Breaking News in Hindi Monday, March 30, 2015

Home > Hindi News > International News > Europe > Child Porn

पॉर्न की लोकप्रियता और मां-बाप का सिरदर्द

child porn
ब्रितानी अख़बार 'द इंडीपेंडेंट' ने एक लेख छापा है जिसमें एक मां ने बताया है कि कैसे उसके 11 साल के बेटे ने एक पॉर्न फ़िल्म देखी और उस पर इसका क्या मनोवैज्ञानिक प्रभाव हुआ।

बच्चे ने एक पॉर्न वीडियो देखा था जिसमें एक युवती को इस तरह की यौन क्रीड़ा के लिए विवश किया जाता है जो बहुत ही बर्बर और घिनौना थी।

अख़बार में छपे लेख में कहा गया है कि हालांकि बच्चे ने यह वीडियो दोस्तों के कहने पर देखी थी लेकिन इसे देखने के बाद वो खिंचा-खिंचा रहने लगा, उसके स्वभाव में चिड़चिड़ापन आ गया और वो छोटी छोटी बातों पर नाराज़ हो जाता था।

लेख में उस सर्वे का हवाला दिया गया है जो एक शिक्षक संघ ने हाल में ही प्रकाशित किया था।

'बच्चों को सचेत करें'
pornसर्वे में कहा गया है कि ब्रिटेन के आठ से 16 साल के बच्चों में से तक़रीबन 90 फ़ीसदी ने कभी न कभी पॉर्न फ़िल्म ज़रूर देखी होती है और इसलिए ज़रूरी है कि उनसे इस बारे में साफ़-साफ़ बातचीत कर इससे होने वाले नुक़सान के आगाह किया जाए।

पॉर्न अब इतना आम हो चुका है कि एक सर्वेक्षण के मुताबिक़ अधिकांश बच्चे 11 साल की उम्र तक इससे किसी न किसी सूरत में परिचित हो चुके होते हैं।

इंटरनेट पर होने वाले सर्च में से 25 फ़ीसद पॉर्न से संबंधित होते हैं और हर सेकंड कम से कम 30,000 लोग इस तरह की साइट देख रहे होते हैं।

बीबीसी में पहले छपे एक लेख के अनुसार किशोरों के पॉर्न वेबसाइट देखने का एक बड़ा नुक़सान उनके भीतर सेक्स को लेकर पैदा हो रही भ्रांतियों के रूप में सामने आ रहा है जो माता-पिता और अभिवावक के लिए सिरदर्द बनती जा रही है।

आज जबकि हर बच्चे के पास निजी कंप्यूटर, इंटरनेट कनेक्शन और स्मार्टफोन मौजूद है तो माता-पिता को ये भी नहीं समझ में आ रहा कि इस पर रोक कैसे लगाएं।

पाठ्यक्रम में पॉर्न
साल 2011 में यूरोप में किए गए एक सर्वेक्षण के मुताबिक नौ से 16 साल की उम्र के एक तिहाई बच्चों ने पॉर्न तस्वीरें देख रखीं थी लेकिन उनमें से सिर्फ 11 प्रतिशत ऐसे थे जिन्होंने ये तस्वीरें वेबसाइट पर देखी थीं।

जबकि 'यू गॉव' द्वारा किए गए सर्वेक्षण के अनुसार 16-18 साल के बच्चों में से भी एक तिहाई ने पॉर्न तस्वीरें मोबाइल फोन पर देखीं थी।

ब्रिटेन का 'नेशनल एसोसिएशन ऑफ हेड टीचर्स' देश के पाठ्यक्रम में पॉर्नोग्राफी के असर को शामिल करना चाहता है, ताकि बच्चों को 10 साल की उम्र से ही सेक्स के बारे में सकारात्मक जानकारी दी जा सके।

इसमें उन्हें असुरक्षित और विकृत सेक्स की पहचान करने और उससे बचने के बारे में बताया जाएगा। ऊची क्लास के बच्चों के लिए पाठ्यक्रम को और विस्तृत करने का भी सुझाव है।

एंड्रॉएड ऐप पर अमर उजाला पढ़ने के लिए क्लिक करें. अपने फ़ेसबुक पर अमर उजाला की ख़बरें पढ़ना हो तो यहाँ क्लिक करें.

Europe News in Hindi by Amarujala Digital team. Visit our homepage for more News in Hindi.


Share on Social Media

प्रमुख ख़बरें

मई में कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं राहुल

Rahul could be congress president in may संसद के बजट सत्र के दौरान अपने अवकाश से सुर्खियों में रहे कांग्रेस...

पाक का अगला वनडे कप्तान कौन, चौंकाएगा ये नाम!

Azhar Ali could be new Pakistan ODI skipper मिस्बाह-उल-हक का वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद पाकिस्तान टीम को जो...

चौंका देगी रमन सिंह के साले की तरक्‍की कहानी

corruption charges on raman singh's brother in law in chhattisgarh मुख्यमंत्री का साला होना तरक्की का नया फार्मूला है, और बात छत्तीसगढ़ की...

भूकंप के बाद सुनामी की चेतावनी, दहशत में ये देश

t-sunami alert after earthquake in papuwa new guinea पापुआ न्यू गिनी के तट पर भूकंप के तेज झटके आने के बाद...

ख़बरें राज्यों से

दहेज में नहीं दी भैंस तो बेटी समेत जिंदा जलाया

bihar: bride and her doughter murder in dowry matter भैंस की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को उसकी बेटी समेत जिंदा...

झारखंडः मुठभेड़ में दो नक्सली ढेर, मह‌िला नक्‍सली घायल

two naxali killed in police opration jharkhand झारखंड के लातेहार में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में दो नक्सली...

एबीवीपी पर लाठी चार्ज के विरोध में बिहार विधानसभा में हंगामा

bjp MLA protest in bihar assembly एबीवीपी के सदस्यों पर किए गए लाठी चार्ज के विरोध में शुक्रवार को...

छत्तीसगढ़ः नान घोटाले पर मचा घमासान, 29 विधायक निलंबित

oposition protest against chhattisagarh NAN scam छत्तीसगढ़ में नागरिक आपूर्ति निगम (निगम) में हुए घोटाले पर सरकार की मुश्किलें...