Breaking News in Hindi Saturday, September 20, 2014
ताज़ा ख़बर >
Lite Version

Home > State > Uttar Pradesh > Uptet Case Referred To Full Bench Of The Allahabad Highcourt

UPTET: रुकी रहेगी भर्ती, मामला फुल बेंच को रेफर

उत्तर प्रदेश में सहायक अध्यापकों की भर्ती पर फिलहाल रोक लगी रहेगी। सहायक अध्यापकों की भर्ती टीईटी मेरिट पर होगी या शैक्षिक गुणांक पर, इस मामले की सुनवाई की जिम्मेदारी अब तीन जजों की फुल बेंच को सौंप दी गई है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट में मामले की सुनवाई कर रही खंडपीठ ने मंगलवार को वैधानिक दिक्‍कतों को ध्यान में रखकर, इसे फुल बेंच को भेजने का निर्णय लिया।

गौरतलब है कि बीएड अभ्यर्थियों के एक मामले में सुनाए गए खंडपीठ के आदेश की सुनवाई की जिम्‍मेदारी भी इसी बेंच के पास है। इस प्रकरण को मुख्य न्यायाधीश के समक्ष भेज दिया गया है।

मंगलवार को सहायक अध्यापकों की भर्ती के मामले में सुनवाई कर रही न्यायमूर्ति सुशील हरकौली और न्यायमूर्ति मनोज मिश्र की खंडपीठ को अवगत कराया गया कि बीएड अ‌भ्यर्थियों से संबंधित प्रभाकर सिंह केस में दिए खंडपीठ के फैसले को स्पष्टीकरण के लिए फुल बेंच को रैफर कर दिया है।

प्रभाकर सिंह केस में खंडपीठ ने बीएड अभ्यर्थियों को बिना टीईटी उत्तीर्ण किए सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया में शामिल करने का निर्देश दिया था। कोर्ट का कहना था कि यदि इस स्तर पर मौजूदा याचिका पर कोई आदेश दिया जाता है और वह फुल बेंच के निर्णय, जो कि अभी आना बाकी है, से असंगत होता है तो वैधानिक समस्या खड़ी हो सकती है।

कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि इस स्थिति में यदि दोनों मामले एक साथ सुने जाएं तो बेहतर होगा।

टीईटी की गड़बड़ी की फिर शुरु हुई जांच

टीईटी-2011 में धांधली में कुछ और अफसरों पर गाज गिर सकती है। इस मामले की एक बार फिर विभागीय जांच कराने की तैयारी हो रही है। इसमें यह पता लगाया जाएगा कि संजय मोहन के साथ धांधली में और कौन-कौन दोषी है।

हाल ही में तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव प्रभा त्रिपाठी से इस बाबत स्पष्टीकरण भी मांगा गया था। उन्होंने स्पष्टीकरण का जवाब तो दे दिया है, लेकिन उच्चाधिकारी उनके जवाब से संतुष्ट नहीं हैं। विभागीय सूत्रों के मुताबिक, उनके खिलाफ कभी भी कार्रवाई की जा सकती है।

गौरतलब है कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद शिक्षक बनने के लिए टीईटी पास होना अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में नवंबर 2011 में टीईटी आयोजित कराई गई। इसे कराने में तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक संजय मोहन और सचिव प्रभा त्रिपाठी की महत्वपूर्ण भूमिका थी।

बाद में गड़बड़ी के आरोप में संजय मोहन को गिरफ्तार कर लिया गया।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Uttar Pradesh News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.

सम्बंधित फोटो गैलरी

  • cii partnership summit 2013
  • beauty contest in farrukhabad
  • saifai festival scene

Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

7 लाख का कर्ज उतारने के लिए रची 10 लाख फिरौती मांगने की साजिश

abduction crime rohtak शहर के सेक्टर-4 से बृहस्पतिवार को 6 साल के मासूम का अपहरण आरोपी...

सुषमा ने किया नालंदा विश्वविद्यालय का उद्घाटन

The Nalanda University was inaugurated by Sushma. प्राचीन भारत में अपनी पढ़ाई के लिए दुनिया भर में मशहूर नालंदा विश्वविद्यालय...

राजस्थान में ऊंट राज्य पशु घोषित

camel declared the state animal in Rajasthan. राजस्थान सरकार ने रेगिस्तान के जहाज कहे जाने वाले ऊंट को राज्य पशु...

विमान से गायब निर्मला सीतारमन का सूटकेस मिला

Nirmala Sitharaman suitcase missing in the plane. ...

ख़बरें राज्यों से

बच्ची की 'ज‌िंदा समाधि', लगा मजमा

buried girl alive in rajasthan. एक बच्ची के 'ज‌िंदा समाधि लेने' और 'देवी का रूप' होने की अफवाह...

टीवी सेट में विस्फोट से मां-बेटी की मौत

blast in tv, mother daughter died बिहार के गोपालगंज जिले में टीवी में विस्फोट होने से मां-बेटी की मौत...

जात के बंधनों में बंधे हैं यहां के मुक्तिधाम

cast crematoriums mortuary. राजस्थान हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते शहर के सभी मोक्षधामों को जाति...

अफ्रीका में भारतीय: 'बचा लो इबोला से'

indian want to return from africa in fear of ebola झारखंड के कई ज‌िलों से अफ्रीकी देश कॉंगो गए सैकड़ों भारतीय मजदूर इबोला...
UP News in Hindi - Get the latest news of up in Hindi - Saar se Vistaar tak! only on Amarujala.com. Keep yourself up-to-date about the recent incidents, current affairs and daily news of Uttar Pradesh cities including Lucknow, Agra, Allahabad, Varanasi, Kanpur, Gorakhpur, Moradabad, Noida, Ghaziabad and other major cities of UP. Read daily UP news in Hindi on Amarujala.com and get unbiased analytical views on recent events and incidents in Uttar Pradesh.