Breaking News in Hindi Saturday, November 01, 2014
ताज़ा ख़बर >
Lite Version

Home > State > Uttar Pradesh > E Governence System In UP By Cm Akhilesh

सीएम से करिए ई-शिकायत, 15 दिन में समाधान

एक साल पूरा कर चुके उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश य़ादव की सरकार पर मिसगवर्नेंस के आरोप लगते रहे हैं और अब वे इस दाग को धोने की लिए जोर-शोर से जुट गए हैं।

इसके लिए उन्होंने हाईटेक तरीका अपनाया है। जनता की शिकायतों का निपटारा करने के लिए उन्होंने एक प्रभावी ई गवर्नेंस सिस्टम बनाया है। इसमें पंद्रह दिन के अंदर शिकायतों का निपटारा करना जरूरी है।

अब तक इस सिस्टम की मदद से लगभग तीन लाख जन शिकायतों में से नब्बे प्रतिशत का समय सीमा के अंदर निपटारा किया जा चुका है।

इस सिस्टम के तहत हर शिकायत की बारकोडिंग की जाती है और जिसकी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध करवाई जाती है। शिकायत के निपटारे के लिए आधिकारियों के लिए एक समय सीमा भी तय की जाती है।

इस सिस्टम की पहल में शामिल आईएएस अधिकारी आमोद कुमार का कहना है कि अधिकांश शिकायतों का निपटारा 15 दिन के अंदर किया गया और शिकायत करने वाले भी इससे संतुष्ट हैं।

कैसे काम करता है ये सिस्टम?

- मुख्यमंत्री ऑफिस को जो भी शिकायत मिलती है उसको डीटेल और कॉन्टेक्ट इंफॉर्मेशन के साथ एक बारकोड दिया जाता है।
- हर आवेदन को छह अंकों का एक पब्लिक ग्रीवांस नंबर दिया जाता है।
- उसे इंटरनेट पर पोस्ट किया जाता है।
- मुख्यमंत्री की वेबसाइट http://upcmo.up.nic.in पर एक लिंक है जिसमें बार कोड डालकर शिकायत करने वाले और शिकायत का निपटारा करने वाले अधिकारी केस के समाधान की प्रगति के बारे में जानकारी ले सकते हैं।
- जैसे ही शिकायत का आवेदन स्वीकार किया जाता है, वैसे ही सिस्टम एक एसएमएस शिकायत करने वाले को भेज देता है।

तय होती है जवाबदेही
आमोद कुमार का कहना है कि शिकायत के समाधान की प्रगति के बारे में ब्लॉक या तहसील लेवल पर उस शिकायत का निपटारा करने वाले अधिकारी, शिकायत करने वाले और मुख्यमंत्री ऑफिस को जानकारी रहती है इसलिए काम जल्दी से होता है।

पिछले साल सितंबर में शुरू हुए इस सिस्टम में अब तक 2,48,841 शिकायतें मिल चुकीं हैं। इसमें से 2,20,082 यानि 88.4 प्रतिशत का समय सीमा के अंदर निपटारा किया जा चुका है।

आमोद कुमार का कहना है कि इस सिस्टम के जरिए विधायक और सांसद भी आम आदमी की शिकायतों को हम तक पहुंचा सकते हैं।

इसके बाद अब कॉल सेंटर बनाने की भी प्लानिंग की जा रही है जिसके जरिए शिकायत करने वालों को मोबाइल पर अपडेट्स भी भेजे जाएंगे। इसके जरिए फीडबैक भी प्राप्त किए जाएंगे कि काम हुआ कि नहीं।

सफल रहा प्रयोग
आमोद कुमार को इस तरह का सिस्टम बनाने की प्रेरणा तब मिली जब उन्होंने जनता को अपनी शिकायतों के निपटारे के लिए एक विभाग से दूसरे विभाग का चक्कर काटते देखा।

2004-2006 के बीच सीतापुर में जब वह जिलाधिकारी थे तो उन्होंने लोकवाणी नाम से एक पब्लिक ग्रीवांस रिड्रेसल सिस्टम विकसित किया जिसको भारी सफलता मिली।

इस सिस्टम को अंतरराष्ट्रीय पहचान भी मिली उसके बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उनको राज्य स्तर पर इस सिस्टम को लागू करने के लिए चुना।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Uttar Pradesh News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.

सम्बंधित फोटो गैलरी

  • sikh protest on sonia residence
  • people angry at dsp zia ul haq death
  • cii partnership summit 2013

सम्बंधित पोल

क्या आप उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के एक साल के कार्यकाल से संतुष्ट हैं?

  • हां
  • नहीं
  • नहीं कह सकते

Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

दो दिन तक गैंगरेप के बाद किशोरी को मेरठ रोड पर फेंका

gang rape in muzaffarnagar. मुजफ्फरनगर में सुजड़ू चौकी क्षेत्र में पिता से बिछड़ी किशोरी को चार युवकों...

मोदी ने की चुनाव याचिका रद्द करने की मांग

modi demanded rejection of plea. वाराणसी लोकसभा सीट से सांसद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हाईकोर्ट में...

पत्नी की पिटाई पर युवक ने दे दी जान

husband suicide after wife beaten by family members. वाराणसी में कपसेठी थाना क्षेत्र में पत्नी की पिटाई से आहत युवक ने...

बंदियों से भरी गाड़ी पलटी, 23 लहूलुहान

prisoners injured in road accident. यूपी के रामपुर में बंदियों से भरी गाड़ी शुक्रवार को स्वार रोड पर...

ख़बरें राज्यों से

मनरेगा से जुड़ सकेगा गौशालाओं का विकास

cow dairy to development of MGNREGS. राजस्थान सरकार की ओर से केन्द्र को हाल ही में गौशालाओं का विकास...

राजस्थान में सुस्त रहेगा नीलोफर

Neelofar remain sluggish in Rajasthan. अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान नीलोफर के सुस्त होने से राजस्थान में...

बीजेपी विधायक के निशाने पर वसुंधरा!

BJP legislator targets cm Raje. वसुंधरा मंत्रिमण्डल में जगह नहीं पाने के कारण भाजपा विधायक और वरिष्ठ नेता...

भंवरी मामला: आरोपी पूर्व मंत्री मदेरणा को सशर्त जमानत

Bhanwari case: Accused minister Maderna conditional bail. राजस्थान के चर्चित भंवरी देवी केस में आरोपी पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा को...
UP News in Hindi - Get the latest news of up in Hindi - Saar se Vistaar tak! only on Amarujala.com. Keep yourself up-to-date about the recent incidents, current affairs and daily news of Uttar Pradesh cities including Lucknow, Agra, Allahabad, Varanasi, Kanpur, Gorakhpur, Moradabad, Noida, Ghaziabad and other major cities of UP. Read daily UP news in Hindi on Amarujala.com and get unbiased analytical views on recent events and incidents in Uttar Pradesh.