आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

30 जून को 61 सेकंड का होगा एक मिनट

लंदन/इंटरनेट डेस्क

Updated Fri, 29 Jun 2012 12:00 PM IST
june-30-to-be-longer-than-other-days-by-1-second
इस साल 30 जून की अवधि एक सेकंड लंबी होगी। इस दिन एक मिनट ऐसा होगा जिसकी अवधि 61 सेकंड की होगी। खास बात यह है कि वैज्ञानिकों ने जानबूझकर 30 जून की अवधि को एक सेकंड लंबा किया है। इस खास सेकंड को 'लीप सेकंड' नाम दिया है।
क्यों बढ़ जाएगी 30 जून की अवधि
वैज्ञानिकों कि माने तो दुनिया के सभी घड़ियों को सोलर टाइम से तालमेल बिठाने के लिए 30 जून की अवधि को एक सेकंड बढ़ाया गया है। इस एक सेकंड को जोड़ने से फायदा यह होगा कि धरती को एक दिन पूरा करने में जितना वक्त अब से चाहिए होगा, हमारा समय यानी घड़ी भी उसी के हिसाब से सेट हो जाएगी। वैज्ञानिकों ने कहा कि यूनिवर्सल टाइम कूडीन (यूटीसी) में पहले भी एक सेकंड जोड़ा जा चुका है। यह घटना 25वीं बार किया जाएगा।

ज्वार भाटा घटा देती है पृथ्वी की गति
सूरज, चांद और समुद्र के उठने वाले ज्वार भाटा पृथ्वी को अपनी धुरी पर घुमने में बाधा पहुंचाते हैं। इन सभी के गुरुत्वाकर्षणीय बल के चलते कई बार पृथ्वी को अपनी धुरी पर घुमने में एक हल्के सेकंड का फर्क पैदा कर देता है।

इससे धरती इंटरनेशनल अटॉमिक टाइम यानी टीएआई की 'टाइमिंग' से आगे-पीछे खिसक जाती है। दरअसल TAI के लिए काम करने वालीं सैंकड़ों एटॉमिक घड़ियों के जरिए एटम्स के स्पंदन को नापा जाता है। यह इतना ऐक्यूरेट होता है कि सीजियम के एक सेकंड के हजारवें हिस्से की हलचल को भी भांप लेता है।

जून 30 या 31 दिसंबर को होता है 'लीप सेकंड'
वैसे इस प्रकार की अडजस्टमेंट 1972 से शुरू हुई थी। इससे पहले तो टाइम सूरज या सितारों और धरती के हिसाब-किताब से तय किया जाता था। यह वही तरीका था जिसे जीएमटी यानी ग्रीनविच मीन टाइम कहा जाता है। इसके बाद यूटी-1 तरीका आया। टीएआई और यूटी-1 के बीच में विसंगति बढ़ने की स्थिति में इंटरनेशलन अर्थ रोटेशन ऐंड रेफरेंस सिस्टम्स सर्विसेस (IERS) एक 'लीप सेकंड' की घोषणा कर देता है। 'लीप सेकंड' की घोषणा हमेशा हमेशा एक महीने पहले की जाती है। यह अतिरिक्त सेकंड हमेशा आधी रात के समय ही जोड़ा जाता है। 'लीप सेकंड' हमेशा जून 30 या 31 दिसंबर को होता है।


पिछली तीन बार यह ऐडजस्टमेंट 2008, 2005 और 1998 में हुआ था। 1972 में दो बार लीप सेकंड जोड़ा गया था। इसके बाद सात साल तक हर साल 6 सेकंड जोड़े जाते रहे।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

स्पॉटलाइट

कई बीमारियों का इलाज करता है शिव का प्रिय 'धतूरा'

  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017
  • +

पैरों को मोड़कर बैठना हो सकता है खतरनाक..अब गलती से भी न बैठें ऐसे

  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017
  • +

इस हीरो के बोल्ड सीन देख छूट गए थे सभी के पसीने, आज जी रहा गुमनामी की जिंदगी

  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017
  • +

Indian Couture Week 2017: राजस्थानी प्रिंसेस लुक में रैंप पर उतरीं दिया मिर्जा

  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017
  • +

इन खास मौकों पर हमेशा झूठ बोलती हैं लड़कियां, ऐसे करें पता

  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017
  • +

Most Read

अफसरों से भिड़े साधु-संत

Fight with the officers
  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017
  • +

मां-बेटियां दबीं

Due to the hailstorm in the rain, mother and daughters buried
  • रविवार, 23 जुलाई 2017
  • +

छात्रों का हंगामा

In the mid-day meal
  • रविवार, 23 जुलाई 2017
  • +

मौत

Contractual death of a contractor
  • शनिवार, 15 जुलाई 2017
  • +

मुफ्त कनेक्शन पाओ

Show BPL Card, Get Free Connection
  • बुधवार, 19 जुलाई 2017
  • +

नर्सिंग होम

37 nursinghomes not found leagle
  • बुधवार, 19 जुलाई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!