आपका शहर Close

हरियाणा में रेडलाइट एरिया नहीं, फिर भी 4731 यौनकर्मी

सिरसा/ब्यूरो

Updated Mon, 29 Oct 2012 12:59 PM IST
sex workers exist in haryana despite no read light area
वेश्यावृत्ति अपराध है और इसे लेकर कानून में दंड का प्रावधान है। हरियाणा में एक भी स्वीकृत रेडलाइट एरिया नहीं है, लेकिन यौनकर्मियों की संख्या प्रदेश भर में हजारों में है। महिला एवं बाल विकास विभाग ने आरटीआई के तहत मांगी गई जानकारी उपलब्ध कराते हुए प्रदेश में यौनकर्मियों का जिलेवार ब्यौरा उपलब्ध कराया है।
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, प्रदेश में अंबाला और यमुनानगर जिलों में सबसे ज्यादा यौनकर्मी हैं जबकि सिरसा जिले में 400 यौनकर्मी हैं। विभाग ने यह जानकारी महिला यौनकर्मियों के बारे में किए गए सर्वे के आधार पर दी है।

विभाग द्वारा आरटीआई के तहत दी गई जानकारी के अनुसार, सर्वाधिक यौनकर्मी यमुनानगर व अंबाला में हैं, जहां इनकी संख्या एक-एक हजार है। प्रदेश के 21 में से 13 जिलों की रिपोर्ट में फरीदाबाद में कोई यौनकर्मियों नहीं है जबकि हिसार में यह संख्या 17 है।

आरटीआई कार्यकर्ता एडवोकेट पवन पारिक द्वारा प्रदेश में यौनकर्मियों के बारे में जानकारी मांगी गई थी। हरियाणा सिविल सेवाएं चंडीगढ़ ने प्रदेश में अधिकारिक तौर पर किसी यौनकर्मी के होने से इंकार किया। वहीं, सामान्य प्रशासन विभाग ने भी यौनकर्मियों के पुनर्वास के तहत सरकारी नौकरी में आरक्षण के किसी प्रावधान से इंकार किया। महिला एवं बाल विकास विभाग हरियाणा के महानिदेशक द्वारा बताया गया कि यौनकर्मियों के कल्याण के लिए विभाग द्वारा योजनाएं बनाई गई हैं।

विभाग द्वारा यौनकर्मियों के पुनर्वास के बारे में दी गई जानकारी में बताया गया कि जींद की 14 और करनाल की 42 यौनकर्मियों को स्वरोजगार प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण का प्रस्ताव भेजा गया है ताकि वे इस दलदल से बाहर निकल सकें। विभाग द्वारा यह भी बताया गया है कि यौनकर्मियों के बच्चों के स्कूल में दाखिले के समय उनके सामाजिक स्तर को नजरअंदाज करने के निर्देश तमाम जिला उपायुक्तों को दिए गए हैं।

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा महिला यौनकर्मियों की संख्या 4,731 बताई गई है, वहीं प्रदेश सरकार की नजर में प्रदेश में एक भी यौनकर्मी नहीं है। सरकार का ही एक विभाग पूरे प्रदेश में यौनकर्मियों का सर्वे करवा रहा है और जिला उपायुक्तों के माध्यम से यौनकर्मियों की संख्या भी सामने आ रही है।

यौनकर्मियों की संख्या और उनकी दशा जांचने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग हरियाणा द्वारा लगभग एक वर्ष पूर्व प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों को सर्वे करने की हिदायत दी गई थी। विभाग के पत्र क्रमांक 1916 दिनांक 8 अगस्त, 2011 में महिला यौनकर्मियों का सर्वे करने के लिए कहा गया था। लेकिन प्रशासनिक अमले ने इस संवेदनशील मसले पर कोई गंभीरता नहीं दिखाई। परिणामस्वरूप प्रदेश के मात्र 13 जिलों से ही रिपोर्ट हासिल हुई।

जिला            यौनकर्मियों की संख्या
सिरसा               400
झज्जर               134
हिसार                 17
रेवाड़ी                806
यमुनानगर            1000
अंबाला               1000
भिवानी                50
कुरुक्षेत्र               500
करनाल               824
Comments

स्पॉटलाइट

Special: पहले से तय है बिग बॉस की स्क्रिप्ट, सामने आए 3 फाइनिस्ट के नाम लेकिन जीतेगा कोई चौथा

  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

एक रिकॉर्ड तोड़ने जा रही है 'रेस 3', सलमान बिग बॉस में करवाएंगे बॉबी देओल की एंट्री

  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

मिलिये अध्ययन सुमन की नई गर्लफ्रेंड से, बताया कंगना रनौत से रिश्ते का सच

  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

मां ने बेटी को प्रेग्नेंसी टेस्ट करते पकड़ा, उसके बाद जो हुआ वो इस वीडियो में देखें

  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

Bigg Boss के घर में हिना खान ने खोला ऐसा राज, जानकर रह जाएंगे सन्न

  • शुक्रवार, 24 नवंबर 2017
  • +

Most Read

पुरुषों के आत्महत्या करने की खबर कभी नहीं सुनी : मेनका 

Never heard of men committing suicide, Says Minister Maneka Gandhi
  • शुक्रवार, 30 जून 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!