Breaking News in Hindi Friday, August 22, 2014
ताज़ा ख़बर >
Lite Version

Home > Hindi News > International News > More International News > Violence Against Capital Punishment In Egypt, 30 Dead

मिस्र: मौत की सज़ा के खिलाफ़ हिंसा, 30 मरे

मिस्र की अदालत ने पिछले साल फुटबॉल मैच के दौरान हुए दंगे के मामले में 21 लोगों को मौत की सज़ा सुनाई है। इस दंगे में 74 लोगों की मौत हो गई थी। अदालत के इस फैसले के बाद फिर से वहां ताज़ा हिंसा शुरू हो गई है जिसमें 30 लोगों की मौत हो गई है।

पोर्ट सईद स्टेडियम में हुए एक टॉप लीग फुटबॉल मैच के बाद शुरू हुआ दंगा मिस्र के फुटबॉल के इतिहास की सबसे बड़ी त्रासदी साबित हुई।

अदालत का फैसला आने के साथ ही पोर्ट सईद में लोगों का गुस्सा भड़क गया। जिन लोगों को यह सज़ा सुनाई गई थी उनके समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प हुई।

मिस्र में होस्नी मुबारक को सत्ता से बेदखल किए जाने की दूसरी वर्षगांठ के मौके पर हुए विरोध प्रदर्शन के बाद, यह ताज़ा हिंसा भड़की है।

शुक्रवार को हज़ारों की तादाद में प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति मोहम्मद मोरसी का विरोध करते हुए अपनी आवाज़ बुलंद की थी। उनका कहना था कि मोरसी ने क्रांति के साथ धोखा किया है।

मामला
पिछले साल के दंगे की वजह से यह फुटबॉल लीग टल गई। पोर्ट सईद में खेल खत्म होने के बाद यह दंगा शुरू हो गया था। स्थानीय टीम अल-माज़री के प्रशंसक पिच पर उतर आए और उन्होंने काहिरा क्लब के अल-अहली के समर्थकों पर पत्थरबाज़ी और आतिशबाज़ी शुरू कर दी।

अल-अहली समर्थकों के एक वर्ग ने पूर्व राष्ट्रपति मुबारक के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने में अहम भूमिका निभाई थी।

शनिवार को जिन 21 लोगों को मौत की सज़ा सुनाई गई है वे अल-माज़री के फैन हैं। काहिरा की अदालत में न्यायाधीश के इस फैसले की घोषणा करते ही पीड़ितों के रिश्तेदारों में खुशी की लहर दौड़ गई।

अधिकारियों का कहना है कि इस ताज़ा हिंसा में मरे 26 लोगों में से दो पुलिसकर्मी हैं। हिंसा के मद्देनजर सेना की टुकड़ियां शहर की सड़कों पर तैनात कर दी गई है।

अपने फैसले की घोषणा करते हुए न्यायाधीश ने कहा कि 9 मार्च को बाकी अभियुक्तों के बारे में फैसला सुनाया जाएगा।

हिंसा जारी
शुक्रवार को राजधानी काहिरा के तहरीर चौक पर सरकार विरोधी एक रैली निकाली गई थी और विपक्ष के समर्थक पुलिस के साथ भिड़ गए थे। मिस्र के 27 प्रांत में से 12 में विरोध प्रदर्शन और हिंसक झड़पें हुईं। वहीं स्वेज शहर में फैली हिंसा में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई।

उधर, इस्लामिया में प्रदर्शनकारियों ने मुस्लिम ब्रदरहुड पार्टी के मुख्यालय में आग लगा दी। काहिरा के तहरीर चौक पर मौजूद एक प्रदर्शनकारी का कहना था, “हमें न स्वतंत्रता मिली है और न सामाजिक न्याय। बेरोज़गारी और निवेश से जुड़ी समस्या का कोई हल नहीं निकल पाया है। पूरी अर्थव्यवस्था ही धराशायी हो गई है।”

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Rest Of World News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more Hindi News.

Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

झूठी वीडियो क्लिप द‌िखाने पर व‌िवादों में केबीसी

 kbc under controvercy  after fake video clip सदी के महानायक अमिताभ बच्चन की मेजबानी वाले बहुचर्चित शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’...

रेप की ऐसी सजा पहले नहीं सुनी होगी आपने

five Slap punishment of rape cases एक पंचायत ने तुगलकी फरमान सुनाते हुए बलात्कार के आरोपी को पांच थप्पड़...

पाक के साथ खराब रिश्तों से बिगड़ सकता है माहौल!

Bad relationship with pakistan may disturb current situation पाक के उच्चायुक्त और हुर्रियत नेताओं की मुलाकात के चलते सचिव स्तर की...

ब्रॉड के घुटने का ऑपरेशन चार सितंबर को होगा

Broad to undergo knee surgery on Sepetmber 4 इंग्लैंड के पेसर स्टुअर्ट ब्रॉड के दाएं घुटने का अगले महीने ऑपरेशन होगा,...

ख़बरें राज्यों से

नाबालिग बेटे की जिद ने ली पिता की जान

father crushed to death by son in car accident अगर आप अपने कम उम्र लाड़लों को कार की चाबी यूं ही थमा...

सहारनपुर में आजम खान की भैंसों की VIP खातिरदारी

azam khan buffalo get vip treatment in saharanpur भैंसों को लेकर चर्चाओं में रहे यूपी के कद्दावर मंत्री आजम खान एक...

अनजान के बहकावे में बच्चे ने देग में लगाई छलांग

children jump under the influence of unknown. अजमेर दरगाह की खौलती देग में छलांग लगाकर जान देने वाले किशोर को...

बीजेपी में नेता पुत्रों और रिश्तेदारों को नहीं मिलेंगे टिकट

relatives will not receive tickets in BJP. राजस्थान में भाजपा ने चार सीटों पर होने वाले उपचुनावों के लिए नेताओं...