Breaking News in Hindi Saturday, August 01, 2015

Home > City > Kangra >

योजना से ‘इंस्पायर’ नहीं हो रहे छात्र

धर्मशाला। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की इंस्पायर योजना जिला कांगड़ा के छात्रों को ‘इंस्पायर’ नहीं कर पा रही है। इंस्पायर योजना के तहत जिले के मात्र 250 छात्रों ने आवेदन किए हैं। आवेदन की अंतिम तिथि भी पूरी हो चुकी है। जबकि पिछले वर्ष डेढ़ हजार से ज्यादा आवेदन आए थे। ऐसे में शिक्षा विभाग ने एक सप्ताह के लिए आखिरी तिथि को बढ़ा दिया है। छठी से दसवीं तक के छात्रों की प्रतिभा निखारने के लिए शुरू की गई इस योजना से छात्रों का मोह भंग होता नजर आ रहा है।
जानकारी के अनुसार जिला कांगड़ा में बारह सौ से ज्यादा निजी और सरकारी स्कूल हैं। इस योजना में स्कूलों ने इस बार ज्यादा रुचि नहीं दिखाई है। छात्रों के उत्साह में कमी के चलते विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की इस योजना पर ब्रेक भी लग सकती है। निर्धारित समय के दौरान छात्रों के उचित संख्या में आवेदन नहीं आने की सूरत में मंत्रालय इस योजना पर पुनर्विचार कर सकता है।
उधर, शिक्षा विभाग के धर्मशाला स्थित उपनिदेशक भजन सिंह का कहना है कि इंस्पायर स्कीम के तहत आवेदन के लिए छात्रों को एक सप्ताह तक का समय दिया गया है। एक सप्ताह केबाद छात्रों के आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि समस्त स्कूल मुखियाओं को भी इस बारे में निर्देश जारी किए जाएंगे। पहले आवेदन की अंतिम तिथि 31 अगस्त थी, जिसे एक हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया है।

क्या है इंस्पायर स्कीम
इंस्पायर योजना के तहत छात्रों को साइंस मॉडल बनाने के लिए पांच हजार रुपये की छात्रवृत्ति दी जाती है। हर स्कूल से दो छात्रों का चयन किया जाता है। जबकि प्रदेश शिक्षा विभाग हर स्कूल से छठी से लेकर दसवीं तक के पांच छात्रों के नाम आगे भेजता है। इनमें से छठी से आठवीं तक से एक तथा नौवीं और दसवीं कक्षा से एक छात्र का चयन किया जाता है। हर स्कूल के इस श्रेणी से दो छात्रों को पांच हजार रुपये दिए जाते हैं। इसे वह साइंस मॉडल बनाने तथा जिला और राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में जाने पर खर्च करते हैं।

ज़बर खबर : पढ़ना न भूलें

कोहली ब्रिगेड को दो टूक, श्रीलंका में नो बीवी नो गर्लफ्रेंड

बीसीसीआई ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों को सख्त निर्देश दिया है कि वे अपने साथ श्रीलंका टूर में बीवी या गर्लफ्रेंड न लेकर जाएं।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Kangra News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.


Share on Social Media