Breaking News in Hindi Friday, October 31, 2014
ताज़ा ख़बर >
Lite Version

Home > Hindi News > International News > More International News > Violence Against Capital Punishment In Egypt, 30 Dead

मिस्र: मौत की सज़ा के खिलाफ़ हिंसा, 30 मरे

मिस्र की अदालत ने पिछले साल फुटबॉल मैच के दौरान हुए दंगे के मामले में 21 लोगों को मौत की सज़ा सुनाई है। इस दंगे में 74 लोगों की मौत हो गई थी। अदालत के इस फैसले के बाद फिर से वहां ताज़ा हिंसा शुरू हो गई है जिसमें 30 लोगों की मौत हो गई है।

पोर्ट सईद स्टेडियम में हुए एक टॉप लीग फुटबॉल मैच के बाद शुरू हुआ दंगा मिस्र के फुटबॉल के इतिहास की सबसे बड़ी त्रासदी साबित हुई।

अदालत का फैसला आने के साथ ही पोर्ट सईद में लोगों का गुस्सा भड़क गया। जिन लोगों को यह सज़ा सुनाई गई थी उनके समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प हुई।

मिस्र में होस्नी मुबारक को सत्ता से बेदखल किए जाने की दूसरी वर्षगांठ के मौके पर हुए विरोध प्रदर्शन के बाद, यह ताज़ा हिंसा भड़की है।

शुक्रवार को हज़ारों की तादाद में प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति मोहम्मद मोरसी का विरोध करते हुए अपनी आवाज़ बुलंद की थी। उनका कहना था कि मोरसी ने क्रांति के साथ धोखा किया है।

मामला
पिछले साल के दंगे की वजह से यह फुटबॉल लीग टल गई। पोर्ट सईद में खेल खत्म होने के बाद यह दंगा शुरू हो गया था। स्थानीय टीम अल-माज़री के प्रशंसक पिच पर उतर आए और उन्होंने काहिरा क्लब के अल-अहली के समर्थकों पर पत्थरबाज़ी और आतिशबाज़ी शुरू कर दी।

अल-अहली समर्थकों के एक वर्ग ने पूर्व राष्ट्रपति मुबारक के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने में अहम भूमिका निभाई थी।

शनिवार को जिन 21 लोगों को मौत की सज़ा सुनाई गई है वे अल-माज़री के फैन हैं। काहिरा की अदालत में न्यायाधीश के इस फैसले की घोषणा करते ही पीड़ितों के रिश्तेदारों में खुशी की लहर दौड़ गई।

अधिकारियों का कहना है कि इस ताज़ा हिंसा में मरे 26 लोगों में से दो पुलिसकर्मी हैं। हिंसा के मद्देनजर सेना की टुकड़ियां शहर की सड़कों पर तैनात कर दी गई है।

अपने फैसले की घोषणा करते हुए न्यायाधीश ने कहा कि 9 मार्च को बाकी अभियुक्तों के बारे में फैसला सुनाया जाएगा।

हिंसा जारी
शुक्रवार को राजधानी काहिरा के तहरीर चौक पर सरकार विरोधी एक रैली निकाली गई थी और विपक्ष के समर्थक पुलिस के साथ भिड़ गए थे। मिस्र के 27 प्रांत में से 12 में विरोध प्रदर्शन और हिंसक झड़पें हुईं। वहीं स्वेज शहर में फैली हिंसा में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई।

उधर, इस्लामिया में प्रदर्शनकारियों ने मुस्लिम ब्रदरहुड पार्टी के मुख्यालय में आग लगा दी। काहिरा के तहरीर चौक पर मौजूद एक प्रदर्शनकारी का कहना था, “हमें न स्वतंत्रता मिली है और न सामाजिक न्याय। बेरोज़गारी और निवेश से जुड़ी समस्या का कोई हल नहीं निकल पाया है। पूरी अर्थव्यवस्था ही धराशायी हो गई है।”

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Rest Of World News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.

Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

सुरेंद्र कोली की फांसी पर हाईकोर्ट की रोक

high court stays hanging of surendra koli. निठारी कांड में फांसी की सजा पाए सुरेंद्र कोली की सजा पर हाईकोर्ट...

एंडी मरे ने कटाया वर्ल्ड टूर फाइनल्स का टिकट

Andy Murray Qualifies for World Tour Finals With Paris Win. एंडी मरे ने साल के अंत में लंदन में होने वाले वर्ल्ड टूर...

तस्वीरें: सागर में खिला कमल, देवेंद्र ने ली शपथ

devendra fadnavis swearing in ceremony देवेंद्र फडनवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। शपथग्रहण समारोह...

बतौर कप्तान अर्जुन तेंदुलकर करेंगे दक्षिण अफ्रीका का दौरा

Sachin s Son, Arjun, to Tour South Africa. सचिन तेंदुलकर के क्रिकेटर बेटे अर्जुन दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर रवाना होने...

ख़बरें राज्यों से

राजस्थान में सुस्त रहेगा नीलोफर

Neelofar remain sluggish in Rajasthan. अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान नीलोफर के सुस्त होने से राजस्थान में...

बीजेपी विधायक के निशाने पर वसुंधरा!

BJP legislator targets cm Raje. वसुंधरा मंत्रिमण्डल में जगह नहीं पाने के कारण भाजपा विधायक और वरिष्ठ नेता...

भंवरी मामला: आरोपी पूर्व मंत्री मदेरणा को सशर्त जमानत

Bhanwari case: Accused minister Maderna conditional bail. राजस्थान के चर्चित भंवरी देवी केस में आरोपी पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा को...

वसुंधरा टीम का विस्तार, 15 नए मंत्री शामिल

Vasundhara cabinet expanded. राजस्थान में महीनों से चल रही मंत्रीमंडल विस्तार की चर्चाओं पर आखिरकार विराम...