Hindi News Tuesday, September 01, 2015
ताज़ा ख़बर >
Lite Version

Home > State > Uttarakhand > 100 Days Of Kedarnath Disaster

आपदा के 100 दिन, खतरे से मुक्त नहीं 'केदारनाथ'

100 days of kedarnath disaster
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाइड्रोलॉजी से अध्ययन कराया जाना चाहिए। नदी के रुख को मोड़ने और ग्लेशियरों से बचाव के लिए सर्वेक्षण रिपोर्टों के आधार पर ट्रीटमेंट वर्क होना चाहिए।

- डा. रामनाथ सिंह फोनिया

भगवान शिव के ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग केदारनाथ मंदिर पर खतरा मंडरा है। यह खतरा मंदाकिनी नदी के साथ-साथ ग्लेशियर और गांधी सरोवर के मलबे से है।

समय रहते यहां बह रही नदियों के प्रवाह को मोड़ने के उपाय नहीं किए गए तो मंदिर में पुन: पानी घुस सकता है।

पढ़ें, केदारनाथः मिल गया भोले का नाग...

विस्तृत सर्वेक्षण कराने की सलाह
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) ने भी राज्य सरकार को वैज्ञानिकों से ग्लेशियर और भूगर्भीय स्थिति का विस्तृत सर्वेक्षण कराने की सलाह दी है।

पढ़ें, ...यहां पिंडदान से धुलेंगे 21 जन्मों के पाप

सुरक्षात्मक उपाय की जरूरत
एएसआई का कहना है कि जल्द से जल्द सुरक्षात्मक उपाय किए जाने चाहिए ताकि एतिहासिक धरोहर को कोई आंच नहीं आए।

मालूम हो कि 16/17 जून को भारी बारिश और ग्लेशियर टूटने से केदारनाथ मंदिर से करीब ढाई किलोमीटर ऊपर गांधी सरोवर (चोराबाड़ी तालाब) टूट गया था।

मलबा मंदिर परिसर में जमा
इससे पानी के साथ-साथ भारी मात्रा में बोल्डर और मलबा मंदिर परिसर में जमा हो गया। बोल्डरों ने मंदिर के पिछले हिस्से को भी नुकसान पहुंचाया था। बाढ़ के कारण मंदाकिनी का प्रवाह क्षेत्र बदल गया है।

पढें, भारी पड़ी मस्ती, 'लड़की' पैसे न चुकाने पर भड़की

पहले मंदाकिनी सीधे नीचे की ओर बहते हुए मंदिर के दाहिनी ओर से निकल जाती थी, मगर अब ऐसा नहीं है। अब नदी मंदिर से लगभग 200 मीटर पीछे से घूमकर बायीं ओर बह रही है, इससे मंदिर को खतरा बना हुआ है।

पढ़ें, संवारने के चक्कर में बिगाड़ दी 'केदारनाथ' की सूरत


मंदिर में पहुंच रहा पानी
मंदिर से करीब तीन किलोमीटर ऊपर तक बोल्डर जमा हैं जो जल स्तर बढ़ने पर पानी के प्रवाह को रोक सकते हैं। हफ्ते भर पहले ही भारी बारिश से नदी का पानी मंदिर के करीब 100 मीटर पीछे पहुंच गया था।

पढें, ...उत्तराखंड में भूखी नहीं सोएंगी 'चिड़िया'

ग्लेशियरों से भी खतरा बना हुआ है। है। ग्लेशियरों के चटकने की आवाज अकसर सुनाई देती है। यह ग्लेशियर भी मंदिर की पिछली ओर की चोटियों में हैं।

तस्वीरों में देंखे...आपदा के 100 दिन और केदारनाथ

जल्द करें ट्रीटमेंट वर्क: डा. फोनिया
आपदा कभी भी आ सकती है। अब पहले की तुलना में खतरा बढ़ गया है। आगे की सोचनी होगी। राज्य सरकार को सलाह दी गई है कि समय पर हाईड्रोलॉजी, मेट्रोलॉजिकल और जियोलॉजिकल सर्वे कराए।

पढें, सोनिया पर टिप्पणी से घिरे रामदेव बाबा, बवाल


वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ जियोलॉजिकल सर्वे, जीएसआई की टीम मौसम और भूगर्भीय सर्वेक्षण कर रहे हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाइड्रोलॉजी से भी अध्ययन कराया जाना चाहिए।

नदी के रुख को मोड़ने और ग्लेशियरों से बचाव के लिए सर्वेक्षण रिपोर्टों के आधार पर ट्रीटमेंट वर्क होना चाहिए।
- डा. रामनाथ सिंह फोनिया, निदेशक केदारनाथ संरक्षण योजना/भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण दिल्ली

भारत मैट्रीमोनी - Register FREE

Sponsored

ज़बर खबर : पढ़ना न भूलें

IS ने चार शिया जवानों को मुर्गे की तरह भूना, वीभत्स तस्वीरें

ये तस्वीरें दिल दहला देने वाली हैं। कमजोर दिल वाले ये तस्वीरें बिल्कुल भी ना देखें।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Tags »

kedarnath
Uttarakhand News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.


Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

हमले की योजना बनाने के लिए हुई 20 साल की जेल

he get prison for 20 years अमेरिकी के एक बुजुर्ग को आत्मघाती बम हमले की योजना बनाने के लिए...

अखबार में छपेगा अतुल माहेश्वरी छात्रवृत्ति परीक्षा का फार्म

atul maheshwari scholarship 2015 exmam form to be publish on news paper फार्म भरने में विद्यार्थियों को हो रही परेशानी के मद्देनजर फाउंडेशन ने फार्म...

पाक सेना कर रही है सिस्टम की धुलाई

Pakistan army has been washing system कुछ लोग कहते हैं कि ये तो बहुत ही अच्छा है कि इस...

UP के मैनपुरी में ट्रेन से टकराया लोडर, 3 की मौत

train accident in mainpuri मैनपुरी के भोगांव में मानवरहित रेलवे क्रोसिंग पर मैजिक लोडर ट्रेन से टकरा...

ख़बरें राज्यों से

मोदी के कटाक्ष पर 'दार्शनिक' हो गए लालू

Lalu reminded modi to the dignity of PM post भागलपुर रैली में महागठबंधन पर पीएम मोदी के कटाक्ष का लालू नीतीश ने...

पटना में जेपी-लोहिया के चेलों ने उन्हें दे दी तिलांजलिः मोदी

modi rally in bhagalpur पटना के गांधी मैदान में सबके निशाने पर रहे पीएम मोदी ने भागलपुर...

यहां तो दूल्हे के जेल जाने पर ही पक्‍का होता है रिश्ता

married fix when groom going to jail जेल जाना हर किसी के लिए शर्मनाक माना जाता है, लेकिन कुछ लोग...

विश्व हिंदी सम्मेलन में अमिताभ और मोदी से न आने की अपील

World Hindi Conference : Amitabh and Modi urged not to inaugrate मध्यप्रदेश के चर्चित व्यापमं घोटोले में व्हिसिलब्लोअर्स ने अमिताभ बच्चन और प्रधानमंत्री नरेन्द्र...
Uttarakhand News in Hindi - Get the latest news of Uttarakhand in Hindi - Saar se Vistaar tak only on Amarujala.com. Keep yourself up-to-date about the recent incidents, current affairs and daily news of Uttarakhand cities including Dehradun, Haridwar, Nainital, Almorah and other major cities of Uttarakhand. Read daily Uttarakhand news in Hindi on Amarujala.com and get unbiased analytical views on recent events and incidents in Uttarakhand.