Breaking News in Hindi Tuesday, June 30, 2015

Home > City > Hardoi

वजीफे का प्रारूप फिर बदला

हरदोई। छात्रवृत्ति वितरण को शासन से आए दिन भेजे जा रहे नए प्रारूपों ने छात्र-छात्राओं को परेशान करके रख दिया। शासन ने छात्रवृत्ति के भरने वाले फार्म के प्रारूप में कुछ ही दिन में तीसरी बार संशोधन किया है और अब नए प्रारूप से आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर दी। ऐसे में छात्र-छात्राएं पढ़ाई लिखाई छोड़ कर आवेदन फार्मों में ही व्यस्त नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को सीएसएन कालेज में काफी भीड़ दिखी।
महाविद्यालयों में वजीफे को लेकर एक बार फिर से छात्र-छात्राओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, जबकि शासन वजीफा आवेदन फार्मों में नित नए बदलाव करता रहा है। अभी कुछ दिन पूर्व वजीफा आवेदन फार्म में बदलाव किया गया था। जिसके बाद छात्र-छात्राएं अभी आवेदन फार्म जमा ही कर पाए थे कि एक बार फिर से शासन ने संशोधित प्रारूप जारी कर दिया। जिसके बाद छात्र-छात्राओं में दोबारा आवेदन फार्म जमा करने के लिए पूरी प्रक्रिया करनी पड़ रही है, जबकि पूर्व में जमा कराए गए आवेदन फार्मों को अमान्य कर दिया गया।
ज्ञात हो कि शासन से संशोधित प्रारूप जारी किया गया। जिसके जिलेे में आने के बाद करीब दो माह तक छात्र छात्राओं ने वजीफा को आवेदन फार्म भरे थे, जिससे उनकी पढ़ाई बाधित हुई थी। वहीं अब दोबारा संशोधित प्रारूप 26 सितंबर को जारी हुआ, उसी के अनुसार अब आवेदन फार्म भराए जा रहे हैं। जिसको लेकर एक बार फिर से छात्र छात्राओं को आवेदन फार्म भरने के परेशान होना पड़ रहा है। सीएसएन कालेज में छात्र छात्राओं की काफी भीड़ आवेदन फार्म को जमा करने को संघर्ष करती दिखी।
उधर, संशोधित प्रारूप के अनुसार छात्र-छात्राओं को वजीफा को आवेदन फार्म सात जनवरी तक जमा करने के निर्देश दिए गए हैं। सीएसएन कालेज के प्राचार्य ने स्नातक व परास्नातक के सभी सामान्य जाति के छात्र छात्राओं को निर्देशित किया कि छात्रवृत्ति का लाभ 26 सितंबर को जारी प्रारूप के अनुसार ही मिलेगा। इस बाबत जिला समाज कल्याण अधिकारी ने निर्देश दिए हैं। उन्होंने जरूरी प्रपत्रों के साथ 7 जनवरी तक आवेदन फार्म जमा करने के निर्देश।

ज़बर खबर : पढ़ना न भूलें

अजिंक्य रहाणे के कप्तान बनने के पीछे क्‍या है राज?

अजिंक्य रहाणे जो पिछले 2 वनडे में टीम इंडिया में ही शामिल नहीं थे उन्हें बीसीसीआई ने अचानक वनडे टीम का कप्तान बना दिया।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Hardoi News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.


Share on Social Media