Hindi News Friday, September 04, 2015
ताज़ा ख़बर >
Lite Version

Home > Samachar > Business > Business Diary

कृषि उत्पादों की बर्बादी पर गुमराह कर रही है सरकार

agricultural products is misleading government Praveen Khandelwal
फसलों के खेत से लेकर उपभोक्ता के घरों में पहुंचने तक होने वाली बर्बादी को सरकार बढ़ा चढ़ाकर बताकर न सिर्फ देश को गुमराह कर रही है। बल्कि गलत आंकड़ों के जरिए की जा रही झूठी बयानबाजी से स्थिति को भयावह बनाने की कोशिश भी की जा रही है।

मल्टी ब्रांड रिटेल में एफडीआई पर अमर उजाला की ओर से आयोजित की गई परिचर्चा मंथन में भाग लेते हुए कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने बताया कि कृषि उत्पादों के खेत से उपभोक्ता के हाथों तक पहुंचने में होने वाली बर्बादी के आंकड़ों को सरकार बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रही है।

खासबात यह है कि उत्पादकों से लेकर उपभोक्ताओं तक में भ्रम फैलाने का काम प्रधानमंत्री से लेकर सभी आला मंत्री कर रहे हैं। जबकि हकीकत में ना ही इतनी बड़ी मात्रा में अनाज की बर्बादी हो रही है और ना ही फल-सब्जी सहित अन्य उत्पादों की । यही नहीं जिस सर्वे के आधार पर सरकार दो तिहाई फसलों की बर्बादी की बात कह रही है, उन आंकड़ों में कृषि उत्पादों के साथ बड़ी हिस्सेदारी पशु उत्पादों की भी है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री से लेकर कृषि राज्य मंत्री तक सभी फसल के बाद होने वाली बर्बादी 40 फीसदी बता रहे हैं, जो सरासर झूठ है। सरकार यह आंकड़ा सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट हार्वेस्ट इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (सिपहेट) के ताजा सर्वे के आधार पर बता रही है। जबकि सिपहेट ने अपने सर्वे में सालाना 3 से 12 फीसदी तक सब्जी और 5 से 18 फीसदी तक फसल बर्बाद होने की बात कही है। मल्टी ब्रांड रिटेल में एफडीआई की वकालत में सरकार झूठ बोल कर स्थिति को भयावह बनाने की साजिश कर रही है।

दरअसल सिपहेट के 13 जुलाई 2010 के सर्वे में सालाना 44,000 करोड़ के कृषि व पशु उत्पादों के नष्ट होने की बात कही गई है। सर्वे के मुताबिक हर साल 12,593 करोड़ रुपये का अनाज, 1,735 करोड़ रुपये मूल्य की दालें, 5,107 करोड़ रुपये के तिलहन और 5,764 करोड़ रुपये मूल्य के मसाले एवं अन्य प्लांटेशन वाली फसलों की बर्बादी हो रही है।

यही नहीं, आधुनिक तकनीक जिसमें कटाई, छटाई और शीतगृहों का अभाव होने से 7,437 करोड़ रुपये के फसल और 5,872 करोड़ रुपये मूल्य की सब्जियां नष्ट हो रही हैं। इस बर्बादी से पशुधन अछूते रह गए हैं बल्कि उनकी बर्बादी भी दूसरों से कम नहीं है। हर साल लगभग 5,635 करोड़ रुपये मूल्य के पशुधन जिसमें दुग्ध उत्पादों के अलावा मांस, अंडा और मछली भी शामिल है।

कैट के महामंत्री नरेंद्र मदान के मुताबिक एफडीआई के समर्थन में सरकार यह भी ढोल पीट रही है कि बहुराष्ट्रीय कंपनियां 30 फीसदी उत्पाद देश के लघु और मध्यम उद्योग से खरीदेंगी। लेकिन मल्टी ब्रांड रिटेल में एफडीआई पर जो नोटिफिकेशन सरकार की ओर जारी किया गया है उसमें यह स्पष्ट नहीं है कि बहुराष्ट्रीय कंपनियां हर साल 30 फीसदी खरीद देश के लघु उद्योगो से करेंगी। इस परिचर्चा में व्यापारी नेता सतीश गर्ग, विजय बुद्धिराजा, विजय प्रकाश जैन और किशोर खारावाला सहित उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड से आए अनेक व्यापारियों ने हिस्सा लिया।

भारत मैट्रीमोनी - Register FREE

Sponsored

ज़बर खबर : पढ़ना न भूलें

मुस्लिम मॉडल के बिकनी पहनने पर बवाल, दिया करारा जवाब

20 साल की यह खूबसूरत हसीना इन दिनों चर्चा में है। चर्चा की वजह भी कुछ ऐसी है कि आप भी इसके बारे में जरूर जानना चाहेंगे।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Business Diary News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.


Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

भूकंप के झटकों से हिला उत्तर भारत, 4.4 थी तीव्रता

earthquake felt in rajasthan गुरुवार देर रात करीब 11.27 मिनट राजस्थान के कई हिस्सों में भूकंप का...

मुस्लिमों को दो से अधिक बच्चे पैदा करने पर हो सजा: तोगड़िया

Muslims must be penalised for giving birth to more then two child विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया और भाजपा सांसद साक्षी महाराज...

इंद्राणी ने कबूला जुर्म- 'मैंने ही की शीना की हत्या'

Indrani confesses murder of sheena शीना बोरा हत्याकांड की प्रमुख आरोपी इंद्राणी मुखर्जी ने दस दिन के बाद...

तस्वीरें: फेसबुक पर समुदाय विशेष के खिलाफ कमेंट पर बवाल

tension in the city because of a facebook comment फेसबुक पर समुदाय विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक कमेंट करने पर बवाल हो गया।...

ख़बरें राज्यों से

बिहार में क्या है मुसलमानों की राय, आप भी जानिए?

bihar election 2015, what is the opinion of muslims बिहार चुनावों में एक बड़ा तबका ऐसा है जिसके वोटों पर सबकी निगाह...

मुझसे सौदेबाजी कर रहे थे सीएम शिवराज: डॉ. राय

Vypam scam: Dr anand rai make allegation on cm shivraj chauhan व्यापमं के व्हिसब्लोअर डा. आनंद राय ने सीएम शिवराज पर अपना नाम न...

समधी के बाद सबसे खास ने छोड़ा लालू का साथ

RJD vice president raghunath jha left the party - Bihar Election 2015 सपा मुखिया और समधी मुलायम सिंह के लालू यादव से नाता तोड़ने के...

बिहार में अकेले चुनाव लड़ेगी समाजवादी पार्टी

Samajwadi party left the janta pariwar, SP separate contest Bihar elections बिहार में चुनाव से पहले ही RJD-JDU के महागठबंधन को झटका लगा है,...