Breaking News in Hindi Saturday, November 01, 2014
ताज़ा ख़बर >
Lite Version

Home > Hindi News > National News

केबीसी जैकपॉट का एक हिस्सा चैरिटी में खर्च करेंगी सनमीत

कौन बनेगा करोड़पति सीजन 6 में पांच करोड़ की राशि जीत चुकीं सनमीत कौर साहनी का जीवन अब पूरी तरह बदल गया है। वे रातोंरात सेलिब्रिटी बन चुकी हैं। स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि उनसे मिलना चाह रहे हैं और सम्मानित करने की योजनाएं बना रहे हैं।

इधर मीडिया के लोग भी उनका पीछा नहीं छोड़ रहे हैं, लेकिन सनमीत का व्यवहार जरा भी नहीं बदला है। अमर उजाला से खास बातचीत में उन्होंने बताया कि वे अपने पति और बच्चों को सरप्राइज गिफ्ट देना चाहती हैं लेकिन क्या खरीदें समझ में नहीं आ रहा है। वे जीती हुई राशि का एक हिस्सा चैरिटी में लगाएंगी।

सनमीत ने कहा कि वे अब भी ट्यूशन पढ़ाना जारी रखेंगी। यह जरूर है कि अब वे ट्यूशन पढ़ाने के बदले रुपये नहीं लेंगी और अस्पतालों को भी दान देंगी। बकौल सनमीत, अगर वे ट्यूशन नहीं पढ़ाती होतीं, तो शायद इतनी बड़ी राशि नहीं जीत पातीं।

ट्यूशन पढ़ाते हुए ही उनके सामान्य ज्ञान में वृद्धि हो पाई। वे यह बताना भी नहीं भूलती हैं कि महानायक अमिताभ बच्चन अब उनके आदर्श बन चुके हैं। वे कहती हैं कि खेल के दौरान अगर बच्चन साहब उन्हें प्रोत्साहित नहीं करते, तो शायद ही वे यहां तक पहुंच पातीं। वे उनकी विनम्रता की भी कायल हो चुकी हैं।

सनमीत का साफ कहना है कि हर महिला को आत्मनिर्भर होना चाहिए और अपने को कभी भी कमजोर नहीं मानना चाहिए। देश में बढ़ रही दुष्कर्म की घटनाओं पर उनकी सोच है कि कानून को सख्त बनाने की जरूरत है। अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। उनकी यह भी राय है कि देश भर में गुलाबी गैंग जैसे संगठन होने चाहिए, जो महिलाओं के हित में लगातार काम करते रहें।

पुरुषों से कमतर नहीं हैं महिलाएं: अमिताभ
बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन केबीसी गेम शो में महिला प्रतियोगी सनमीत के पांच करोड़ की रकम जीतने से काफी खुश हैं। अमिताभ का कहना है कि महिलाएं पुरुषों से किसी भी मायने में कम नहीं हैं।

70 वर्षीय अभिनेता ने अपने ब्लॉग पर लिखा है कि हाल ही में एक युवा लड़की के साथ दिल्ली में हुई दरिंदगी से हम शर्मसार थे लेकिन पुरुषों की दुनिया में एक महिला को इतनी बड़ी रकम जीतने देखना काफी खुशी की बात है।

उन्होंने कहा कि सनमीत परिवार को चलाने में मदद के लिए बच्चों को ट्यूशन पढ़ाती हैं। वह कभी भी किसी सवाल पर अटकी नहीं। एक करोड़ पर उनके पास दो लाइफ लाइंस थी लेकिन उन्होंने लाइफ लाइन लेने से इनकार कर दिया क्योंकि वह अपने जवाब को लेकर आश्वस्त थीं।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

National News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.

Share on Social Media

Read daily news in Hindi about what's happening in India - Amarujala.com publishes latest and breaking national news in Hindi on politics, business and incidents. Browse through incisive analysis and unbiased views on current affairs and get the best and original hindi news. Amarujala.com - Saar se Vistaar tak!