आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

'बात नहीं मानते पुलिसकर्मी, बढ़ रहा अपराध'

अलीगढ़/ब्यूरो

Updated Mon, 03 Dec 2012 10:36 AM IST
lack of team spirit in uttar pradesh police
अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था और अपराध अरुण कुमार ने बढ़ते अपराधों की प्रमुख वजह पुलिस में चेन ऑफ आर्डर और टीम भावना की कमी बताई है। उन्होंने कहा कि हर नीचे वाला ऊपर वाले का आदेश नहीं मानता, इसलिए टीम भावना में कमी आ रही है और अपराध बढ़ रहा है। हमें इस कमी को दूर करना होगा और हाईटेक पुलिसिंग के साथ-साथ पुरानी पुलिसिंग को भी जिंदा रखना होगा, तभी स्वच्छ और अपराधमुक्त समाज की दिशा में हम बढ़ सकेंगे।
अरुण कुमार रविवार को अलीगढ़-हाथरस के थानास्तर के अधिकारियों की मीटिंग कर रहे थे। पुलिस लाइन मनोरंजन सदन में हुई इस मीटिंग की शुरुआत परिचय से हुई। उन्होंने कहा कि डीजी स्तर से अगर कोई आदेश जारी होता है तो उसका पालन नहीं हो पाता, जबकि कोई भी बड़ा अधिकारी अगर आदेश देता है तो कुछ सोच-समझकर ही देता होगा। सबसे बुरा हाल थाना स्तर पर होता है। एसओ की बात न नीचे वाला मानता है और न ऊपर वाला। इसके पीछे विश्वास की कमी और टीम भावना का अभाव बड़ी वजह है। वे इसकी प्रमुख वजह स्टाफ में कुंठा भी मानते हैं।

उन्होंने कहा कि सिपाही और दारोगा भरती होते हैं। मगर साहब की इच्छा के अनुसार काम न होने पर प्रमोशन के बजाय उसके खिलाफ फाइल खुल जाती है। इससे प्रमोशन लटक जाता है और वह कुंठा से ग्रसित हो जाते हैं। उन्होंने पब्लिक की बात सुनने पर विशेष जोर देते हुए कहा कि अगर आप सुनेंगे तो कोई नेता के पास नहीं जाएगा। खुद ही थानों और अधिकारियों के दफ्तरों में नेताओं की भीड़ कम होगी।

उन्होंने कहा कि एसओ पुलिस की सबसे मजबूत कड़ी है। उसे मजबूत करना होगा, पुरानी पुलिसिंग को भी कायम रखना होगा। अधिकारियों को चाहिए कि वे एसओ की बात पर विश्वास करें, किसी की सुनकर सीधे एक्शन न लें। उन्होंने दिवाली पर फिरोजाबाद की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश में जुए के खिलाफ छापेमारी न करने के निर्देश थे। बावजूद वहां कार्रवाई हुई और एक मौत पर इतना बखेड़ा हुआ।

दूसरा उदाहरण उन्होंने दिया कि 200 पुलिसकर्मियों के सामने 50 लोग उपद्रव करते रहते हैं। यह कमजोरी नहीं तो और क्या है। स्टाफ लगातार बढ़ रहा है, मगर कार्यक्षमता कम हो रही है। हमें अपनी बेसिक पुलिसिंग का ध्यान रखना है, सिर्फ जमीनी विवादों के निपटाने में नहीं उलझे रहना है।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

जानें क्या कहता है आपके आईलाइनर लगाने का अंदाज

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

रात में लाइट जलाकर सोते हैं तो हो जाएं सावधान

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

गीता बाली से शादी के बाद शम्मी कपूर की जिंदगी में हुआ था ये चमत्कार, रातोंरात बन गए थे सुपरस्टार

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

अगर आप हैं ऑयली स्किन से परेशान तो जरूर आपनाएं ये घरेलू उपाय

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

54 वर्ष की उम्र में भी झलक रही है श्रीदेवी की खूबसूरती, देखें तस्वीरें

  • बुधवार, 23 अगस्त 2017
  • +

Most Read

पुरुषों के आत्महत्या करने की खबर कभी नहीं सुनी : मेनका 

Never heard of men committing suicide, Says Minister Maneka Gandhi
  • शुक्रवार, 30 जून 2017
  • +

'विराट' के बाद नौसेना से एल्बाट्रॉस विमान की भी विदाई

India Navy Adieu Farewells To Albatross Patrol Aircraft
  • बुधवार, 8 मार्च 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!