Breaking News in Hindi Thursday, April 17, 2014
ताज़ा ख़बर >

आपके शहर की ख़बरें

Home > State > Uttar Pradesh

मुसलमानों का हित पहले, सरकार बाद में: मुलायम

समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने रविवार को कहा कि मुसलमानों का हित पहले है और सरकार बाद में। उन्होंने प्रदेश में आतंकवाद के आरोप में जेलों में बंद बेगुनाह मुसलमानों को जल्द रिहा करने की घोषणा की।

लखनऊ में जमीयत उलमा हिंद द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुलायम सिंह यादव ने मुसलमानों को अपना सच्चा हमदर्द बताया। उन्होंने कहा कि सरकार बनाने में मुसलमानों ने जो सहयोग दिया, जिस तरह उन पर भरोसा जताया, उसे सपा की सरकार कभी भुला नहीं सकती।

प्रतापगढ़ में क्षेत्राधिकारी जिया उल हक की हत्या, प्रदेश में पिछले वर्ष हुए दंगों और जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना बुखारी के समाजवादी पार्टी से अलग होने के बाद मुलायम के इस बयान को अब तक हुए राजनीतिक नुकसान की भरपाई करने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है।

मुलायम सिंह यादव ने कहा, ' संसद हो, सड़क हो अथवा सरकार, सपा हमेशा अल्पसंख्यकों के हित की लड़ाई लड़ती रही है और आगे भी लड़ती रहेगी।'

मुलायम ने कहा कि मुसलमानों ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाने के लिए वोट दिया था लेकिन उन्होंने अखिलेश को मुख्यमंत्री इसलिए बनवाया ताकि वह दिल्ली में रहकर अल्पसंख्यकों की आवाज उठा सकें।

हाल ही में मौलाना अहमद बुखारी द्वारा सपा सरकार की आलोचना किए जाने पर उन्होंने बुखारी का नाम लिए बगैर कहा कि मुसलमानों को प्रदेश सरकार की नीति व नीयत दोनों को देखना चाहिए।

प्रदेश सरकार में 11 मुसलमान मंत्री

मुलायम ने कहा कि प्रदेश सरकार में 11 मंत्री मुसलमान हैं। कई विधायक भी मुसलमान हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्य सचिव भी मुसलमान हैं। ये सभी लोग मुसलमानों का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, 'प्रदेश की जेलो में बंद निर्दोष मुसलमानों की रिहाई के मामले में सरकार अच्छे नतीजे निकलाने की कोशिश कर रही है। यह भी कोशिश हो रही है कि जहां अदालतों का सहारा लेने की जरूरत हो, वहां अदालतों की मदद ली जाए। इसके लिए डीजीपी व मुख्य सचिव विचार-विमर्श कर रहे हैं।'

राजा भैया की गिरफ्तारी की मांग

जमीयत के कार्यक्रम में राजा भैया की गिरफ्तारी की मांग में नारे भी लगे। कार्यक्रम में लोगों ने मुलायम के सामने क्षेत्राधिकारी जिला उल हक की हत्या के आरोपी राजा भैया की गिरफ्तारी की मांग की।

मुलायम ने कहा कि यह मामला इस मंच से उठाना ठीक नहीं हैं। यहां मजलूमों ओर बेकसूरों को इंसाफ मिलने की आवाज उठ रही है। एक मंच से दो आवाज उठाना ठीक नहीं है। सरकार पूरे मामले को गंभीरता से ले रही है।

दंगा नियंत्रण कानून और आरक्षण


कार्यक्रम में जमीयत उलमा के संरक्षक असजद मदनी ने मुलायम को दंगा विरोधी कानून और मुसलमानों को 18 फीसदी आरक्षण का वादा भी याद दिलाया।

उन्होंने कहा कि संविधान में अब तक 117 संशोधन किए जा चुके हैं। इसलिए एक और संशोधन होना बहुत मुश्किल काम नहीं है।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

डकैतों का चुनावी कहर, नोट भी चाहिए और वोट भी

dacoits attacked and threatened to vote in favor of candidate जैसे-जैसे मतदान के दिन निकट आ रहे हैं, बुंदेलखंड में डकैत गांव-गांव घूम...

केकेआर ने मुबंई नाइट राइडर्स के हौसलों को किया पस्त

kkr won first match to mumbai indians मुंबई इंडियंस को न सचिन तेंदुलकर की सलाह काम आई, न ही अनिल...

शाह-आजम की सफाई खारिज, जारी रहेगा प्रतिबंध

eci reject clerafication of shah and azam चुनाव आयोग ने भाजपा नेता अमित शाह तथा उत्तर प्रदेश की सपा सरकार...

मोदी नहीं, भाजपा का एक ‘चालाक नेता’ है पीएम का असली दावेदार: मुलायम

one clever leader of bjp is candidate of pm सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को भाजपा पर जमकर हमला बोला।...

ख़बरें राज्यों से

जहां महिलाएं हैं संख्या में भारी, पर सियासत में कम भागीदारी

tribal woman voters in jharkhand झारखंड की महिला वोटर की क्या हालत है? चुनावों से उनको क्या उम्मीदें...

सचिन पायलट ने खरीदे हैं फेसबुक लाइक्स: बीजेपी

Sachin Pilot buying fake Facebook likes: BJP सचिन पायलट पर लगा है फेसबुक लाइक्स खरीदने का आरोप। जानिए कितने लाइक्स...

झारखंड की हर सीट पर है बराबरी का मुकाबला

Second Phase Polling in Jharkhand April 17 झारखंड में दूसरे चरण का मतदान 17 अप्रैल को है। इस राउंड में...

देश को टॉफी वाला चाहिए या ट्रॉफी वाला?

narendra modi attacks on rahul gandhi in his hazaribagh's rally राहुल गांधी की ओर से गुजरात के विकास को टॉफी मॉडल करार देने...