आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

पनेटा ने चीन को दी चेतावनी

सिंगापुर/एजेंसी

Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
Pneta-warns-china
एशिया प्रशांत क्षेत्र की अपनी नीति के तहत अमेरिका ने कहा है कि वह अपने अधिकतर युद्धपोत इस क्षेत्र में तैनात करेगा। अमेरिकी रक्षा मंत्री लियोन पनेटा ने शनिवार को घोषणा की कि वर्ष 2020 तक अमेरिकी बेड़े के 60 प्रतिशत युद्धपोत एशिया प्रशांत क्षेत्र में तैनात किए जाएंगे।
उन्होंने यह बात सिंगापुर में क्षेत्रीय सुरक्षा संबंधी बैठक को संबोधित करते हुए कही। अमेरिकी नौसेना के पास फिलहाल 285 जंगी जहाज हैं। इनमें से आधे एशिया प्रशांत में पहले ही तैनात हैं। समझा जाता है कि पनेटा ने चीन को दक्षिणी चीन सागर पर परोक्ष रूप से चेतावनी दी है।

एशिया प्रशांत क्षेत्र में ज्यादा युद्ध पोतों की तैनाती के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह पिछले साल नवंबर में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा घोषित की गई नई अमेरिकी सुरक्षा रणनीति का हिस्सा है। तब ओबामा ने कहा था कि 21वीं सदी में एशिया प्रशांत क्षेत्र के भविष्य में अमेरिका अहम भूमिका निभाएगा।

पनेटा ने दक्षिण चीन सागर समेत कई मुद्दों को लेकर चीन और अमेरिका के बीच मतभेद की बात स्वीकार की, लेकिन इस बात से इंकार किया कि यह कदम क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव को देखते हए उठाया गया है। पिछले साल नवंबर में नई अमेरिकी सामरिक नीति की घोषणा करते हुए ओबामा ने कहा था कि अमेरिका उत्तरी ऑस्ट्रेलिया में अपने लड़ाकू विमान और 2500 सैनिक तैनात करेगा।

पनेटा ने कहा, वर्ष 2020 तक अमेरिकी नौसेना प्रशांत महासागर और अटलांटिक महासागर में 50-50 प्रतिशत की युद्धपोतों की तैनाती को बदलते हुए एशिया प्रशांत में 60 और अटलांटिक में 40 प्रतिशत की तैनाती करेगा। उनका यह बयान शुक्रवार को एशिया प्रशांत क्षेत्र की सात दिवसीय यात्रा के शुरुआत में आया है। इस यात्रा का उद्देश्य अपने साझीदारों समेत क्षेत्र के देशों को जनवरी में लागू की गई अमेरिकी सैन्य रणनीति से अवगत कराना है।

एशिया प्रशांत में तैनात किए जाने वाले पोतों में छह विमान वाहक युद्धपोत, अधिकतर डेस्ट्रायर, लड़ाकू समुद्री जहाज और पनडुब्बियां शामिल हैं। अपनी इस यात्रा के दौरान पनेटा भारत और वियतनाम भी जाएंगे। उनकी यह यात्रा फिलीपींस और चीन के बीच दक्षिण चीन सागर क्षेत्र की संप्रभुता पर अपना अधिकार जमाने को लेकर जारी तनाव के बीच हो रही है। दरअसल दक्षिण चीन सागर स्थित एक द्वीप पर चीन और फिलीपींस दोनों ही अपना दावा जताते हैं।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

स्पॉटलाइट

बनना चाहते हैं बॉस के 'फेवरेट' तो तुरंत करें ये काम

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

करीना के सामने मनीष मल्होत्रा की पार्टी पड़ी फीकी, ड्रेस देखकर उड़ गए सबके होश

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

ग्रेजुएट्स के लिए 'इंवेस्टीगेशन ऑफिसर' बनने का मौका, 67 हजार सैलरी

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

बारिश में झड़ते बालों से हैं परेशान? चुटकी में ऐसे दूर होगी समस्या

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

चाणक्य नीति: ये तीन बातें किसी पुरुष के बुरे समय का कारण बनती हैं

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top