आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

टाटा की विदाई के साथ गुजर जाएगा एक जमाना

नई दिल्ली/अमर उजाला ब्यूरो

Updated Tue, 18 Dec 2012 10:58 PM IST
tata sons appoints cyrus p mistry chairman from dec 28
सारी दुनिया के लिए नया साल शुरू होने से चार दिन पहले देश के जाने-माने कारोबारी घराने टाटा समूह के लिए एक नया युग शुरू हो जाएगा। 28 दिसंबर को रतन टाटा की जगह साइरस मिस्त्री के टाटा सन्स के चेयरमैन की कुर्सी संभालते ही ग्लोबल हो चुकी इस औद्योगिक रियासत का न सिर्फ निजाम बदल जाएगा, बल्कि यह दस्तक होगी टाटा सहित देश के समूचे उद्योग जगत में एक नए दौर की।
टाटा समूह से जुड़े लोगों के लिए रतन टाटा की विदाई जहां एक भावपूर्ण लम्हा होगा, वहीं उद्योग और कारोबार जगत के लिए यह वक्त होगा कॉरपोरेट दुनिया की इस अजीम शख्सियत की उपलब्धियों पर नजर डालने और टाटा समूह की भावी दशा-दिशा पर विचार करने का।

रतन के जाने और साइरस के आने की इस घड़ी में एक स्वाभाविक सवाल सभी के मन में जरूर उठ रहा है कि जिस तरह एक पारंपरिक औद्योगिक घराने को टाटा ने अपनी सूझबूझ से आईटी, सॉफ्टवेयर, टेलीकॉम और सोलर एनर्जी जैसे नए क्षेत्रों में लाते हुए और कोरस, नेट स्टील, जगुआर व लैंडरोवर जैसी दिग्गज बहुराष्ट्रीय कंपनियों को खरीद कर एक ग्लोबल हैसियत दी है, साइरस उसे किस तरह और किस हद तक आगे बढ़ा पाएंगे।

हालांकि चेयरमैन का पद छोड़ने के बावजूद रतन टाटा समूह को बतौर ‘अवकाशप्राप्त अध्यक्ष’ दिशा देते रहेंगे, पर रतन को करीब से जानने वालों का मानना है कि ज्यादातर वह अपनी भूमिका को एक अभिभावक की तरह रखते हुए साइरस को बड़े फैसले लेने और समूह को उनके द्वारा छोड़े गए मुकाम से आगे ले जाने का पूरा-पूरा मौका देंगे।

टाटा सन्स ने इस बाबत औपचारिक रूप से एक बयान जारी करते हुए बताया है कि समूह के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने चेयरमैन के पद पर साइरस पी मिस्त्री की नियुक्ति की घोषणा की है और वह 28 दिसंबर 2012 को रतन एन टाटा की जगह पदभार संभालेंगे। बयान में बताया गया है कि चेयरमैन पद से हटने के बाद भी रतन टाटा चेयरमैन इमेरिटस यानी ससम्मान अवकाशप्राप्त अध्यक्ष के रूप में टाटा सन्स से जुड़े रहेंगे।

वर्ष 2006 से टाटा सन्स के डायरेक्टर रहे साइरस मिस्त्री को रतन टाटा का वारिस चुनते हुए पिछले साल नवंबर में समूह का डिप्टी चेयरमैन बनाया गया था। इस पद पर साइरस की नियुक्ति के साथ ही करीब दो साल तक चली टाटा के उत्तराधिकारी की खोज और समय-समय पर इस बाबत नोएल टाटा समेत विभिन्न नामों की अटकलों का दौर थम गया था। डिप्टी चेयरमैन पद पर करीब सालभर काम करते हुए चेयरमैन पद की जिम्मेदारियों और दायित्वों को भली-भांति समझने के बाद पिछले माह साइरस को टाटा मोटर्स का चेयरमैन बनाया गया था।

इस जिम्मेदारी को भी वह 28 दिसंबर को संभाल लेंगे। इसके साथ ही समूह की अन्य दो महत्वपूर्ण कंपनियों टाटा स्टील और टाटा कैमिकल्स के चेयरमैन का पद भी उनके पास आ जाएगा। गौरतलब है कि रतन टाटा ने साइरस को समूह की कमान सौंपने की शुरुआत के तौर पर पिछले माह टाटा ग्लोबल बेवरेजज का चेयरमैन पद सौंप दिया था। इसके साथ ही साइरस को टाटा कंसल्टेंसी के डिप्टी चेयरमैन का पद देते हुए होटल कारोबार से जुड़ी समूह की कंपनी इंडियन होटल्स कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में शामिल कर लिया गया था।

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

रजनीकांत की बेटी ने ऑटो ड्राइवर को मारी टक्कर तो ड्राइवर ने दी ये धमकी..

  • मंगलवार, 28 फरवरी 2017
  • +

कॉमेडी ‌किंग कादर खान की ऐसी हो गई हालत, बुढ़ापे में परिवार ने भी छोड़ दिया साथ

  • मंगलवार, 28 फरवरी 2017
  • +

बच्चे की वजह से पिता नहीं मां की नींद को लगता है ग्रहण

  • मंगलवार, 28 फरवरी 2017
  • +

इस हीरो ने कंगना पर उगला जहर, कहा 'कोकीन पीने वाली हीरोइन आज मुंह के बल गिरी'

  • मंगलवार, 28 फरवरी 2017
  • +

सेहत के लिए रामबाण है शहद और दालचीनी का नुस्खा, लेकिन प्रेग्नेंट औरतें रहें दूर

  • मंगलवार, 28 फरवरी 2017
  • +
TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top