आपका शहर Close

एसएंडपी ने भारत की विकास दर का अनुमान घटाया

नई दिल्‍ली/इंटरनेट डेस्क

Updated Mon, 24 Sep 2012 03:45 PM IST
SandP lowers GDP growth forecast on weak monsoon
आर्थिक सुधारों की दिशा में तेजी से बढ़ रही केंद्र सरकार को रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ने फिर झटका दिया है। एजेंसी ने 2012-13 के लिए भारत की विकास दर का अनुमान 1 फीसदी घटाकर 5.5 फीसदी कर दिया है। इससे पहले एसएंडपी ने भारत का आउटलुक भी नेगेटिव किया था। एसएंडपी के अलावा क्रिसिल भी भारत की अनुमानित जीडीपी दर घटाकर 5.5 फीसदी कर चुकी है। 2012-13 के लिए एचएसबीसी भी भारत की विकास दर का अनुमान कम कर चुकी है।
विशेषज्ञों का मानना है कि रेटिंग एजेंसी का निर्णय इस बात का संकेत है कि भारत को आर्थिक सुधार के लिए अभी और कदम उठाने की जरूरत है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पिछले सप्ताह मल्टी ब्रांड रिटेल और एविएशन में एफडीआई की इजाजत देकर सुधार की तरफ तेजी से बढ़ने के संकेत दिए थे। केंद्र आर्थिक सुधारों के कुछ और निर्णय ले सकता है, इस बात के भी कयास लगाए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार, सी रंगराजन ने कहा है कि एसएंडपी का जीडीपी दर का अनुमान गलत है। अर्थव्यवस्था में कई तरह के सुधार के संकेत दिख रहे हैं और आने वाले 6 महीनों में अर्थव्यवस्था की हालत सुधरेगी। एसएंडपी ने भारत के अलावा चीन का भी जीडीपी दर अनुमान 0.5 फीसदी से घटाया है। एसएंडपी के मुताबिक चीन की ग्रोथ 7.5 फीसदी रह सकती है। गौरतलब है कि योजना आयोग भी 12वीं पंचवर्षीय योजना में औसत आर्थिक विकास दर 9.0 फीसदी से घटाकर 8.2 फीसदी रहने का अनुमान जारी कर चुका है।
   
Comments

स्पॉटलाइट

ऐसे करेंगे भाईजान आपका 'स्वैग से स्वागत' तो धड़कनें बढ़ना तय है, देखें वीडियो

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

सलमान खान के शो 'Bigg Boss' का असली चेहरा आया सामने, घर में रहते हैं पर दिखते नहीं

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

आखिर क्यों पश्चिम दिशा की तरफ अदा की जाती है नमाज

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

सलमान खान को इंप्रेस करने के चक्कर में रणवीर ने ये क्या कर डाला? देखें तस्वीरें

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में निकली वैकेंसी, मुफ्त में करें आवेदन

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!