आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

बिना बिजली के चलेगी वाशिंग मशीन, आधे घंटे में धुलेंगे 3 kg कपड़े

हसीन खान/पंतनगर

Updated Tue, 09 Oct 2012 11:52 PM IST
washing machine without electricity half an hour three kilos clothes
उत्तराखंड के पंत विश्वविद्यालय के प्रोडक्शन इंजीनियरिंग विभाग ने एक ऐसी वाशिंग मशीन डिजाइन की है, जिसे बिना बिजली के चलाया जा सकता है। इसे मैनुअली ड्रिवन पैडल पॉवर्ड वाशिंग मशीन नाम दिया गया है।
मशीन पर्यावरण के अनुरूप है। यह शारीरिक व्यायाम के लिए भी उपयोगी है। इसमें एक साथ कई कपड़ों की सामान्य से अच्छी धुलाई की जा सकती है। यह डिजाइन बाजार में उपलब्ध हॉरीजेंटल अर्थात क्षैतिज अक्षीय वॉशर के समरूप है।

भीतरी ड्रम जिसमें कपड़ों को रखा जाता है, प्लास्टिक के युटिलिटी टब से निर्मित है। भीतरी ड्रम छिद्रयुक्त होता है, ताकि ड्रम कपड़ों से पानी को निचोड़ सके। गीले कपड़ों को निचोड़ने की अधिकतम क्षमता 40 प्रतिशत है। इसके भीतरी ड्रम में तीन त्रिभुजाकार पत्तियां लगी हुई हैं, जो कपड़ों को धुलाई के दौरान घुमाती रहती हैं।

मुख्य संरचना एक साधारण ट्यूब फ्रेम से जुड़ी हुई है, जो कि साइकिल के फ्रेम से बनी हुई है। भीतरी ड्रम एक पैडल सॉफ्ट से जुड़ा हुआ है, इस पैडल सॉफ्ट के विपरीत एक गियर सिस्टम लगा हुआ है, जिससे ड्रम को घुमाया जाता है। गियर को पैडल से जोड़ने के लिए चैन का उपयोग किया गया है।

ऑपरेटर कपड़ों को बाहरी बैरल में बने कट आउट से निकाल एवं डाल सकता है। गंदे पानी को बाहर निकालने के लिए बैरल के निचले हिस्से में एक वॉल्व लगा हुआ है। लगभग तीन किलो वजन के सूखे कपड़े धोने के लिए 35 लीटर पानी और डिटर्जेंट की सामान्य मात्रा का उपयोग करते हुए 30 मिनट का समय लगता है।

प्रोडक्शन इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष डॉ. आरएस जादौन ने बताया मशीन मैदानी और पर्वतीय क्षेत्रों के दूरस्थ एवं विद्युत सुविधा से वंचित क्षेत्रों को ध्यान में रखकर डिजाइन की गई है। बाजार में लाने पर इसकी अनुमानित लागत लगभग सात हजार रुपये आएगी।

इंजीनियर कॉलेज के डीन डॉ. एचसी शर्मा ने बताया मशीन को कामर्शियल मोड में तैयार कराने के लिए परियोजना तैयार की जाएगी। परियोजना राज्य सरकार को उपलब्ध कराई जाएगी। राज्य सरकार के सहयोग से इसे किसानों एवं विद्युत से वंचित ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचाया जाएगा।
  • कैसा लगा
Comments

स्पॉटलाइट

नवरात्रि 2017 पूजा: पहले दिन इस फैशन के साथ करें पूजा

  • बुधवार, 20 सितंबर 2017
  • +

इन 4 तरीकों से चुटकियों में बढ़ेंगे आपके बाल...

  • बुधवार, 20 सितंबर 2017
  • +

'श्री कृष्‍ण' बनाने वाले रामानांद सागर की पड़पोती सोशल मीडिया पर हुईं टॉपलेस, देखें तस्वीरें

  • बुधवार, 20 सितंबर 2017
  • +

महिला ने रेलवे स्टेशन से कर ली शादी, जानिए ये दिलचस्प लव स्टोरी

  • बुधवार, 20 सितंबर 2017
  • +

महेश भट्ट की खोज थी 'आशिकी' की अनु, आज इनको देख आ जाएगा रोना

  • बुधवार, 20 सितंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!