैं। वैंकेया ने अपने भाषण में सदस्यों की ओर से आईं नसीहतों और सुझावों को गंभीरता से सुना। उन्होंने निष्पिक्षता के साथ सदन की परंपराओं, समय प्रबंधन और कार्य पद्धति में गुणात्मक सुधार का भी आश्वासन दिया। वैंकेया ने कहा कि ये उनके दिल की बातें हैं। 
वैंकेया ने कहा कि मैं पहली बार 1958 में सदन आया था तो कल्पना नहीं की थी। लोकतंत्र का चमत्कार है मेरे जैसे आम आदमी पर भी ये जिम्मेदारी डाल सकती है। मुझे गर्व है कि मैं किसान का बेटा और खेतिहर हूं। मैं राजनीति से ऊपर उठकर काम करूंगा। मैं किसी पार्टी का व्यक्ति नहीं हूं मैं सभी पार्टी का हूं। हमारी कोशिश होगी सदन की कार्यवाही सुचारू चले नियमों का पालन हो और सभी सदस्यों को बोलने का मौका मिले।

Comments

Most Viewed

हनीप्रीत को लेकर नई जानकारी आई सामने, राम रहीम के बारे में कह गई बड़ी बात

honeypreet requesting jail officers to meet ram rahim
  • मंगलवार, 17 अक्टूबर 2017
  • +

जानिए आखिर कैसे टूटी हनीप्रीत, कैसे कबूला जुर्म, असली सच आया सामने?

honeypreet revealed truth of panchkula violence during interogation period
  • शनिवार, 14 अक्टूबर 2017
  • +

बेटी के पिता हैं तो ये वाला बैंक अकाउंट खुलवा लें, करोड़पति बन सकते हैं

Online open sukanya samriddhi yojna bank account by name of daughter
  • मंगलवार, 10 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!