Breaking News in Hindi Tuesday, May 26, 2015

Home > Samachar > International > Europe > Mobile World Congress

दुनिया का 'सबसे तेज मोबाइल' लांच

mobile world congress
सैमसंग के नए टेबलेट कंप्यूटर और ह्वावे के एक नए हैंडसेट एक्सेंड 2 के साथ मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस का आगाज हो गया है।

बार्सिलोना में हो रही मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस सालाना शो है जिसमें 1500 कंपनिया हिस्सा ले रही है। ह्वावे के एक्सेंड पी2 में 4.7 इंच का स्क्रीन है और 13 मेगा पिक्सल का कैमरा है।

ह्वावे का कहना है कि एक्सेंड पी2 दुनिया का सबसे तेज स्मार्ट फोन है जिस पर एलटीई 4 चिप की मदद से 4जी के तहत 150 मेगाबाइट प्रति सेकेंड की दर से आप डाउनलोड कर सकते हैं।

चीन की कंपनी ह्वावे का कहना है कि इस फोन में स्मार्ट टच फीचर है जिससे आप दस्तानों के साथ भी इस फोन के टच स्क्रीन को इस्तेमाल कर सकते हैं।

हालांकि इस फोन का स्क्रीन रेजोलूशन एलजी, नोकिया और एचटीसी फोन के मुकाबले कम है और ये फोन फुल एचडी वीडियो नहीं दिखा सकता।

बड़ा आयोजन
मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस को मोबाइल फोन का सबसे बड़ा आयोजन माना जाता है जहां कंपनियां अपना लोहा मनवाने की कोशिश करती है।

सैमसंग के इस नए टेबलेट में आठ इंच का स्क्रीन है और जिसका रिजोल्यूशन 189 पीपीआई (पिक्सल पर इंच) जिसका सीधा सा मतलब ये है कि इस टेबलेट का डिसप्ले ऐपल के आईपैड से बेहतर है।

सैमसंग के गैलेक्सी नोट 8.0 को एक मल्टी टास्किंग टेबलेट के तौर पर पेश किया गया है जिस पर एक समय में दो एप्लिकेश पर काम किया जा सकता है। साथ ही ये टेबलेट कलम और कागज़ के तौर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

कोरियाई कंपनी का कहना है कि गैलेक्सी नोट 8.0 काफी हल्का है और इससे आप फोन भी कर पाएंगे। ये टेबलेट अप्रैल से जून के बीच यूरोप, दक्षिण कोरिया और चीन में सीमित संख्या में उपलब्ध होगा।

स्मार्ट होते स्मार्टफोन
स्मार्ट फोन वक्त के साथ साथ और स्मार्ट होते जा रहे हैं। आजकल के स्मार्टफोन में क्वॉड कोर प्रोसेसर हैं और इनमें 13 मेगापिक्सल तक का कैमरा लगा होता है। इतना ही नहीं दिखने में भी सभी स्मार्टफोन लगभग एक जैसे ही नजर आते हैं यानी बड़ा सा शीशे का स्क्रीन और उस पर कोई बटन नहीं।

जिसका सीधा सा मतलब ये हैं कि हर फ़र्क और हर खासियत को ज़ोर देकर बताना होगा। एक और खास फीचर है जो आजकल के फोन में आने लगा है वो है नीयर फिल्ड कम्यूनिकेशन।

इस तकनीक के तहत आप अपने मोबाइल का इस्तेमाल कर किसी खेल आयोजन में जा सकते हैं। आपको छपी हुई टिकट नहीं खरीदनी होगी और आपका मोबइल आपकी टिकट का काम करेंगा और पैसे आपके मोबाइल से कट जाएंगे।

ये तकनीक काफी समय से चर्चा में है और अब पता चलेगा कि लोग इस तरह की तकनीक को कितना इस्तेमाल करना चाहते हैं।

ऐपल आईओएस या गूगल एंड्रायड
मोबाइल वर्ल्ड में कांग्रेस में लांच हो रहे मोबाइल फोन के बीच सबसे बड़ी मारा मारी मोबाइल ओपरेटिंग सिस्टम के बाजार में तीसरा स्थान हासिल करने के लिए है।

एंड्रायड और आईओएस ओपरेटिंग सिस्टम बाज़ार के अधिकतम हिस्से पर कब्ज़ा रखते हैं। जिसका सीधा सा मतलब है कि बाकी हर किसी को इस दौड़ में बने रहने के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ रहा है।

ऐसे में पिछले वर्षों में बाजार में अपनी हिस्सेदारी गंवाने वाली कंपनी नोकिया और ब्लैकबेरी की कोशिश होगी कि वो इस दौड़ में कोई स्थान हासिल कर सके।

ज़बर खबर : पढ़ना न भूलें

21 लाख की हो गई कुर्सी, क्या है मोदी कनेक्शन

क्या किसी कुर्सी की कीमत 21 लाख रुपए हो सकती है? पर ऐसा हुआ पीएम नरेंद्र मोदी का नाम जुड़ते ही।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Europe News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.


Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

रैली के बाद मोदी को बेहद नाखुश कर सकती हैं ये तस्वीरें

disturbance in modi mathura rally मथुरा में एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार की उपलब्धियां गिना रहे...

बड़ी खबरः इसी साल एक बार फिर हो सकता है आईपीएल!

mini ipl may be start in this year खबर है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) इसी साल के अंत में...

भारी सुरक्षा में कृष्‍ण की नगरी पहुंचे मोदी, देखिए तस्वीरें

pm narendra modi reaches mathura in high security pictures अपनी सरकार के एक साल पूरा होने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री मोदी रैली...

यूपी के कौशांबी में ट्रेन हादसा, 3 की मौत, कई घायल

Train accident in Kaushambi 4 killed , several injured यूपी के कौशांबी में मुरी एक्सप्रेस के नौ डिब्बे पटरी से उतर गए।...

ख़बरें राज्यों से

गुर्जर आंदोलनः दिल्‍ली-मुंबई ट्रैक ठप, 45 ट्रेनें रद

gurjar andolan: 45 train cancel राजस्‍थान में गुर्जरों के आंदोलन की तपिश अब पूरे देश को झेलनी पड़...

'नक्सली माटी के सपूत .....बच्चों की तरह होगा स्वागत'

CM raman singh supported naxal terrorist कभी नक्सलियों के सबसे बड़े विरोधी माने जाने वाले सीएम रमन सिंह के...

दबंगई: दलितों को 12 साल से नहीं भरने दे रहे पानी!

12 tough years for dalit in madhya pradesh ऐसा जुल्म तो जानवरों के साथ भी नहीं किया जाता है पर यहां...

गुर्जर आंदोलन उग्र, रेल ट्रैक के बाद हाइवे जाम

Gujjar agitation Was furious, now natioanl highway was also jam राजस्‍थान में चल रहा गुर्जरों का आंदोलन उग्र हो गया है। रेलवे ट्रैक...