आपका शहर Close

पाकिस्तानी पीएम को राहत, सुनवाई टली

इसलामाबाद/एजेंसी

Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
pak-pm-ashraf-seeks-time-to-reopen-graft-cases
सुप्रीम कोर्ट में अवमानना मामले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रजा परवेज अशरफ को तीन हफ्ते की राहत मिल गई है। अशरफ सोमवार को सर्वोच्च अदालत में पेश हुए। सर्वोच्च अदालत ने राष्ट्रपति जरदारी के खिलाफ स्विट्जरलैंड में भ्रष्टाचार के मामले दोबारा खोलने में असफल रहने पर अशरफ को अवमानना मामले में तलब किया था।
चीन यात्रा के बहाने मिली राहत
गौरतलब है कि इससे पहले जरदारी के खिलाफ मामले खोलने से इनकार करने पर सर्वोच्च अदालत यूसुफ रजा गिलानी को अयोग्य ठहरा चुकी है जिसके बाद उन्हें प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ा था। जस्टिस आसिफ सईद खोसा की अध्यक्षता वाली पांच जजों वाली बेंच ने मामले की तारीख पहले 12 सितंबर तक बढ़ाई, लेकिन पीएम अशरफ द्वारा 14 सितंबर तक चीन की यात्रा पर रहने की बात कहने पर मामले की अगली तारीख 18 सितंबर मुकर्रर कर दी।

खुल सकता है जरदारी के ‌खिलाफ मुकदमा
बेंच ने अशरफ को अगली तारीख पर अदालत में उपस्थित रहने का भी निर्देश दिया। जरदारी के खिलाफ स्विट्जरलैंड में भ्रष्टाचार के मामले खोलने से इनकार करने पर अवमानना के मामले में अदालत में पेश होने वाले देश के दूसरे प्रधानमंत्री हो गए हैं अशरफ। लगभग 45 मिनट तक चली सुनवाई के दौरान अदालत ने अशरफ से फिर से कहा कि वह जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले फिर से खोलने के लिए स्विट्जरलैंड से संपर्क करने का आश्वासन दें।

अशरफ ने SC के प्रति जताई प्रतिबद्घता
जस्टिस खोसा ने कहा कि अशरफ खुद स्विस अधिकारियों को खुद पत्र न लिखें तो इसके लिए किसी और को नामित कर सकते हैं। जवाब में अशरफ ने कहा, ‘हम इस मुद्दे को उचित तरीके से हल करने की कोशिश करेंगे, जिससे सर्वोच्च अदालत की गरिमा और सम्मान बरकरार रहे।’ पाक पीएम ने कहा, ‘मेरा मानना है कि इस मुद्दे को लंबित रखना पाकिस्तान के हित में नहीं है। हम अदालत को में सकारात्मक प्रतिबद्धता जताते हैं कि हम इस मुद्दे को हल करेंगे।’

अशरफ ने कहा कि वह न्यायपालिका का सम्मान करते हैं और मामले के हल के लिए चार से छह हफ्ते का समय चाहते हैं, जिससे कानून के विशेषज्ञों से सलाह मशविरा किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि वह अपने पूर्ववर्ती पीएम गिलानी की ही तरह अदालत में पेश हुए हैं। उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट इससे पहले संसद द्वारा पारित उस कानून को खारिज कर चुकी है जिसकी मदद से सत्तारूढ़ पार्टी पीएम अशरफ को अदालत की अवमानना से बचाना चाहती थी।

'अभियुक्त नहीं पीएम के रूप में पेश हुए अशरफ'
अशरफ ने अदालत से 8 अगस्त को उनके खिलाफ जारी अवमानना मामले में कारण बताओ नोटिस वापस लेने की अपील की। जस्टिस खोसा ने कहा कि प्रधानमंत्री अभियुक्त के रूप में अदालत में नहीं पेश हुए हैं बल्कि एक सम्मनित देश के पीएम के रूप में पेश हुए हैं। जस्टिस खोसा ने यह भी कहा कि अदालत को कोई आश्वासन नहीं दिया गया है, अब कानून के अनुसार मामले का समाधान किया जाएगा।

अदालत का सुझाव
प्रधानमंत्री कानून मंत्रालय को अदालत के आदेश पर अमल करने के लिए राष्ट्रपति जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले फिर से खोलने के लिए स्विस अधिकारियों को पत्र लिखने का निर्देश दे सकते हैं।
Comments

Browse By Tags

स्पॉटलाइट

ऐसे करेंगे भाईजान आपका 'स्वैग से स्वागत' तो धड़कनें बढ़ना तय है, देखें वीडियो

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

सलमान खान के शो 'Bigg Boss' का असली चेहरा आया सामने, घर में रहते हैं पर दिखते नहीं

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

आखिर क्यों पश्चिम दिशा की तरफ अदा की जाती है नमाज

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

सलमान खान को इंप्रेस करने के चक्कर में रणवीर ने ये क्या कर डाला? देखें तस्वीरें

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में निकली वैकेंसी, मुफ्त में करें आवेदन

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

Most Read

यातायात बाधित

Trolley collide with broken boom, traffic interrupted
  • गुरुवार, 16 नवंबर 2017
  • +

अवैध कट

Highway illegal cut stop
  • सोमवार, 13 नवंबर 2017
  • +

दंपति को रौंदा, मौत

Mourning truck kills rope, death in a cottage
  • गुरुवार, 16 नवंबर 2017
  • +

साड़ी प्रकरण में गायत्री को जमानत

Gayatri bail
  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

डीसीएम में घुसी कार, एक की मौत

Dies in DCM, one killed
  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

अध्यक्ष पद के सात उम्मीदवारों ने छोड़ा मैदान

Seven candidates in the presidential race left the ground
  • मंगलवार, 14 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!